नए वर्ष में नया आकार ले रहे मार्केट में नए सिरे से शुरुआत करें

2020 बहुत सारे लोगों के लिए रोलर-कोस्टर की सवारी रही है। लेकिन बिजनेस ने जो अनुभव किया, वह इससे पहले कभी महसूस नहीं किया था। प्रोडक्ट्स की मांग और आपूर्ति में उतार-चढ़ाव देखने को मिले। हफ्तों और महीनों तक चले लॉकडाउन के दौरान 2020 में व्यापार करना निश्चित रूप से एक मुश्किल काम था। और निवेश भी इसी तरह रहे। हालांकि, पहली बार कुछ भी करन हमेशा मुश्किल होता है। 2020 अब खत्म हो गया है, वैसे-वैसे जो हुआ उसे पीछे छोड़ने का समय आ गया है और कुछ नया करने की ओर बढ़ रहा है। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के इक्विटी स्ट्रैटेजिस्ट-डीवीपी श्री ज्योति रॉय ने यहां पांच तरीके दिए हैं जिनसे आप रीबूट हो रहे मार्केट में अपने फाइनेंस को एक नई शुरुआत दे सकते हैं।

1. अपनी रिस्क सहने की क्षमता का आकलन करें: 2020 ने बहुत-से लोगों को आश्चर्यचकित किया है कि क्या उनका पोर्टफोलियो बहुत अधिक जोखिम में था - इतना, कि कुछ लोग कीमती धातुओं और अचल संपत्ति जैसे वैकल्पिक निवेश वाहनों का पता लगाने में बंटे हुए और आतंकित दिखे। हालांकि, इस सबके लिए रिस्क-एक्स्पोजर को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। आखिरकार, महामारी ने सभी क्षेत्रों को तगड़ा झटका दिया है। हालांकि, विविधीकरण समस्या का एक हिस्सा था - और आपकी जोखिम प्रबंधन रणनीति का दूसरा हिस्सा भी।

आगे बढ़ते हुए नए निवेश और संशोधित पोर्टफोलियो में जोखिम की भावना को फिर से परिभाषित करना होगा। कल्पना कीजिए कि रीबूट हो रहा मार्केट किस तरह का हो सकता है और महामारी के दौरान आपकी खुद की वित्तीय स्थिरता कैसे विकसित हुई है। क्या पिछले वर्षों में आपकी जोखिम-सहनशीलता कम हुई है? क्या आप अपनी बचत का 80% कमोडिटीज ट्रेडिंग में लगा सकते हैं, या क्या आपको कम जोखिम वाले विकल्पों की तलाश करनी चाहिए, जैसे हाइब्रिड म्यूचुअल फंड? अपने जोखिम लेने की क्षमता के बारे में चिंतन करते हुए, आगे बढ़ते हुए कुछ समय व्यतीत करें।

2. आत्मविश्वास के लिए एक और सबक: जब महामारी के बारे में खबरें निवेशकों तक पहुंचने लगीं, उसके ठीक बाद घबराहट में बिकवाली शुरू हो गई -प्रतिभूतियों में निचले सर्किट लगने लगे, और लंबी अवधि के निवेशकों में नाराजगी उभरने लगी, जिन्होंने अपनी बचत का बड़ा हिस्सा सावधानी से हाई-ग्रोथ फंड्स में लगाया था। हालांकि, यहाँ पर ध्यान दिया जाना चाहिए, यहां बाजार धराशायी होने की बात हो रही है, जो महामारी के बाद हुआ। क्या यह क्रैश नीचे जाता रहा? यह नहीं हुआ इसके अलावा रिकवरी भी मजबूत थी, और कुछ तो सार्वजनिक मंचों पर विशेषज्ञों से पूछ रहे थे कि कोविड के बीच बाजार कैसे बढ़ रहे हैं। एफएमसीजी और टेक जैसे कुछ क्षेत्रों ने रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज की, और टेक-अलाइंड म्यूचुअल फंड ने 62+% वार्षिक रिटर्न दर भी दिखाई। यह वक्त भरोसे का एक सबक सीखने का था। कम अवधि में शेयर बाजार एक बार फिर गिर सकते हैं, लेकिन ये गिरावट आने वाली अवधि में काफी वृद्धि के साथ लौटेगी। यह सबक लें, और इसे याद रखें जब आप आने वाले वर्ष में निवेश के लिए लुभा रहे होंगे।

3. रीबूटिंग मार्केट्स: कीवर्ड्स की तलाश: जब आप रीबूटिंग मार्केट पढ़ते हैं, तो आप क्या देखते हैं? रीबूटिंग स्पष्ट रूप से यहां कीवर्ड है। लॉकडाउन के बाद, कंपनियां अपने व्यवसायों को फिर से शुरू करने पर ध्यान केंद्रित कर रही थीं - यह रीबूट नहीं है जिसके बारे में समाचार में बात हो रही है। वास्तव में, यह रीबूट निरंतर जारी होगा- जहां महामारी के स्थायी प्रभाव बाजारों में स्थायी परिवर्तन लाएंगे। 2021 में निवेश करते समय, दीर्घकालिक संभावनाओं के मूल्यांकन में यह एक महत्वपूर्ण कारक होना चाहिए। इसके बारे में कुछ उदाहरणों के जरिए विचार करें। मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में जो कंपनियां अपने संचालन में सुधार के लिए ऑटोमेशन और नई एंटरप्राइज टेक्नोलॉजी में निवेश नहीं कर रही हैं, महामारी के बाद उन्हें गंभीर प्रतिस्पर्धी नुकसान हो रहा है। शायद यह वहां से अलग होने के लिए बेहतर विचार होगा, और उस कंपनी में निवेश करना होगा जिसमें बेहतर दीर्घकालिक विकास की संभावनाएं हों। प्रौद्योगिकी एक ऐसा क्षेत्र है, जो महामारी के बाद के युग में नई प्रौद्योगिकियों में व्यवसायों द्वारा किए जा रहे महत्वपूर्ण निवेशों का सबसे बड़ा लाभार्थी होने जा रहा है। रीबूटिंग मार्केट्स का डायनामिक्स अलग होगा- अगले साल किसी भी दीर्घकालिक निवेश से पहले नए रुझानों पर ध्यान दें।

4. सेक्टर रोटेशन का महत्व: 2020 में विभिन्न क्षेत्रों के प्रदर्शन को देखें। सभी लाभार्थियों ने एक साथ प्रदर्शन नहीं किया। 2021 में एक सेक्टर के प्रदर्शन के आसपास आपके पूर्वानुमान बनाने से पहले विचार करने के लिए कई नए वैरिएबल्स जोड़े गए हैं। 2020 में, लॉकडाउन के बाद आवश्यक मांग बढ़ी, और उसके बाद सामान्य और ऊंचे स्तर में उतार-चढ़ाव हुआ। ऊर्जा और यूटिलिटी की मांग कम हो गई, जबकि टेक शेयरों ने अन्य सभी क्षेत्रों को पीछे छोड़ दिया। यहां देखा जाने वाला विषय सेक्टर रोटेशन है। सेक्टर रोटेशन एक निरंतर घटना है, लेकिन आपके पोर्टफोलियो को हर बार कुछ नए मोड़ की आवश्यकता होती है। जब बड़ी खबर निवेशकों तक पहुंचती है, तो कीमतों पर गंभीर लघु और मध्यम अवधि का प्रभाव हो सकता है - और परिणामस्वरूप यह आपके पोर्टफोलियो में भी दिख सकता है। अपने पोर्टफोलियो की नियमित समीक्षा करें और आगे बढ़ने की आदत डालें, ताकि आप बाजार के बेहतरीन अवसरों से न चूकें।

5. डॉट्स को कनेक्ट करें- रीबूट कस्टमर: पिछले साल आपकी जीवनशैली कैसे बदली है? आपके खर्च और भविष्य की योजनाएं कैसे बदली हैं? यह संभव है कि दूसरे लोग भी उसी तर्ज पर अपने जीवन में सोच और चीजों को बदल रहे हों। 2020 ने सभी आय स्लैबों में नई आदतें और परिवर्तित श्रेणी का खर्च आगे लाया है। यह बाजारों के प्रति समग्र दृष्टिकोण और कंपनियों के वास्तविक समय में प्रदर्शन को प्रतिबिंबित करेगा। रचनात्मक तरीकों से अपने अगले साल की पोर्टफोलियो रणनीति के बारे में सोचें, और पिछले एक साल से मिले सबकों की अनदेखी न करें। नई शुरुआत हमेशा मुश्किल होती है। वे कहते हैं कि नए सिरे से शुरुआत करने के लिए, आपको पीछे का छोड़ना होता है कि क्या हुआ है और कुछ नया करने की दिशा में कदम बढ़ाने होते हैं। 2021 के री-बूटिंग मार्केट में, आपके द्वारा सर्वोत्तम अवसरों को अपने हाथों से निकलने न दें।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता