कोविड-19 के दौरान डॉक्टर ट्रेल पर बन रहे हैं केओएल 

शब्दवाणी समाचार बुधवार 22 अप्रैल 2020 नई दिल्ली। दुनिया भर के सभी प्रमुख देशों ने कोविड-19 के कर्व को फ्लैट करने के लिए सख्त लॉकडाउन लगा रखा है, लेकिन फेक न्यूज का प्रसार भी खतरनाक दर से बढ़ रहा है। वायरस के बारे में मौजूदा भ्रम के बीच, माहौल में इस समय गलत सूचनाएं भी अतिरंजित हैं ,जो लोगों में डर और अनिश्चितता बढ़ा रही हैं। वेबसाइट्स पर तैरने वाली फर्जी खबरों की स्थिति यह है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक  टैड्रोस ऐडरेनॉम ग़ैबरेयेसस ने इस स्थिति को ‘इन्फोडेमिक’ करार दिया है।



सौभाग्य से, दुनियाभर में कंटेंट प्लेटफार्म विज्ञान आधारित तथ्यों के साथ इस इफोडेमिक को हराने के लिए प्रयासरत हैं। ऐसा ही एक प्लेटफ़ॉर्म है ट्रेल - यह एक प्रमुख कम्युनिटी-बेस्ड प्लेटफ़ॉर्म है जो क्षेत्रीय भारतीय भाषाओं में यूजर-जनरेटेड ओरिजिनल कंटेंट के जरिये लाइफस्टाइल की खोज को सक्षम बनाता है। हालांकि, इस प्लेटफार्म में शुरुआती निवेश स्थानीय उपभोक्ताओं की मनोरंजन जरूरतों को पूरा करने के लिए किया गया था, लेकिन जब से देश महामारी की चपेट में है, तब से यह लोगों को सूचित करने और शिक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध रहा है।
प्लेटफ़ॉर्म यह कैसे कर रहा है? ट्रेल के इनोवेटिव, मल्टी-लिंग्वल अप्रौच पर एक नज़र:
व्लॉग्स के जरिये फेक्ट्स और फिक्शन को अलग करना
चूंकि, फेक न्यूज के अपराधी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर मौजूद हैं, इसलिए ट्रेल ने महामारी के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए अग्रणी भारतीय डॉक्टरों को चुना है। ये डॉक्टर स्थानीय भाषा बोलने वाले दर्शकों तक पहुंचने के लिए क्षेत्रीय भाषाओं के एक समूह में व्लॉग्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। वास्तव में ट्रेल ने डॉक्टरों के साथ 25 मिलियन भारतीय यूजर्स के साथ सत्यापित और तथ्यों की जांच के बाद जानकारी साझा करने का संकल्प लिया है ताकि उन्हें सुरक्षित और सूचित रहने में मदद मिल सके।
डॉक्टरों के विशेषज्ञ ज्ञान और ट्रस्ट फेक्टर को ध्यान में रखते हुए उनकी विशेषज्ञता का लाभ उठाने का विचार जनता के बीच घबराहट और डर को कम करने में एक गेमचेंजर है। न केवल ये व्लॉग्स अधिक विश्वसनीय हैं, बल्कि वे भाषायी ऑडियंस के लिए आकर्षक और आसानी से समझने वाले भी हैं।
डॉक्टर किन विषयों को कवर कर रहे हैं? 
की ओपिनियन लीडर (केओएल) या वैचारिक नेताओं के रूप में डॉक्टर जनता तक पहुंचने के लिए प्लेटफार्म के वैल्यू प्रपोजिशन प्रस्ताव का लाभ उठा रहे हैं। वे कोविड-19 संकट से संबंधित सभी विषयों को कवर करते हैं। इनमें कोविड-19 की उत्पत्ति और लक्षण, प्रसार को रोकना, आवश्यक एहतियात और सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व शामिल हैं। इस वजह से डॉक्टर व्हाट्सएप, फेसबुक, आदि के दौर में फैल रहे फेक नॉलेज को मात दे रहे हैं।
इस पहल के माध्यम से ट्रेल प्रमाणित स्वास्थ्य विशेषज्ञों से सत्यापित जानकारी की निरंतर आपूर्ति कर रहा है और प्लेटफार्म पर लगातार अधिक से अधिक डॉक्टरों को जोड़ रहा है जो वास्तविक ज्ञान साझा कर सकते हैं और इस चुनौतीपूर्ण समय में देश की मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, डॉक्टरों के पास वैरिफाइड बैज भी है, ताकि वे खुद को अन्य क्रिएटर्स से अलग साबित कर सके।
इस अभूतपूर्व और अजीब स्थिति में हम जो भी पढ़ते हैं या देखते हैं, उस पर विश्वास करना बहुत आसान है। इसलिए, हम आधारहीन सूचनाओं के शिकार हो रहे हैं जो हमें अतिरिक्त तनाव देने का कारण बन सकते हैं। इस स्थिति में डॉक्टरों के विश्वसनीय तथ्य जो परिस्थिति के प्रत्यक्ष गवाह हैं, प्राप्त करना समय की आवश्यकता है। सौभाग्य से हमारे अग्रणी पंक्ति योद्धा - हमारे देश के डॉक्टर - महामारी और गलत सूचना को हराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी