चंद्रयान-3 की तैयारियों में जुटा इसरो, सरकार से मांगे 75 करोड़

शब्दवाणी समाचारवार 08 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अब चंद्रयान-3 की तैयारियों में जुट गया है। इसके लिए संगठन ने केंद्र से 75 करोड़ रुपये की मांग की है। यह राशि इसरो के वर्तमान बजट से अलग है जिससे इसरो अपने तीसरे महत्वकांक्षी मून मिशन को अंजाम देगा। टॉइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, चंद्रयान-3 को इसरो नवंबर 2020 में लॉन्च करने की योजना बना रहा है। इस अभियान की मदद से इसरो चंद्रयान-2 के दौरान पूर्वनिर्धारित अपनी खोज प्रक्रिया को जारी रखने की कोशिश करेगा।
चंद्रयान-3 के लिए इसरो ने वर्तमान वित्तीय वर्ष के लिए अनुपूरक बजट के प्रावधानों के तहत इस धनराशि की मांग की है। इसमें से 60 करोड़ रुपये मशीनरी, उपकरण और अन्य पूंजीगत काम में खर्च होंगे। जबकि, शेष 15 करोड़ रुपये राजस्व व्यय के तहत मांगे गए हैं। वर्तमान वित्तीय वर्ष के लिए अनुपूरक बजट के प्रावधानों के तहत धन की मांग की गई है। इसमें से 60 करोड़ रुपये “मशीनरी, उपकरण और अन्य पूंजीगत व्यय के लिए व्यय व्यय” के लिए होंगे, जबकि शेष 15 करोड़ रुपये राजस्व व्यय के तहत मांगे गए हैं। चंद्रयान-3 के लिए इसरो ने कितनी राशि की मांग की है वह उसके कुल बजट का लगभग 11 फीसदी हिस्सा है। बता दें कि साल 2019-2020 के लिए इसरो का कुल बजट 666 करोड़ रुपये है।




Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

मीडिया प्रेस क्लब का वार्षिक कलैंडर हुआ विमोचन