नई दिल्ली में भारत के पहले एल्डर केयर का उद्घाटन किया गया

शब्दवाणी समाचार शुक्रवार 06 मार्च 2020 नई दिल्ली। इस देश में जहां बुजुर्ग आबादी की देखभाल आज भी एक चुनौती बनी हुई, वहीं फोर्टिस अस्पताल, ओखला पहला ऐसा अस्पताल है जिसने बुजुर्गों की खास देखभाल के लिए एक एल्डर केयर का उद्घाटन किया है। यह पहल ‘वेलनेस, हेल्थ एंड यू’ के अंतर्गत तैयार की गई है।



बुजुर्गों को सक्रिय जीवन के लिए प्रोत्साहित करने और बुजुर्गों के गौरव के लिए सामाजिक समावेश को बढ़ावा देने के लिए नई दिल्ली में ओखला स्थित फोर्टिस अस्पताल ने एक विशेष ‘एल्डर्स बसंत मेला’ का आयोजन किया। यह खास पहल 350 से भी ज्यादा बुजुर्गों के दिल को छू गई। इस कार्यक्रम का खास उद्देश्य वरिष्ठ नागरिकता और उनके बीच के खास संबंध का जश्न मनाना था, जहां कई बुजुर्ग दंपत्तियों को शादी की 60वीं सालगिरेह और 85 की उम्र पार करने वाले बुजुर्गों को जश्न मनाने का अवसर प्राप्त हुआ। इस जश्न में फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट के चेयरमैन, डॉक्टर अशोक सेठ (पद्म श्री व पद्म भूषण) के पिता भी शामिल थे, जो 96 साल के हैं और आज भी बेहद एक्टिव हैं।
आईएमए डेल्ही स्टेट (दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन) के प्रेसिडेंट इलेक्ट, ‘वेलनेस, हेल्थ एंड यू’ के चेयरमैन और एल्डर केयर फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल के वरिष्ठ सलाहकार, डॉक्टर जीएस ग्रेवाल ने बताया कि, “हमें यह बताते हुए बेहद खुशी और गर्व महसूस हो रहा है कि, इस कार्यक्रम के जरिए हम बुजुर्गों के जीवन को प्रभावित कर रहे मुद्दों को संबोधित करना चाहते हैं और उन्हें संस्थान द्वारा दी जा रहीं सुविधाओं को बेहतर तरीके से इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहते हैं। यहां हम केवल सुविधा प्रदाता नहीं बल्कि उनका पार्टनर बनने का उद्देश्य रखते हैं। जहां, अन्य आबादी की तुलना में बुजुर्गों की बीमारियों के मामले बहुत ज्यादा और गंभीर होते हैं और उनसे संबंधित इलाज भी मंहगे होते हैं, वहीं बुजुर्ग अपना और अपने स्वास्थ्य का ख्याल खुद रख सकते हैं, इस बात को अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है।”
कार्यक्रम में ‘लर्निंग इज फन’ थीम के अंतर्गत होने वाली दिलचस्प गतिविधियों, जैसे कि गाना, नाचना, स्किट करना आदि में बुजुर्गों ने खुलकर भाग लिया। मेडिकल क्विज और बुजुर्गों में होने वाली आम समस्याओं के बारे में प्रतिभागियों के ज्ञान को टेस्ट करना, मेले के अन्य आकर्षण में शामिल रहा। इसमें सही जवाह देने वालों को इनाम भी दिया गया।
डॉक्टर जीएस ग्रेवाल ने आगे बताया कि, “चिकित्सा विशेषज्ञ अब बुजुर्गों को एक अलग सामाजिक वर्ग के रूप में देखने लगा है। सरकार चाहे कुछ भी कर ले लेकिन उसके लिए हर बुजुर्ग तक पहुंचना संभव नहीं है, इसलिए समाज को स्वास्थ्य प्रदाताओं का समर्थन करने के साथ बुजुर्गों को एक सक्रिय जीवन जीने के लिए प्रोत्साहित की आवश्यकता है।”
‘एल्डर केयर प्रोग्राम’ अपने प्रकार की पहली पहल है, जहां किसी अस्पताल ने बुजुर्गों के लिए विशेष ओपीडी का उद्घाटन किया है। सौभाग्य से, इस प्रोग्राम ने बहुत ही कम वक्त में बुजुर्गों का विश्वास जीत लिया है।
नई दिल्ली में ओखला स्थित फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट, बुजुर्गों के लिए भारत की पहल ‘वेलनेस, हेल्थ एंड यू’ से सक्रिय रूप से जुड़ा हुआ है। इस कार्यक्रम में पहले ही कई पहल की जा चुकी हैं। दिसंबर 2019 में लॉन्च किया गया नेबरहुड कनेक्ट कार्ड, होल्डर्स को कार्डिएक संडे पीएचसी और शाम की ओपीडी आदि जैसी कई सुविधाएं देता है। इसके अलावा अस्पताल की फैकल्टी एल्डर कनेक्ट लेक्चर भी देते हैं, जहां वे बुजुर्गों की आम स्वास्थ्य समस्याओं और जीवनशैली संबंधी समस्याओं को संबोधित करते हैं।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता