स्वर्णिम आवाज के धनी कुश्ती कमेंटेटर पंकज सक्सेना जी नहीं रहे

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 29 नवंबर 2019 नई दिल्ली। देश के सर्वश्रेष्ठ कुश्ती कॉमेंटेटर पंकज सक्सेना के निधन का समाचार सुनकर कुश्ती जगत में शोक की लहर दौड़ गई। खास तौर पर कुश्ती से जुड़े प्रशिक्षकों व पहलवानों में उदासी छा गई। वहीं, पहले कुश्ती कॉमेंटेटर की मौत से खेल प्रेमियों को भी झटका लगा है। स्वर्णिम आवाज के धनी भारतीय कुश्ती कमेंटेटर व पावन कारपोरेशन से सेवानिवृत्त इंजीनियर पंकज सक्सेना का गुरुवार को मुरादाबाद में लंबी बीमार के बाद निधन हो गया ।
 कुश्ती खेल का आंखों देखा हाल सुनाने वाले देश के बेहद लोकप्रिय कमेंटेटर पंकज सक्सेना की आवाज अब सदा के लिए मौन हो गई है । वह 75 वर्ष के थे । उनके परिवार में एक बेटा और एक बेटी है। कुश्ती खेल प्रसारण के मामले में पंकज सक्सेना खेलप्रेमियों के लिए जाने माने नाम थे । कुश्ती दंगल का मैदान हो या भारतीय पद्धति की कुश्ती हो या फिर ओलंपिक स्टाइल रेसलिंग के मुकाबले हो हर तरह की प्रतिस्पर्धा में वे बेहतरीन कमेंट्री पेश करते थे । अंतरराष्ट्रीय स्तर के रेफरी होने के साथ-साथ पंकज सक्सेना देश के विख्यात कमेंटेटर भी थे जिनकी आवाज सुनने कई कुश्ती प्रेमी खेल मैदानों में आते थे। दूरदर्शन और आकाशवाणी के लिए 1987 से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में कमेंटरी कर रहे थे, 2010 दिल्ली में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भी उन्होंने कुश्ती के सभी मुकाबलों की कमेंटरी की थी। डबल ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार और अर्जुन अवार्डी कृपाशंकर बिश्नोई ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

रीढ़ (स्पाइन) संबंधी बीमारी महामारी की तरह फैल रही है : डा. सतनाम सिंह छाबड़ा