नोएडा पुलिस उपायुक्त कार्यालय पर वेंडर्स ने सीटू के बैनर तले प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन

 

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 6 अक्टूबर 2021, गौतम बुध नगर। थाना सेक्टर- 39, नोएडा के अंतर्गत पुलिस चौकी सेक्टर- 98, नोएडा के चौकी इंचार्ज श्री अनूप कुमार की मनमानी व दबंगई से परेशान सदर सराय कॉलोनी के पास सैक्टर- 99, नोएडा में लगने वाले सप्ताहिक बाजार के फुटपाथी दुकानदार पथ विक्रेताओं ने 05 अक्टूबर 2021 को पुलिस उपायुक्त कार्यालय सेक्टर- 6, नोएडा पर पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन "सीटू" के बैनर तले प्रदर्शन कर माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार एवं जिले के उच्च अधिकारियों को सम्बोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन में पुलिस चौकी इंचार्ज द्वारा बिना वजह 28 सितंबर 2021 से बंद कराए गए सप्ताहिक फुटपाथी बाजार को पूर्व की भांति लगने देने का अनुरोध किया गया है।

 प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए पथ विक्रेता कर्मकार यूनियन के महामंत्री व सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि चौकी इंचार्ज द्वारा एकाएक बाजार को बंद कराना पथ विक्रेता अधिनियम 2014 एवं माननीय सर्वोच्च न्यायालय व प्रदेश सरकार के दिशा निर्देशों का खुला उल्लंघन है क्योंकि जब तक पथ विक्रेताओं का नोएडा प्राधिकरण द्वारा गठित नगर पथ विक़य समिति सत्यापन कर लाइसेंस देकर कहीं जगह आवंटित नहीं करती है तब तक पथ विक्रेताओं को उनके मौजूदा स्थानों से नहीं हटाया जा सकता। यह पुलिस चौकी इंचार्ज की सरासर मनमानी है। 

जब नोएडा प्राधिकरण द्वारा उक्त बाजार को हटाने का आदेश नहीं दिया है तो वह दुकानदारों को बाजार लगाने से रोककर उनके रोजगार पर चोट क्यो कर रहे हैं जिसे हमारी यूनियन कतई बर्दाश्त नहीं करेगी यदि शनिवार 09 अक्टूबर 2021 को स्थानीय पुलिस द्वारा फिर बाजार नहीं लगने दिया गया तो सभी पथ विक्रेता पुलिस आयुक्त  गौतमबुद्धनगर कार्यालय सेक्टर- 108, नोएडा पर प्रदर्शन कर उन्हें ज्ञापन देंगे। प्रदर्शनकारियों को सीटू जिला उपाध्यक्ष भरत डेंजर ने संबोधित करते हुए विक्रेताओं का उत्पीड़न करने और उनके रोजगार पर हमला करने के लिए स्थानीय पुलिस की कड़ी निंदा किया।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान