बायजूस के छात्र ने जेईई मेन 2021 में गणित में 99.24 प्रतिशत किया प्राप्त

◆ दिल्ली के 17-वर्षीय जैद खान  आगामी जीईई मेन सत्र और 2022 में बोर्ड परीक्षाएँ क्रैक करना चाहते हैं

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 7 अगस्त 2021, नई दिल्ली। सफलता और कुछ नहीं बल्कि सभी चुनौतियों का सामना करते हुये गिरने और फिर खड़े होने की एक निरंतर यात्रा है।  दिल्ली के 17-वर्षीय जै़द खान बायजूस के छात्र हैं और इस कथन का एक सटीक उदाहरण हैं। वह कई बच्‍चों के लिये एक प्रेरणा हैं। ज़ैद बायजूस के साथ जेईइ की तैयारी कर रहे हैं। उन्‍होंने इस साल मार्च में संपन्न 2021 जेईई मेंस परीक्षाओं में गणित में 99.24 पर्सेंटाइल हासिल किया है। बचपन से ही उन्‍हें गणित विषय बहुत पसंद था। समस्या सुलझाने की तकनीक की ओर झुकाव और बायजूस के शिक्षकों से अद्वितीय शिक्षण पद्धति की बदौलत उन्‍होंने इतना अच्छा स्कोर हासिल किया है।

प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) में पढ़ाई करने के उद्देश्य से, जै़द ने 11वीं कक्षा से जेईई की तैयारी शुरू कर दी थी और अपने समग्र स्कोर में 100 पर्सेंटाइल हासिल करने के अपने प्रयासों में निरंतर जुटे हुये हैं। ज़ैद स्मार्ट तरीके से अध्ययन करने में विश्वास करते हैं और उनका कहना है कि बायजूस की वजह से ही उन्‍हें अपने लक्ष्य के करीब पहुंचने में मदद मिली। ज़ैद पिछले चार वर्षों से बायजूस के साथ अध्ययन कर रहे हैं। ज़ैद ने कहा कि, बायजूस के शॉर्ट विडियो लेसन्स में पाँच मिनटों में पूरा टॉपिक कवर हो जाता है। एक ओर जहां वीडियो छोटा होने की वजह से उसमें दिलचस्‍पी बनी रहती है, वहीं दूसरी ओर एनिमेशन और वास्तविक जीवन के उदाहरण बुनियादी अवधारणाओं को मजबूत बनाने का ध्यान रखते हैं। मुझे लर्निंग का पर्सनलाइज्ड तरीका भी पसंद है जिसमें मुझे अपने मेंटर के साथ डाउट क्लियर करने की सुविधा मिलती है।

देश भर में जारी लॉकडाउन के बीच जेईई मेन की तैयारी करने के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा कि लॉकडाउन उनके लिये एक तरह से वरदान साबित हुआ है। उन्‍होंने आगे कहा, “लॉकडाउन के कारण मुझे जेईई मेन की पढ़ाई और तैयारी के लिए बहुत समय मिला । मैंने बायजूस की ऑल इंडिया टेस्ट सीरीज को आजमाया और कई अन्य मॉक टेस्ट पेपर हल किए। इससे मुझे यह समझने में मदद मिली कि मुझे और कहाँ-कहाँ अतिरिक्त ध्यान देने की जरूरत है। अपनी तैयारी से आश्वस्त होकर मैंने फरवरी और मार्च दोनों सत्रों में अटेम्प्ट  किया और अच्छे अंक प्राप्त किए।

जेईई की तैयारी और परीक्षा के आगामी सत्रों के बारे में बात करते हुए, बायजूस के प्रधान निदेशक, अपूर्व माथुर ने कहा कि, “जेईई ज्ञान, व्यक्तित्व और मानसिक दृढ़ता की परीक्षा है। इसलिए उम्मीदवारों को अपना सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन देने के लिये अपने दृष्टिकोण में निरंतरता बनाए रखने की जरूरत होती है। यह हर दिन आपका टेस्ट लेता है और इसमें तैयारी के असंरचित तकनीकों से आप अपेक्षित परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। यह एक कठिन चढ़ाई का सफ़र है, हालाँकि सीखने की कुछ स्मार्ट तकनीकों को शामिल करके उम्मीदवार अपनी तैयारी में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। ज़ैद जैसे छात्र अपने साथियों के लिए एक सच्ची प्रेरणा हैं, और हमें उनकी सफलता की यात्रा में योगदान देने में सक्षम होने की खुशी है। इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के तीसरे और चौथे सत्र के बीच का अंतर उन छात्रों के लिए एक शानदार अवसर है जो पिछले प्रयासों से अपने स्कोर में सुधार ला सकते हैं। बायजूस अपने सभी बहादुर उम्मीदवारों को जेईई परीक्षा के लिए शुभकामनाएं देता है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया