53% भारतीय छात्रों का कहना है ऑनलाइन लर्निंग मॉडल सहज महसूस : ब्रेनली सर्वे

 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 23 अप्रैल  2021, नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म मंच ब्रेनली ने अपने नवीनतम सर्वेक्षण 'लॉकडाउन एंड लर्न-फ्रॉम-होम मॉडल' के निष्कर्ष जारी किए हैं। 2,371 उत्तरदाताओं की सैम्पल साइज के साथ सर्वेक्षण का उद्देश्य यह समझना है कि पिछले वर्ष ने पूरे भारत में छात्रों की शिक्षा और सीखने के पैटर्न को कैसे बदल दिया है।

सर्वेक्षण द्वारा उजागर किए गए प्रमुख रुझानों में से कुछ प्रमुख निष्कर्षों में शामिल हैं:

बढ़ती स्वीकार्यता: सर्वेक्षण में शामिल अधिकांश छात्रों (54% लगभग) ने कहा कि वे अब ऑनलाइन लर्निंग मॉडल के साथ सहज हैं। स्कूलों के फिर से खुलने पर लर्निंग मोड की प्राथमिकता के बारे में पूछे जाने पर इसी तरह का ट्रेंड देखा गया। सर्वेक्षण के आधे से अधिक उत्तरदाताओं ने मिश्रित शिक्षण मॉडल को पसंद किया। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म ने संकट से निकालाः पिछले एक साल में ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म ने छात्रों के लिए एक महत्वपूर्ण सपोर्ट सिस्टम के रूप में काम किया है। सर्वेक्षण ने संकेत दिया कि भारत में हर चार में से एक छात्र ने मुख्य रूप से ब्रेनली जैसे प्लेटफार्मों के माध्यम से अपने संदेहों को दूर किया। अन्य ने अपने स्कूल के शिक्षकों (17%) और माता-पिता (8%) से सहयोग लिया।

स्कूलों में वापस जाने से बच रहे छात्र: कोविड-19 मामलों में हालिया उछाल के साथ अधिकांश छात्र वर्तमान में स्कूल वापस जाने को लेकर आशंकित थे। वर्तमान परिदृश्य में लगभग 56% छात्रों ने ऑनलाइन लर्निंग जारी रखा। छात्र सशक्त महसूस कर रहे हैं-  सर्वेक्षण की एक महत्वपूर्ण खोज यह रही कि छात्रों को ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म के साथ अधिक सशक्त महसूस होता है। लगभग दो-तिहाई छात्रों ने कहा कि वे अब पहले की तुलना में अधिक 'लचीले' और 'आत्मनिर्भर' हो गए हैं। उनमें से लगभग आधे लोगों ने अधिक 'आत्मविश्वास' महसूस किया। छात्रों के एक बड़े समूह ने यह भी दावा किया कि ऐसे प्लेटफार्मों ने उन्हें अपनी गति से सीखने में मदद की, ऐसा कुछ जो इसके बिना संभव नहीं है।

ब्रेनली में सीपीओ राजेश बिसानी ने कहा, “कभी भी एकेडेमिक्स के इतिहास में वैश्विक स्तर पर ऑनलाइन लर्निंग चैनल इतने बड़े पैमाने पर इस्तेमाल नहीं किए गए थे। अब, अधिक से अधिक छात्रों, पैरेंट्स और शिक्षकों ने शिक्षा के लिए ऑनलाइन साधनों का इस्तेमाल सीख लिया है। हमें विश्वास है कि मिश्रित लर्निंग अप्रौच उद्योग के लिए आगे बढ़ने का मार्ग होगा। ब्रेनली दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म है। इसमें 350 मिलियन से अधिक छात्रों, पैरेंट्स और शिक्षकों का समुदाय है, जो सहयोगी शिक्षण को संचालित करते हैं। प्लेटफॉर्म पर भारत के कुल 55 मिलियन+ यूजर , इसके यूजर बेस का एक बड़ा हिस्सा यू.एस., रूस, इंडोनेशिया, ब्राजील और पोलैंड में भी फैला हुआ है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए