मणिपाल अस्पताल ने एम्बुलेंस चालकों के लिए एक बेसिक लाइफ सपोर्ट प्रशिक्षण का किया आयोजन

  

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 11 अप्रैल 2022गाजियाबाद। शहर और आसपास के क्षेत्रों में एम्बुलेंस चालकों के लिए बेसिक लाइफ सपोर्ट  (बीएलएस) प्रशिक्षण और आकस्मिक स्वास्थ्य समस्याओं की देखभाल के बारे में जागरूकता बढ़ाने के प्रयास में, गाजियाबाद स्थित मणिपाल अस्पताल ने 20 से अधिक एम्बुलेंस चालकों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया। यह बीएलएस प्रशिक्षण एम्बुलेंस चालकों को कार दुर्घटनाओं, घुटन, डूबने या यहां तक कि दिल के दौरे के पीड़ितों को प्राथमिक उपचार प्रदान करने में मदद करता है। एम्बुलेंस चालक जो बेसिक लाइफ सपोर्ट स्किल से लैस हैं, वे पीड़ित को घटनास्थल पर स्थिर करने में मदद कर सकते हैं।

इस प्रशिक्षण के महत्वता को बताते हुए है, मणिपाल हॉस्पिटल गाजियाबाद के अस्पताल निदेशक अतुल बहल जी ने कहा, "देश में सड़क दुर्घटनाओं की संख्या हर साल बढ़ रही है ऐसी स्थिति में एम्बुलेंस चालकों के लिए बेसिक लाइफ सपोर्ट प्रशिक्षण आवश्यक हो गया है, क्योंकि उनकी त्वरित प्रतिक्रिया कई जीवन बचा सकती है। इस बीएलएस प्रशिक्षण कार्यक्रम के साथ, हमारा लक्ष्य सड़क दुर्घटनाओं या हृदय, मस्तिष्क और यकृत सम्बन्धी आपात स्थिति के दौरान प्रथम गोल्डन ऑवर के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है ताकि पीड़ितों की सुरक्षित निकासी हो सके। 

चिकित्सा आपात स्थिति के दौरान तत्काल प्रतिक्रिया के बारे में जागरूकता की कमी मौत का एक प्रमुख कारण है। ऐसी स्थितियों में, लोगों को यह समझ में नहीं आता है कि घातक कार दुर्घटना या आपात स्थिति में क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। यदि एम्बुलेंस चालकों को उचित बुनियादी प्रशिक्षण दिया जाए तो कई लोगों की जान बचाई जा सकती है। मणिपाल हॉस्पिटल्स गाजियाबाद इन मुद्दों को हल करने के लिए समय-समय पर इस प्रकार की प्रशिक्षणों का आयोजन करता रहता है। इससे पहले भी हॉस्पिटल द्वारा मुरादाबाद में एक बेसिक लाइफ सपोर्ट प्रशिक्षण का आयोजन किया गया था जिसमे 50 से अधिक एंबुलेंस चालकों को बीएलएस प्रशिक्षण दिया गया।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच