आमिर खान के कुश्ती गुरु ने जीता विश्व चैंपियनशिप का मेडल

शब्दवाणी समाचार मंगलवार 15 अक्टूबर 2019 तिबलसी (जॉर्जिया)। भारतीय पहलवान कृपाशंकर बिश्नोई ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यहां खेली जा रही वर्ल्ड वेटरन कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता लिया है। कृपाशंकर ने 70 किलो वर्ग बी डिवीजन फ्रीस्टाइल कुश्ती में यह पदक जीता । अर्जुन अवार्डी बिश्नोई कांस्य पदक के लिए हुए मुकाबले में इजरायल के सिनियावस्की को 14-3 से पराजित कर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया है । पूरी कुश्ती के दौरान कृपाशंकर विपक्षी इजराइली पहलवान  पर हावी रहे उन्होंने तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर पर मुकाबले को समाप्त किया। ये फ्रीस्टाइल वर्ग में भारत के लिए पहला पदक है । बता दें कि कृपाशंकर इंदौर के रहने वाले हैं । 



तिबलसी शहर में 13 अक्टूबर तक चलने वाली वर्ल्ड वेटरन कुश्ती चैंपियनशिप के चौथे दिन  स्टेडियम में तब खुशी का माहौल  हो गया जब कृपाशंकर पोडियम पर खड़े हुए और उन्हें मेडल बनाया गया तब वहां मौजूद अनेको भारतीयों ने भारत माता की जय इंडिया इंडिया के साथ उनका उत्साहवर्धन किया बता दे जॉर्जिया के तिबलसी शहर में हर वर्ष अनेकों भारतीय स्टूडेंट जाते हैं । उन्होंने विश्व चैंपियनशिप के दौरान सभी भारतीय पहलवानों का हौसला अफजाई किया । विश्व चैंपियनशिप के मुकाबलों में कृपाशंकर ने तुर्की हंगरी ईरान इजराइल के पहलवानों को हराकर कांस्य पदक तक का सफर तय किया है । कांस्य पदक के मुकाबले से पहले प्री क्वार्टर फाइनल मैं कृपाशंकर यूक्रेन के पहलवान से पराजित हो गए थे यूक्रेन के पहलवान को फाइनल पहुंचने के फल स्वरुप कृपाशंकर को रिपेजास राउंड में शामिल किया गया जहां उन्होंने ईरान के अली रजा मोहम्मद व कांस्य पदक के मुकाबले में इसराइल के पहलवान को हराकर कांस्य पदक जीता
चैंपियनशिप के 70 किलो वर्ग फ्री स्टाइल बी डिवीजन में इंदौर के अर्जुन अवार्डी पहलवान कृपाशंकर ने कांस्य पदक जीता। उन्होंने एकतरफा रहे मुकाबले में इजरायली पहलवान सिनियावस्की को 14 - 3 से शिकस्त दी । 
रणधीर सिंह ने जीता कांस्य
कृपाशंकर के अलावा भारत के एक और अर्जुन अवॉर्डी पहलवान रणधीर सिंह ने 100 किलोग्राम ग्रीको रोमन स्टाइल के सी डिवीजन में कांस्य पदक जीता। रणधीर सिंह ने नॉर्डिक सिस्टम के तहत कांस्य पदक जीता। बता दें कि यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग के नियमों के तहत नॉर्डिक सिस्टम में शामिल सभी खिलाड़ियों को एक दूसरे से मुकाबला करना होता है। ऐसी वेट कैटेगरी में एक स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक दिया जाता है। भारतीय पहलवान रणधीर सिंह नॉर्डिक सिस्टम के तहत खेलते हुए अपने पहले मुकाबले में कजाकिस्तान के इसासेजतोव को 4-0 के अंतर के बाद बाई फॉल के आधार पर हराया। लेकिन दूसरे मुकाबले में रणधीर ईरान के अली रजा से हार गए। तीसरे मुकाबले में उन्हें मेजबान जॉर्जिया के डेविड कुप्रासविली से हार का सामना करना पड़ा। इस प्रदर्शन के आधार पर उन्हें कांस्य पदक मिला। यह उनका वर्ल्ड वेटरन कुश्ती में 8वां पदक है। उन्होंने इससे पहले 2006 में लातविया में हुई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। 2018, 2017 और 2016 में हुई वर्ल्ड वेटरन में कांस्य पदक जीता था।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी