यूएनओ मिंडा ग्रुप ने वृक्षारोपण अभियान का किया आयोजन

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 30 जुलाई 2019 गुरुग्राम। हरियाणा में हरित आवरण को बढ़ाने के उद्देश्य से, एक प्रमुख भारतीय ऑटोमोटिव पास की निर्माता कंपनी, यूएनओ मिंडा ग्रुप, ने सोमवार को पौधे रोपने का विशेष अभियान विभिन्न जगहों पर चलाया।



हरयाणा सरकार में लोक निर्माण और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कैबिनेट मिनिस्टर श्री राव नबीर सिंह ने यूएनओ मिंडा कॉर्पोरेट कार्यालय और स्विच डिवीजन के परिसर में वृक्षारोपण की शुरूआत की। निदेशक श्री आनंद मिंडा, समूह के सीएफओ सुनील बोहरा, श्री राजीव कपूर, मुख्य मानव संसाधन अधिकारी, सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अनूठी पहल के उद्घाटन के दौरान उपस्थित थे।


इस अवसर पर बोलते हुए कैबिनेट मंत्री श्री राव नबीर सिंह, हरियाणा सरकार ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग दुनिया के लिए सबसे बड़े खतरों में से एक हैउन्होंने आगे कहा सभी के सामूहिक प्रयासों से ही हम ग्लोबल वार्मिंग और जल संकट जैसे गंभीर संकट से उबर सकते है। हमें इन संकटो से निपटने के लिए खुद को तैयार करना होगा और यह हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए हमारी तरफ से सबसे बड़ी विरासत होगी।


यूएनओ मिंडा के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्री एन के मिंडा ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग को नियंत्रित करने और प्राकृतिक जल संचयन को बढ़ाने के लिए वृक्षारोपण (वृक्षों की संख्या को बढ़ाकर) को बढ़ावा देना बहुत महत्वपूर्ण कदम है। हम एक ऐसी दुनिया में रह रहे हैं जहां प्रदूषण और जल संकट मानव जाति और वन्य जीवों के अस्तित्व के लिए खतरा बन गया हैं। हमें हमारी आने वाली पीढ़ीयों के बारे में सोचना होगा इससे पहले कि प्रदुषण अपने चरम सिमा पर पहुंचे और चीजें हमारे हाथ से निकल जाएं। हमारी आने वाली पीढ़ियों के भविष्य को सुरक्षित करने के उद्देश्य से, हम एक जिम्मेदार कॉपरिट नागरिक के रूप में वृक्षारोपण अभियान का आयोजन कर रहे हैं, जिसमें मानेसर क्षेत्र में और इसके आसपास इस वर्ष 50,000 पेड़ लगाए जाएंगे और पर्यावरण के संरक्षण के उद्देश्य से हमारा वृक्षारोपण का ये पहल साल दर साल चलता रहेगा।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

रीढ़ (स्पाइन) संबंधी बीमारी महामारी की तरह फैल रही है : डा. सतनाम सिंह छाबड़ा