नई दिल्ली नगर पालिका परिषद ने पेश किया 2021-2022 का बजट

• नई दिल्ली नगरपालिका परिषद का बजट निर्बाध, तकनीक-सक्षम, स्मार्ट, विश्वसनीय, मजबूत, स्वस्थ, स्वच्छ, दूरदर्शी और नागरिकों की देखभाल करने वाली नागरिक सेवाओं पर केंद्रित

• बजट पालिका परिषद को एक लचीली, समावेशी, उत्तरदायी, सतत और भविष्य-उन्मुखी नगर निकाय के रूप में राष्ट्रीय गौरव और वैश्विक मानकों के अनुरूप बनाने की प्रतिबद्धता की पुष्टि

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 14 जनवरी  2021, नई दिल्ली। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् ने सभी ओर से चुनौतियों का सामना करते हुए और आर्थिक मंदी के परिदृश्य में चालू वित्त वर्ष का विशुद्ध सकारात्मक और दूरदर्शिता वाला तथा 136.18 करोड़ रुपयों के मध्यम मुनाफे वाला बजट पेश करते हुए वित्त वर्ष 2021-22 में बेहतर प्रशासन और आर्थिक रूप से सतत प्रगतिशील प्रतिबद्धता को दर्शाता और 172.47 करोड़ रुपये के सरप्लस का अनुमानित बजट भी पेश करती है। इस वर्ष अनेक राहतो को दिए जाने के बावजूद भी अगले वित्त वर्ष में किसी भी नये कर का प्रस्ताव नही किया है। साथ ही साथ नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् अपनी इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर जैसे महत्वपूर्ण परियोजना को पूरा किये जाने की घोषणा के साथ अगले वित्त वर्ष में निर्बाध उर्जा आपूर्ति, अन्य नागरिक सेवाओं और आंतरिक प्रशासन की सुदृढ़ता से जुडी परियोजनाओं की श्रृंखला भी पेश कर रही है।

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद का इस वर्ष का बजट निर्बाध, तकनीक-सक्षम, स्मार्ट, विश्वसनीय, मजबूत, स्वस्थ, स्वच्छ, दूरदर्शी और नागरिकों की देखभाल करने वाली नागरिक सेवाओं पर केंद्रित है । यह बजट पालिका परिषद को एक लचीली, समावेशी, उत्तरदायी, सतत और भविष्य-उन्मुखी नगर निकाय के रूप में राष्ट्रीय गौरव और वैश्विक मानकों के अनुरूप बनाने की प्रतिबद्धता की पुष्टि करने वाला भी है। यह घोषणा नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष श्री धर्मेंद्र ने पालिका परिषद के बजट - 2021-22 की प्रस्तुति के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए की।

उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2020-21 वैश्विक स्तर पर कोविड-19 की महामारी के अभूतपूर्व संकट से राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन के साथ चालू हुआ था और फिर आगामी महीनों में चरणबद्ध तरीके से अनलॉकिंग प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ा । लेकिन आज मैं यह विश्वास के साथ कह सकता हूँ कि इस बीच नई दिल्ली नगरपालिका परिषद राष्ट्रीय स्तर पर नगर निकायों के बीच अपनी अग्रणीय स्थिति के साथ प्रमुख सेवाओं को निर्बाध तरीके से सुनिश्चित करने में सफल रही है ।

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने कोविड महामारी के दौरान नागरिक सेवाओं विशेषतः स्वास्थ्य, स्वच्छता और शिक्षा इत्यादि की सेवाओं को निर्बाध रूप से नागरिकों को प्रदान करने के लिए अनेकों उपाय किये है। पालिका परिषद् ने कोविड महामारी के समय अपनी प्रतिक्रियाओ से चुनौतियों का सामना करना, इस प्रकार सिखा है कि उन महत्वपूर्ण बिन्दुओ को नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के आपात आघातों के प्रति सहन-सक्षम बनाने के लिए भविष्य में विकास की रणनीति के रूप में धारण किया जा सकता है।

पालिका परिषद अध्यक्ष ने वित्तीय रुझान पेश करते हुए बताया कि बजट अनुमान 2021-2022 की कुल प्राप्तियां  ₹ 4299 करोड़ है जबकि संशोधित अनुमान वर्ष 2021-2022 में रूपए 3645.25 करोड़ रखा गया है।  वर्ष 2019-20 में कुल वास्तविक प्राप्तियाँ ₹ 3648.39 करोड़ थी।  बजट अनुमान वर्ष 2021-2022 में राजस्व प्राप्तियां ₹ 3590.81 करोड़ है, जबकि वर्ष 2020-21 में संशोधित अनुमान रूपए 3143.25 करोड़ है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक प्राप्तियाँ ₹ 3308.63 करोड़ है।  वर्ष 2021-2022 के बजट अनुमान में पूंजीगत प्राप्तियाँ ₹ 708.19 करोड़ है, जबकि वर्ष 2020-21 के संशोधित अनुमान में ₹ 502 करोड़ का प्रावधान किया गया है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक प्राप्तियाँ ₹ 339.75 करोड़ है। 

वर्ष 2021-22 के बजट अनुमान के लिए कुल व्यय ₹ 4126.53 करोड़ है। जबकि संशोधित अनुमान वर्ष 2020-21 में ₹ 3509.07 करोड़ का प्रावधान है तथा वर्ष 2019-20 में ₹ 3687.97 करोड़ का वास्तविक व्यय है। बजट अनुमान 2021-22 में राजस्व व्यय ₹ 3473.29 करोड़ है, जबकि संशोधित अनुमान वर्ष 2020-21 में ₹ 3087.82 करोड़ का प्रावधान किया गया है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक ₹ 3246.75 करोड़ था।  संशोधित अनुमान वर्ष 2020-21 में ₹) 421.25 करोड़ के विपरीत बजट अनुमान 2021-22 में ₹ 653.25 करोड़ का पूंजीगत व्यय का अनुमान है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक ₹ 441.22 करोड़ था। 

अध्यक्ष-पालिका परिषद् ने प्रेस सम्मलेन के दौरान बजट में प्रस्तावित परियोजनाओं की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि स्मार्ट नई दिल्ली पालिका परिषद् इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर : इस परियोजना के अगले चरण में संपत्ति कर, संपदा प्रबंधन, कार्यशाला-प्रबंधन तथा संपत्ति-प्रबंधन पर चार महत्वपूर्ण ईआरपी माड्यूल समिल्लित है। पहले दो नागरिको को व्यापार करने में महत्वपूर्ण ढंग से सहजता लायेंगे, वहीँ अन्य दो पालिका परिषद् में दक्षता तथा जवाबदेही को उन्नत बनायेंगे। 

स्मार्ट सड़के: केजी मार्ग और बाराखंभा रोड पर विकास कार्य के लिए संकल्पना योजना विकसित की जाएगी तथा वित्त वर्ष 2021-22 में इस पर कार्य किया जाएगा। मंडी हाउस सर्कल पर विकास कार्य हेतु संकल्पना योजना तैयार की गयी है और यह भी वर्ष 2021-22 में शुरू किया जायेगा ।

पालिका परिषद् के मानक क्योस्क : सैंपल स्टैण्डर्ड क्योस्क के लिए  डिज़ाइन को तैयार किया गया है तथा इस कार्य को वित्त वर्ष 2020-21 में निष्पादित किया जायेगा। सभी क्योसकों के संशोधन का प्रस्ताव भी तैयार किया जायेगा और इसे वित्त वर्ष 2021-22 में शुरू किया जायेगा ।

महिलाओं के लिए विशेष स्मार्ट शौचालय: महिलाओ के लिए एक विशेष पहल के रूप में तीन पिंक शौचालयों का निर्माण किया गया था, जो संसद मार्ग पर जीवन भारती बिल्डिंग, आउटर सीपी फैक्ट्री रोड तथा सुपर बाजार में चल रहे है, ऐसे चार और शौचालयो को एसएन मार्केट, डी एवेन्यू और सफदरजंग अस्पताल में गेट नंबर 1 तथा 4 पर शुरू किया जायेगा । पीपीपी मॉडल के तहत इन शोचालयो के हेतु सामान्य आरएफपी में पांच और पिंक शौचालयों के प्रावधान है। इनमें एक खान मार्केट में ,दो चेम्सफोर्ड रोड पर , एक श्री राम कला केंद्र कोपरनिकस मार्ग और एक शिवाजी स्टेडियम पर शामिल है यह कार्य वर्ष 2021-22 में पूर्ण किया जाएगा ।

तीसरे जेंडर के लिए शौचालय का निर्माण : पालिका परिषद् ने पीटीआई-क्लब के निकट शास्त्री भवन की तरफ विशेष रूप से उभयलिंगियो के लिए एक शौचालय का निर्माण किया है। परिषद् क्षेत्र में इस स्थल की पहचान तथा सम्भाव्यता का आंकलन करने के उपरांत उनके लिए ऐसे और शौचालयो का निर्माण प्रस्तावित है।

मॉड्यूलर बरसाती जल संचयन : 60 मॉड्यूलर वर्षा जल संचयन के लिए गड्ढों का काम शुरू किया गया है तथा वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान कार्य पूरा होने की संभावना है। 

हैप्पीनेस एरिया का विकास: वर्तमान में एम्स हरित क्षेत्र तथा नेहरु पार्क का कार्य प्रगति पर है। जनपथ जंक्शन पर यॉर्क प्लेस सर्कल तथा मोती लाल नेहरू मार्ग का विकास कार्य भी प्रक्रियाधीन है तथा वर्ष 2021-22 में पूरा हो जाएगा। रोज गार्डन, रेल भवन, ताज मानसिंह होटल के निकट गोल चोराहा तथा अन्य स्थानों पर और हैप्पीनेस एरिया का विकास प्रस्तावित है।

स्मार्ट फव्वारे : एम्स में फव्वारे के निर्माण के संबंध में सिविल कार्य पूरा हो गया है तथा मार्च 2021 के अंत तक इसका संचालन किया जाएगा। लोदी गार्डन लेक के चार फव्वारे और नेहरू पार्क, विनय मार्ग पर भी फव्वारा संस्थापित किया गया है।

पब्लिक आर्ट: पालिका परिषद् क्षेत्र के गोल चौराहो का उपयोग थीम आधारित सार्वजनिक कला और मूर्तियों के प्रदर्शन के लिए “आर्ट विद हार्ट” के माध्यम से किया जायेगा। इस तरह के गोल चौराहों और अन्य प्रमुख स्थानों पर चरणबद्ध तरीके से कला सार्वजानिक रूप से प्रदर्शन के लिए स्थापित की जाएगी।

शहर को साइकिल फ्रेंडली सिटी बनाना: पालिका परिषद् ने साइकिल फ्रेंडली सिटी के रूप में परिषद् के लिए अवधारणा विकसित करने के लिए स्कूल ऑफ़ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर-नई दिल्ली की सेवाएँ प्राप्त की है।  तथा “साइकिल इन सिटी” के रूप में पहल जारी रखने का प्रस्ताव किया है और सुरक्षित साइकिल चलाने के लिए और अधिक मार्गो की पहचान की है। इसके लिए स्मार्ट सिटी परियोजना से निधि को प्राप्त किया जाएगा।

पब्लिक ई-चार्जिंग स्टेशन : ईवी चार्जिंग स्टेशन हेतु 100 स्थलों में से प्रथम चरण के अंतर्गत 55 पहले ही स्थापित एवं चालू कर दिए है तथा दूसरे चरण में 45 में से 17 स्थापित एवं चालू कर दिए है,  9 स्थलों में स्थापना कार्य पूर्ण हो गया है तथा शीघ्र ही चालू हो जायेगा। शेष 19 स्थलों हेतु (6 प्लाजा स्थलों सहित) कार्य प्रगति पर है। 

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए