क्रूड और मेटल की कीमतों को नुकसान : श्री प्रथमेश माल्या, एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 21 जनवरी  2021, नई दिल्ली। अमेरिका के ट्रेजरी की यील्ड बढ़ने से सोना पिछले सप्ताह गिरावट के साथ बंद हुआ और डॉलर-डिनोमिनेटेड सोना कम लोकप्रिय हो गया। हालांकि, बढ़ते कोविड-19 मामलों ने नुकसान को सीमित रखा। महामारी में उत्पादन को स्थिर रखने के लिए सऊदी अरब की ओर से उत्पादन में कटौती के कारण क्रूड में बढ़ोतरी दर्ज हुई। चीन में संक्रमित मामलों की बढ़ती संख्या और मजबूत अमेरिकी डॉलर के बीच बेस मेटल्स में मिश्रित ट्रेंड का अनुमान लगाया।

सोना

यू.एस. ट्रेजरी की यील्ड के बढ़ने से स्पॉट गोल्ड 1% कम हो गया। अमेरिकी ट्रेजरी की यील्ड में वृद्धि ने ग्रीनबैक को बढ़ाया और अन्य मुद्रा धारकों के लिए डॉलर-डिनोमिनेटेड सोने को कम आकर्षक बना दिया। अमेरिकी श्रम बाजार में गिरावट जारी रही, जिसने पीली धातु के नुकसान को सीमित कर दिया। बेरोजगारी लाभ हासिल करने के दावा करने वाले अमेरिकियों की संख्या खतरनाक दर से बढ़ी और इसने बाजार की भावनाओं को प्रभावित किया। इसके अलावा, वैश्विक आर्थिक परिदृश्य के बिगड़ने और नए वायरस स्ट्रेन से जुड़ी चिंताओं ने सेफ हेवन असेट गोल्ड के नुकसान को कम किया। फ्रांस, जर्मनी और चीन में सख्त लॉकडाउन ने बाजार के आउटलुक को कमजोर किया और पीली धातु की अपील को बढ़ाया। अमेरिकी डॉलर में लगातार वृद्धि से सोने की कीमतों में गिरावट जारी रह सकती है।

कच्चा तेल

यू.एस. क्रूड इन्वेंट्री में गिरावट के बीच डब्ल्यूटीआई क्रूड 0.2% की बढ़त के साथ बंद हुआ। आने वाले महीनों में सऊदी अरब से अतिरिक्त उत्पादन कटौती ने तेल की कीमतों को समर्थन दिया। ऊर्जा सूचना प्रशासन द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, यूएस क्रूड भंडार में 3.2 मिलियन बैरल की गिरावट आई। सऊदी अरब ने फरवरी-21 और मार्च 21 में महामारी के बीच उत्पादन को स्थिर रखने के लिए प्रति दिन दस लाख बैरल की अतिरिक्त उत्पादन कटौती की घोषणा की, जिसने तेल की कीमतों को और समर्थन दिया। इसके विपरीत, कोविड-19 मामलों की बढ़ती संख्या ने यू.के., चीन और जर्मनी सहित दुनिया की कुछ प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में नए सिरे से प्रतिबंध लगाए। इसने क्रूड के लिए आउटलुक को कमजोर किया और तेल की कीमतों के लाभ को कम कर दिया। कच्चे तेल की खपत वाले देशों में कोरोनोवायरस महामारी का व्यापक असर तेल की कीमतों पर पड़ सकता है।

बेस मेटल्स

एलएमई बेस मेटल्स ने मिश्रित परिणाम दिए, जहां निकेल को सबसे अधिक लाभ हुआ। हालांकि, कोविड-19 मामलों में वृद्धि और अमेरिकी डॉलर के मजबूत होने से औद्योगिक धातुओं को लाभ हुआ। कोविड-19 मामले दुनिया के सबसे बड़े धातु उपभोक्ता चीन में भी बढ़े और इसने औद्योगिक धातु की कीमतों को प्रभावित किया। चीन में वायरस के फिर बढ़ने से बेस मेटल्स के लिए डिमांड आउटलुक को नुकसान पहुंचा हालांकि, महामारी के प्रभाव को रोकने के लिए वैश्विक केंद्रीय बैंकों द्वारा जारी अतिरिक्त प्रोत्साहन सहायता से जुड़ी आशाओं ने औद्योगिक धातुओं की मूल्य को कुछ समर्थन दिया। बढ़ती पर्यावरणीय चिंताओं के कारण फिलीपींस में खनन में आए व्यवधान ने बेस मेटल की कीमतों को अधिक बढ़ा दिया।

तांबा

एलएमई कॉपर 1% से बढ़त के साथ बंद हुआ कॉपर इन्वेंट्री में गिरावट दर्ज हुई। इकोनॉमिक रिवाइवल के लिए अमेरिका द्वारा दी जाने वालीअतिरिक्त प्रोत्साहन सहायता ने लाल धातु की कीमतों को बढ़ा दिया। चीन में लगातार हो रही रिकवरी की उम्मीद से औद्योगिक धातु की कीमतों को कुछ सहारा मिल सकता है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी