किसान आंदोलन में शामिल हुए सपाई

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 1 फरवरी  2021, नई दिल्ली। रविवार को नोएडा समाजवादी पार्टी नोएडा के कार्यकर्ता कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान धरने में शामिल हुए। इस अवसर पर सपा के पूर्व जिला प्रवक्ता राघवेंद्र दुबे ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों की मांगों को मानकर किसान विरोधी कृषि कानूनों को तुरंत वापस ले। खुले आसमान के नीचे हाड़ कंपाती ठंड में सौ किसानों की जान चली गई लेकिन सरकार का दिल नहीं पसीजा। 26 जनवरी को ट्रेक्टर ट्राली परेड की आड़ में असमाजिक तत्वों द्वारा किया गया उपद्रव किसान आंदोलन को बदनाम करने के लिए किया गया था। सरकार उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाई करे लेकिन बदले की भावना से किसानों को प्रताड़ित करने का काम न करे नहीं तो किसानों  के आंसुओं की एक एक बूंद का हिसाब इस सरकार को देना पड़ेगा। किसान कभी हिंसक नहीं हो सकता है वह तो अनुशासन में रहकर न्याय की मांग कर रहा है।

इस अवसर पर सपा नेता देवेंद्र अवाना ने कहा कि कृषि प्रधान देश में किसानों के साथ हो रहा सौतेला व्यवहार बेहद दुखद है। किसान हितैषी होने का दम्भ भरने वाली भाजपा सरकार में किसानों को धमकाने व अपमानित करने का काम किया जा रहा है। किसानों के समर्थन में लगातार आम जनता का सैलाब उमड़ रहा है जिससे किसान व जनविरोधी सरकार की नींद उड़ी हुई है। इस अवसर पर सपा नेता फूल सिंह यादव, हीरालाल यादव, विकी तंवर, डॉ आश्रय गुप्ता सहित तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी