एसबीआई म्यूचुअल फंड लॉन्च करेगी एसबीआई ईटीएफ कन्ज़म्प्शन योजना

 

◆ नये फंड का ऑफर 30 जून को खुलेगा और 14 जुलाई 2021 को बंद होगा

◆ ओपन-एंडेड योजना होगी जो निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स का अनुसरण करेगी

◆ निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स का टीआरआई रिटर्न शुरुआत से लेकर अबतक (31 मई 2021 तक) 13.92 प्रतिशत सीएजीआर रहा

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 30 जून  2021, नई दिल्ली। एसबीआई म्यूचुअल फंड ने आज निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स का अनुसरण करने वाली एक ओपन-एंडेड योजना, एसबीआई ईटीएफ कन्ज़म्प्शन लॉन्च करने की घोषणा की। नई योजना उन निवेशकों के लिए उपयुक्त होगी जो निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स के दायरे में आने वाली प्रतिभूतियों में दीर्घकालिक पूंजी में बढ़ोतरी और निवेश करना चाहते हैं। नया फंड ऑफर 30 जून, 2021 को खुलेगा और 14 जुलाई, 2021 को बंद होगा।योजना का निवेश लक्ष्य होगा ऐसा मुनाफा प्रदान करना है सूचकांक का प्रतिनिधित्व करने वाली प्रतिभूतियों के कुल मुनाफे जैसा हो।

एसबीआई म्यूचुअल फंड के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी श्री विनय एम. टोन्से ने कहा, "हमारा मानना ​​है कि पैसिव फंड भारत और दुनिया भर में लोकप्रिय हो रहे हैं जिसके तहत निवेशक सूचकांक के साथ निवेश करना चाहते हैं। ईटीएफ में निवेश उन लोगों के लिए फायदेमंद है जो कम लागत पर विस्तृत किस्म के परिसंपत्ति वर्गों में निवेश करना चाहते हैं। एसबीआई ईटीएफ कन्ज़म्प्शन के साथ, हम अपने सक्रिय रूप से प्रबंधित फंडों के अलावा, निष्क्रिय निवेश क्षेत्र में अपना पोर्टफोलियो बढ़ा रहे हैं। मेरा मानना ​​है कि एसबीआई ईटीएफ कन्ज़म्प्शन अच्छा मौका है क्योंकि घरेलू खपत के लिहाज़ से भारत में बहुत संभावना है और इसमें विकास की भी संभावना बरकरार है।

कंपनी के चीफ बिजनेस ऑफिसर, श्री डी पी सिंह ने कहा: "पैसिव इन्वेस्टमेंट के विकल्पों में से ईटीएफ, निवेशकों को विविधीकरण, तरलता, कम लागत, सरलता और पारदर्शिता जैसी कई सुविधाएं प्रदान करता है। पिछले कुछ दशकों में कन्ज़म्प्शन योजनाओं में लगातार बढ़ोतरी है और उम्मीद है कि आने वाले लम्बे समय में भी  निवेशकों को मूल्य प्रदान करेगा। हम निवेशकों को उनके निवेश लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए अपनी पेशकश बढ़ाना और उन्हें इसी तरह के तेजी से बढ़त दर्ज़ करने वाली योजनाएं मुहैया कराना जारी रखेंगे। निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स 2 जनवरी 2006 को लॉन्च किया गया था जिसमें 30 कंपनियां शामिल हैं। निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स को घरेलू उपभोग क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाली कंपनियों के विविध पोर्टफोलियो के व्यवहार और प्रदर्शन की पेशकश के लिए तैयार किया गया है जिसमें कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल, हेल्थकेयर, ऑटो, टेलीकॉम सर्विसेज, फार्मास्यूटिकल्स, होटल, मीडिया और मनोरंजन जैसे क्षेत्र शामिल हैं। निफ्टी इंडिया कन्ज़म्प्शन इंडेक्स को छमाही आधार पर पुनर्संतुलित किया जाता है।

इस योजना के तहत निफ्टी इंडिया कंजम्पशन इंडेक्स के दायरे में आने वाली प्रतिभूतियों में न्यूनतम 95 प्रतिशत और अधिकतम 100 प्रतिशत निवेश किया जाएगा और साथ ही इक्विटी डेरिवेटिव में 5 प्रतिशत तक तक और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट (कमर्शियल पेपर, कमर्शियल बिल, ट्रेजरी बिल, त्रिपक्षीय रेपो सहित एक साल तक की बगैर एक्सपायर हुई सरकारी प्रतिभूति, कॉल या नोटिस मनी, सर्टिफिकेट ऑफ़ डीपॉज़िट, युज़ेंस बिल और भारतीय रिज़र्व बैक द्वारा समय-समय पर तय किए जाने वाले अन्य इंस्ट्रूमेंट) और लिक्विड म्यूचुअल फंड की इकाइयों में में 5 प्रतिशत तक निवेश होगा। इस योजना के लिए न्यूनतम आवेदन राशि (एनएफओ अवधि के दौरान) 5,000 रूपये और उसके बाद यह 1 रुपये के गुणक में उपलब्ध होगी। एसबीआई ईटीएफ कन्ज़म्प्शन के लिए फंड मैनेजर श्री हर्ष सेठी हैं जो एसबीआई ईटीएफ आईटी और एसबीआई ईटीएफ प्राइवेट बैंक का प्रबंधन भी करते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता