गंगेश्वर दत्त शर्मा के नेतृत्व में सैकड़ों वेंडर ने नोएडा प्राधिकरण को दिया ज्ञापन

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 17 जुलाई 2021, गौतम बुध नगर। प्राधिकरण के वर्क सर्किल अधिकारियों/ कर्मचारियों और अतिक्रमण हटाओ दस्ता द्वारा वेंडर्स को परेशान करने व उत्पीड़नात्मक कार्रवाईयों के खिलाफ और वेंडिंग जोन बनाने की प्रक्रिया को सही तरीके से लागू करवाने एवं वेंडर्स की विभिन्न समस्याओं/मांगो के समाधान की मांग पर शुक्रवार 16 जुलाई 2021 को पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन के महामंत्री व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा और टीवीसी सदस्य पूनम देवी, श्याम किशोर गुप्ता, बटेश्वर मिश्रा,  गणेश कुमार, महेंद्र रावत, अर्पणा शर्मा, विनोद पंजियार व सीटू नेता राम सागर, विनोद कुमार, पारस गुप्ता, पथ विक्रेता सियाराम, रामभोली, सरोज, धर्मेंद्र सिंह, अरविंद कुमार सिंह आदि के नेतृत्व में सैकड़ों वेंडर्स ने एकजुट होकर माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया को संबोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन नोएडा प्राधिकरण के ओएसडी श्री इंदु प्रकाश जी ने लिया और उन्होंने वेंडर्स को आश्वासन दिया कि स्थानीय स्तर की जो भी मांगे हैं प्राधिकरण के स्तर से उन्हें पूरा करने का प्रयास किया जाएगा तथा जो मांगे सरकार के स्तर की है उन्हें अपनी संस्कृति के साथ ज्ञापन माननीय मुख्यमंत्री जी को प्रेषित कर दिया जाएगा। 

ज्ञापन के बारे में जानकारी देते हुए वेंडर्स के प्रतिनिधियों ने बताया कि प्राधिकरण के अधिकारियों/ कर्मचारियों द्वारा रोज आए दिन वेंडर्स को परेशान किया जा रहा है और उनका सामान तोड़फोड़ दिया जाता है या जप्त कर लिया जाता है जिस कारण उनका आर्थिक व मानसिक रूप से उत्पीड़न हो रहा है जो संवैधानिक अधिकारो व पथ विक्रेता अधिनियम और सर्वोच्च न्यायालय व सरकार की मंशा व गाइडलाइन का खुला उल्लंघन है जिसे किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि नोएडा शहर में वेंडिंग जोन बनाने की प्रक्रिया बहुत धीमी गति और मनमानीपूर्ण तरीके से चल रही है वेंडिंग जोन प्रक्रिया को लागू करने में टीवीसी सदस्यों या पथ विक्रेताओं के संगठनों के प्रतिनिधियों से कोई बातचीत व राय मशविरा नहीं लिया जा रहा है, अधिकारियों द्वारा एकतरफा तरीके से निर्णय लेकर वेंडिंग जोन ऐसे स्थानों पर बना दिए जा रहे हैं जहां पर वेंडर्स का कार्य चल ही नहीं सकता और ना ही वेंडिंग जोन में किसी प्रकार का कार्य किया गया है जब वेंडिंग जौनो को दुकान लगाने लायक बनाया ही नहीं गया है।

तो फिर वर्क सर्किल अधिकारियों द्वारा वेंडिंग जोन में वेंडर्स को जबरन शिफ्ट करने पर क्यों जोर दिया जा रहा है अभी तक सभी वेंडर्स का सत्यापन का कार्य अभी पूरा नहीं हुआ है तथा वेंडिंग जोन लागू करने की प्रक्रिया इतनी धीमी है कि वर्ष 2018 में वेंडर्स द्वारा किए गए आवेदनों का 3 वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद भी संपूर्णता में निस्तारण नहीं किया गया है और शेष बचे वेंडर्स का आवेदन लिया जाना भी अभी बाकी है। दिए गए ज्ञापन में 9 सूत्री मांगों/समस्याओं के समाधान करने की मांग की गई है। साथ ही चेतावनी भी दी गई है कि यदि उत्पीड़न की कार्रवाई नहीं रुकी और उनकी मांगों/समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो नोएडा शहर के समस्त पथ विक्रेता फिर से आंदोलन करने के लिए विवश होंगे जिसकी संपूर्ण जवाबदेही नोएडा प्राधिकरण की होगी।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान