लग्जरी चॉकलेट ब्रांड स्मूर अब 50 मिलियन डॉलर से अधिक का हुआ

 

◆ रेबेल फूड्स ने बड़ी हिस्सेदारी खरीदी

◆ यह निवेश भारत में लग्जरी चॉकलेट उद्योग में विकास  में तेजी, बाजार विस्तार और वर्चस्व को बढ़ावा देगा

◆ रेबेल फूड्स की तरफ से चौथा ब्रांड निवेश, स्मूर 2022-23 में अपना दायरा 3 गुना तक बढ़ाएगा

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 13 अप्रैल 2022, नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट रेस्तरां कंपनी रेबेल फूड्स ने आज लक्जरी चॉकलेट ब्रांड, स्मूर में अपने निवेश की घोषणा की। इस तरह कंपनी ने ‘थ्रेसियो ऑफ फूड’ के तौर पर अपनी स्थिति को और मजबूत किया है। यह रेबेल फूड्स की हालिया घोषणा के मुताबिक है, जिसमें आने वाले वर्षों में 150 मिलियन अमेरिकी डॉलर के निवेश की घोषणा की गई है। कंपनी की तरफ से किया जाने वाला निवेश क्लाउड किचन की श्रेणी के तहत और अधिक खाद्य श्रेणियों के जरिए ग्राहकों की सेवा करने के मकसद से बेहतर ब्रांड में निवेश और अधिग्रहण की रणनीति का हिस्सा है। इस निवेश के साथ स्मूर का लक्ष्य वर्ष 2022-23 में तीन गुना वृद्धि करना है। स्मूर ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर भी जबरदस्त विकास और मजबूत ग्राहक प्रतिक्रिया देखी है और यह साझेदारी ब्रांड के विकास को मजबूत करने में और मदद करेगी।

स्मूर ने देश में अकेले ही उत्कृष्ट गुणवत्ता वाली कवर्चर चॉकलेट और बारीकी से डेजर्ट (खाने के बाद परोसा जाने वाला मीठा) को तैयार और विकसित किया है। पिछले पांच वर्षों के दौरान 40% से अधिक की सीएजीआर दर उद्योग औसत से अधिक है और इस यह इस क्षेत्र में कंपनी की नेतृत्व की स्थिति को दर्शाता है। यह प्रामाणिक सामग्रियों को एक साथ लाता है और चॉकलेट, सिग्नेचर केक, गिफ्ट हैम्पर्स, डेज़र्ट, पेय और अन्य समेत उत्पादों की एक प्रीमियम श्रृंखला प्रदान करता है। यह उनके सिग्नेचर लाउंज, कैफे, कियोस्क, स्वयं के डिजिटल प्लेटफॉर्म के साथ-साथ ऑनलाइन एग्रीगेटर प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। स्मूर ब्रांड ने पिछले साल से 120% से अधिक की बढ़ोतरी की है और भारत और विश्व स्तर पर अपनी उपस्थिति का विस्तार करके 2026 तक 100 मिलियन डॉलर के वार्षिक राजस्व का एक लक्ष्य हासिल करना चाहता है। स्मूर भारत में टियर 1 शहरों में अपने भौतिक ग्राहक अनुभव केंद्रों का विस्तार करके और डिजिटल प्लेटफॉर्म पर अपनी ऑनलाइन उपस्थिति को तेज करके अपनी सर्वव्यापी वितरण रणनीति का निर्माण जारी रखेगा। भविष्य के विस्तार में 9 शहरों (मुंबई, पुणे, हैदराबाद, चेन्नई, बैंगलोर, नई दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा, फरीदाबाद) में अपनी भौतिक उपस्थिति को मजबूत करना और एक तेजी से बढ़ती सर्वव्यापी या सभी माध्यमों पर उपस्थिति शामिल होगी।

निवेश के बारे में स्मूर के सीईओ विमल शर्मा ने कहा, "भारतीय चॉकलेट बाजार बेहद तेज गति से बढ़ रहा है, और हमें यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि स्मूर उद्योग के साथ मिलकर अपने पंख फैला रहा है। भारत में कवर्चर चॉकलेट श्रेणी का निर्माण और नेतृत्व करने के बाद और भारतीय मिठाई प्रेमियों को प्रीमियम चॉकलेट, केक, मैकरॉन, और बहुत कुछ पेश करने के बाद, अब हम अगला कदम उठाने के लिए उत्‍साहित हैं। रेबेल फूड्स के निवेश के साथ, हम वैश्विक बाजार में गहरी पहुंच बनाने के लिए तैयार हैं और कई सुलभ प्रारूपों में नए और आकर्षक कंफेक्‍शनरी को पेश कर रहे हैं। हम उस विकास के लिए तत्पर हैं जो इस विकास की मदद से हासिल होगा।

रेबेल फूड्स के सह-संस्थापक राघव जोशी ने कहा, “हम उच्च गुणवत्ता वाले चॉकलेट और डेज़र्ट  पेशकश में अपने नेतृत्व के साथ स्मूर को ब्रांडों की सूची में शामिल करने के लिए उत्साहित हैं। यह निवेश हमें और विश्वास दिलाता है कि हम लगातार उत्कृष्ट ब्रांड चुनने में सक्षम हैं। भारत में खाद्य सेगमेंट में थ्रेसियो मॉडल को पहले अपनाए जाने के नाते हमने एक फुल-स्टैक तकनीकी-सक्षम प्लेटफॉर्म - रेबेल ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण करके, पारंपरिक रेस्तरां व्यवसाय के 500 साल पुराने उद्योग में बड़ा बदलाव किया है। 

हमारा ध्यान खाद्य मिशनों में हर पड़ोस में बेहतरीन गुणवत्ता वाले ब्रांड लाने पर रहेगा। रेबेल फूड्स थ्रेसियो-स्टाइल पोर्टफोलियो, जिसे रेबेल लॉन्चर कहा जाता है, का लक्ष्य आने वाले वर्ष में प्रीमियम उत्तर भारतीय, दक्षिण भारतीय, भारतीय मिठाई, सैंडविच जैसे मिशनों को प्राथमिकता देते हुए 40 से 50 खाद्य श्रेणियों को जोड़ना है। रेबेल की योजना मध्य से लेकर लंबे समय तक भारत, इंडोनेशिया, संयुक्त अरब अमीरात (दुबई, अबू धाबी, शारजाह), यूनाइटेड किंगडम, सिंगापुर, मलेशिया, थाईलैंड, हांगकांग, फिलीपींस और बांग्लादेश में अपने सभी रेबेल लॉन्चर ब्रांड्स 10 देशों में मौजूदगी के साथ वैश्विक स्तर पर ले जाने की है। 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच