कैटेलिस्ट ग्रुप ने अपने ओम्नी-चैनल नेटवर्क को विस्तार किया

शब्दवाणी समाचार शनिवार 12 अक्टूबर 2019 जयपुर। भारत के प्रमुख ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म कैटेलिस्ट ग्रुप ने पिंक सिटी में रिद्धि सिद्धि पेट्रोल पंप के पास अपने कोचिंग सेंटर की शुरुआत कर अपनी ऑफ़लाइन उपस्थिति को मजबूत किया है। इस सेंटर पर पांच बैच हैं, जिनमें से प्रत्येक में 100 छात्रों के बैठने की क्षमता है। सेंटर के प्रमुख फेकल्टी में शामिल हैं; ए.एस. पंडित (सिविल इंजीनियरिंग के एचओडी), 9 साल के शिक्षण अनुभव के साथ एक पूर्व-आईईएस अधिकारी; अमोल पंडित (मैकेनिकल इंजीनियरिंग के एचओडी), 6 साल के शिक्षण अनुभव के साथ नागरिक उड्डयन मंत्रालय में एक वरिष्ठ इंजीनियर; श्री अंजन रोहित (इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग के एचओडी), एक पूर्व आईआरएस अधिकारी और डॉ. राजेश सिन्हा (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के एचओडी), एक पूर्व-आईईएस अधिकारी।



नए लॉन्च किए गए कोचिंग सेंटर को टेक-इनेबल्ड सुविधाओं से सुसज्जित किया गया है। पहली बार इंटरेक्टिव पैनल के साथ हाई-डेफिनेशन स्मार्ट क्लासरूम बनाए गए हैं, जो छात्रों को सब कुछ 3डी में देखने में सक्षम बनाते हैं। इस सेंटर पर बैठने की समुचित व्यवस्था, अच्छी तरह से बनाए हुए शौचालय, बड़ी कक्षा, विशेष डाउट क्लीयरिंग सेल, इमरजेंसी एक्जिट, फायर फाइटिंग सिस्टम, कंप्यूटर सेल और अध्ययन के दबाव, डिप्रेशन और अन्य मुद्दों पर छात्रों का मार्गदर्शन करने के लिए एक विशेष साइकोलॉजिकल काउंसलिंग सेल भी है क्योंकि आजकल भारत में कई छात्र तनाव और मानसिक विकारों का शिकार हो रहे हैं। लाइसेंस-प्राप्त क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट दिव्यानी शर्मा इस विभाग की इंचार्ज हैं।
सेंटर के  प्रमुख आकर्षण में से एक है आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए कोचिंग शुल्क में 50% सब्सिडी। इसका लाभ उठाने के लिए छात्रों को सरकार द्वारा प्रदान किए गए ईडब्ल्यूएस दस्तावेज़ को प्रस्तुत करना आवश्यक है। इस कोचिंग सेंटर के लॉन्च पर बात करते हुए कैटेलिस्ट ग्रुप के सीईओ और संस्थापक श्री अखंड स्वरूप पंडित ने कहा कि “इस ऑफ़लाइन सेंटर का मतलब यह नहीं है कि हम पूरी तरह से ऑफ़लाइन हो रहे हैं। हमारे ऑफ़लाइन सेंटर मुख्य रूप से उन छात्रों को लक्षित कर रहे हैं जो लैपटॉप, स्मार्टफोन या टैबलेट जैसे डिजिटल उपकरणों का खर्च नहीं उठा सकते। उन्हें फीस में प्रत्यक्ष रूप से 50% की सब्सिडी देते हुए हाई-क्वालिटी की शिक्षा और देश के वंचित श्रेणी के छात्रों को सर्वोत्तम शिक्षकों तक पहुंच प्रदान करना ही हमारी मंशा है। हम आर्थिक रूप से पिछड़े प्रत्येक छात्र को अपना सपना जीने और शिक्षा के माध्यम से जीवन में कुछ बड़ा हासिल करने की सुविधा प्रदान करने का प्रयास कर रहे हैं। यद्यपि यह सब करते हुए हम सफलतापूर्वक किफायती ऑनलाइन कक्षाएं चला रहे हैं, हमारा ध्यान अब सब्सिडाइज्ड दरों पर भी ऑफलाइन सेंटर चलाने पर होगा।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी