अरिजित सिंह, तुलसी कुमार और नेहा कक्कड़ सबसे लोकप्रिय राष्ट्रीय कलाकार

शब्दवाणी समाचार शनिवार 12 अक्टूबर 2019 नई दिल्ली। 2005 के बाद से ऑनलाइन स्ट्रीमिंग ने भारत में म्युजिक इंडस्ट्री को पूरी तरह से बदल दिया है। स्मार्टफोन की बढ़ती पैठ और डिजिटल के प्रति बढ़ती स्वीकारोक्ति से और अधिक विकास की उम्मीद की जा रही है। इसी कड़ी में दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी संगीत स्ट्रीमिंग सेवा जियोसावन ने जनवरी और सितंबर 2019 के बीच अपने प्लेटफॉर्म पर डेटा का विश्लेषण कर देश भर में नवीनतम डिजिटल स्ट्रीमिंग पैटर्न को मैप करने की कोशिश की है। 



पॉप, ईडीएम, और हिप हॉप को 2018 में भारत के युवाओं ने सबसे ज्यादा पसंद किया था और 2019 में भी यह जारी रहा। नई दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, कोलकाता और पुणे डेली स्ट्रीम्स में टॉप 5 शहर थे जबकि पटना, लखनऊ, नोएडा और फरीदाबाद जैसे शहर भी टॉप 10 में शामिल हुए। यह बताता है कि डिजिटल म्युजिक स्ट्रीमिंग टियर -2 बाजारों में अधिक से अधिक लोकप्रियता हासिल कर रहा है।
जियोसावन द्वारा पहचाने गए सबसे सकारात्मक रुझानों में देश में गैर-बॉलीवुड म्युजिक की बढ़ती लोकप्रियता शामिल थी, जहां क्षेत्रीय भाषा के म्युजिक ने टॉप-स्ट्रीम गीतों में 20% का योगदान दिया। सभी शैलियों में स्वतंत्र कलाकारों द्वारा बनाए गए गाने भी बड़ी मात्रा में सुने गए। इसकी वजह है- प्रशंसकों के विविध समुदाय भारतीय कलाकारों से जुड़ रहे हैं और उनके बनाए संगीत को पसंद कर रहे हैं। 
हिंदी के बाद पंजाबी यूजर्स के बीच सबसे लोकप्रिय भाषा थी, जिसमें म्युजिक स्ट्रीमिंग में 290% साल-दर-साल वृद्धि दर्ज की और जनवरी से सितंबर 2019 के बीच 2.09 बिलियन स्ट्रीमिंग दर्ज की गईं। तेलुगु और तमिल संगीत ने बराबरी से वृद्धि दर्ज की, जो क्रमशः 380% और 272% है।
जियोसावन ने कन्नड़ म्युजिक सुनने वालों में सबसे तेज वृद्धि देखी, जिसमें 593% की वृद्धि हुई। 2018 में समान समयसीमा की तुलना में, बांग्ला संगीत में सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की गई (826%)। अरिजित सिंह, अनुपम रॉय और श्रेया घोषाल जैसे कलाकार जियोसावन के स्ट्रीमिंग चार्ट पर शीर्ष स्ट्रीम किए गए कलाकारों में से थे।
मूड जैसे कारक भारतीयों की स्ट्रीमिंग वरीयता में बड़ी भूमिका निभाते हैं, जैसा कि मूड-आधारित प्लेलिस्ट और गीतों की बढ़ती लोकप्रियता पर प्रकाश डाला गया है। ये बेबी.. ने जिम प्रेमियों का दिल जीता और 32 मिलियन से अधिक स्ट्रीम्स में यह सबसे लोकप्रिय फिटनेस गीत था। अपना टाइम आयेगा रैप को लोकप्रिय बनाने में सफल रहा है और इसे 73 मिलियन से अधिक स्ट्रीम्स के साथ नए लोगों ने सुना।    
जियोसावन के डेटा ने एक और दिलचस्प ट्रेंड को सामने लायाः पॉडकास्ट की लोकप्रियता और अन्य ऑडियो कंटेंट। नील्सन इंडिया के 2018 के एक अध्ययन ने पहले यह बताया था कि म्युजिक 71% भारतीयों की पसंद का स्ट्रीमिंग ऑप्शन बना रहा, अन्य श्रेणियां जैसे खेल (67%), खाना पकाना (66%), फिल्में (64%), और यात्रा ( 63%) की भी बहुत मांग थी। जियोसावन पर कहानी एक्सप्रेस विद नीलेश मिश्रा, भाई के रापचिक रिव्यू (समीक्षा) और टॉकिंग म्यूजिक पंजाबी जैसे पॉडकास्ट को लोकप्रियता मिली। यह दर्शाता है कि डिजिटल ऑडियो में भी फिल्म समीक्षा, यात्रा कहानियां और टॉक शो प्रमुख हैं।
जियोसावन ने जनवरी से सितंबर 2019 के बीच भारत में सबसे अधिक स्ट्रीम किए गए कलाकारों और गीतों की भी मैपिंग की। अरिजित सिंह द्वारा गाए गए गाने की देशव्यापी लोकप्रियता ने उन्हें ऐप पर सबसे अधिक स्ट्रीम होने वाला कलाकार बना दिया। उनके गीत, 'वे माही' और 'फर्स्ट क्लास' ने इस सफलता में प्रमुखता से योगदान दिया। जियोसावन पर नेहा कक्कड़ और तुलसी कुमार अन्य लोकप्रिय भारतीय कलाकारों में से थे, जबकि एलन वॉकर, शॉन मेंडेस और एड शीरन टॉप तीन लोकप्रिय अंतरराष्ट्रीय कलाकारों में शामिल थे।
जब बात गानों की आती है, तो 'वे माही ', 'तेरा बन जाउंगा', और 'दुनिया' सभी भाषाओं में प्लेटफार्म पर सबसे अधिक बार सुने गए गानों में से थे। 'सेनोरिटा', 'ऑन माई वे' और 'फेडेड' सबसे ज्यादा स्ट्रीम किए गए अंग्रेजी गाने रहे, वहीं अंतरराष्ट्रीय म्युजिक में पॉप सबसे लोकप्रिय ज़ोनर रहा। 
प्लेटफार्म पर हाई एंगेजमेंट को ध्यान में रखते हुए जियोसावन यूजर्स अक्सर पूरी प्लेलिस्ट को स्ट्रीम करते हैं। 'वीकली टॉप 15 (हिंदी)' देश भर में सबसे लोकप्रिय स्ट्रीम में से एक थी, जबकि 'ऑल अरिजीत 'और 'ताज़ा ट्यून्स' भी टॉप पर थे। अंग्रेजी भाषा की प्लेलिस्ट भी लोकप्रिय थीं, जिनमें उपयोगकर्ता 'वीकली टॉप 15 (अंग्रेजी)',  'वायरल हिट्स', और नियमित आधार पर, 'द ड्रॉप 'की स्ट्रीमिंग करते थे।
जियोसावन द्वारा जारी किए गए डेटा में ऑडियो स्ट्रीमिंग इंडस्ट्री की मजबूत वृद्धि और बड़े मनोरंजन परिदृश्य में ऑनलाइन स्ट्रीमिंग की बढ़ती लोकप्रियता पर प्रकाश डाला गया है। डेटा देश के बढ़ते डिजिटल-फर्स्ट दर्शकों के बीच व्यक्तिगत स्ट्रीमिंग की प्राथमिकता का संकेत देता है, स्ट्रीमिंग सर्विस प्रोवाइडर्स को अपने यूजर्स के लिए यूनिक अनुभव प्रदान करने और वितरित करने की आवश्यकता को रेखांकित करता है।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी