संभल जाओ ना

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 1 मई  2021, ग़ाज़ियाबाद

कोरोना कोरोना कोई  भी इसे डरो ना !!

कोई भी रोड़ पर निकलें ना !!

घर में रहना है, कम कुछ करना है ना !!

घर में रहकर ही, देश को सर्पोट करेंगे ना !! 

देशवासी है, एकजुट होकर साथ चलेंगे ना !!

अपने लिए और अपनो के लिए, कुछ दिन घर में ही रहो ना !!

देर न हो जाये कहीं, तुम जल्दी समझ जाओ ना !!

खुली आसमां की सैर, तुम्हें मिट्टी मे दफना देगी ना !!

कोई जनाजे से अवाज दे रहा है, संभल जाओ ना !!

                                 - प्रत्यक्ष कुमार गर्ग -

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा