उत्तर प्रदेश सरकार और एसटीटीएआर मिलकर 10,000 शिक्षकों को प्रशिक्षण देने की योजना शुरू किया

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 9 अक्टूबर  2021ग़ाज़ियाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार ने सामर्थ्य टीचर्स ट्रेनिंग ऐकेडमी ऑफ रिसर्च (एसटीटीएआर), गाजियाबाद के साथ मिलकर 10,000 शिक्षकों को सूचना और संचार टेक्नालॉजी (आईसीटी) में प्रशिक्षण देने की योजना बनाई है। यह पांच बिन्दु वाली योजना का भाग है जो शुक्रवार, 8 अक्तूबर 2021 को लखनऊ में शुरू किया गया।  

उपमुख्य मंत्री दिनेश शर्मा ने लखनऊ में आयोजित एक समारोह में आधिकारिक रूप से योजना की शुरुआत की। इस मौके पर राज्य की सेकेंड्री शिक्षा मंत्री गुलाब देवी तथा सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूटशंस के चेयरमैन श्री शिशिर जयपुरिया भी मौजूद थे। इस योजना के पांच उद्देश्य हैं – उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा को बढ़ावा देना तथा उत्तर प्रदेश में छात्राओं की सहायता करना। इनमें शामिल हैं: 10,000 सरकारी स्कूल शिक्षकों को प्रशिक्षण देना, 2500 सरकारी स्कूलों में कैरियर कौनसलिंग, 1000 कमजोर और पिछड़ी लड़कियों को पढ़ने के लिए 1000 मेज मुहैया करवाना, प्रतिभाशाली लड़कियों  को टैबलेट्स देना तथा 30 सेकेंड्री स्कूलों में स्मार्ट क्लासेज शुरू करना। 

लखनऊ में एक आयोजन के दौरान इस योजना की शुरुआत करते हुए उपमुख्य दिनेश शर्मा ने सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई और कहा कि उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर करना है। 10,000 शिक्षकों को प्रशिक्षित करने की पहल की उन्होंने तारीफ की और कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम से सेकेंड्री स्कूल के शिक्षकों में आईसीटी सक्षमता आएगी। 

राज्य में सेकेंड्री शिक्षा की मंत्री गुलाब देवी समारोह में मौदूद थीं। उन्होंने कहा कि छात्राओं की सहायता के लिए सरकार की योजना और उन्हें टैबलेट देना योग्य छात्राओं का सशक्तिकरण करेगा और वे शिक्षा में अच्छा कर सकेंगी। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और राज्य की प्रिंसिपल सेक्रेट्री एजुकेशन ने एसटीटीएआर की प्रशंसा की और यूपी के स्कूल शिक्षकों को प्रशिक्षण देने की उसकी प्रतिबद्धता की प्रशंसा की। स्कूलों के 10,000 शिक्षकों को प्रशिक्षण देने के पहले प्रण के तहत उत्तर प्रदेश सरकार एसटीटीएआर के साथ गठजोड़ कर रहा है। इसे जयपुरिया स्कूल ऑफ बिजनेस ने प्रोमोट किया है और यह सेठ आनंद राम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल संस्थाओं की छत्रछाया में चल रहा है।    

उत्तर प्रदेश सरकार की पहल की प्रशंसा करते हुए समूह के चेयरमैन शिशिर जयपुरिया ने अपने संबोधन में कहा, “उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए पांच प्रण वाली योजना की शुरुआत और उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई के परिणाम को बेहतर करना वाकई एक प्रशंसनीय प्रयास है। मैं पूरे दिल से इसका स्वागत करता हूं और मुझे खुशी है कि सामर्थ्य टीचर्स ट्रेनिंग ऐकेडमी ऑफ रिसर्च को उत्दतर प्रदेश के सरकारी स्कूलों के 10,000 शिक्षकों को ऑनलाइन मोड में सूचना और संचार टेक्नालॉजी में प्रशिक्षण देने का मौका दिया गया है।

10,000 शिक्षकों को प्रशिक्षण देने का काम सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप के कॉरपोरेट सोशल रेसपांसिबिलिटी कार्यक्रम के तहत किया जाएगा। प्रशिक्षण का सारा काम एसटीटीएआर के एक्सपर्ट प्रशिक्षकों द्वारा ऑनलाइन किया जाएगा। ऐकेडमी भाग लेने वाले सभी शिक्षकों को भागीदारी का प्रमाणपत्र देगा। एसटीटीएआर गाजियाबाद में एक खास शिक्षक प्रशिक्षण ऐकेडमी है। इसकी स्थापना 2020 में हुई थी और यह अभी ही 60 वर्चुअल सत्रों में 10,000 मानव घंटे शिक्षक प्रशिक्षण दे चुका है। इससे 150 स्कलों को फायदा हुआ है। उत्तर प्रदेश सरकार के साथ गठजोड़ इसे राज्य के शिक्षा क्षेत्र को आकार देने में एक महत्वपूर्ण स्टेकधारक बनाता है। 

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया