पेटीएम मनी ने एलआईसी आईपीओ को रिटेल स्‍टोर्स तक पहुँचाया

◆ मुफ्त डीमैट खातों के लिये क्‍यूआर कोड रखे, ताकि आम आदमी आसानी से निवेश कर सके

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 3 मई 2022, नई दिल्ली। भारत की अग्रणी डिजिटल भुगतान एवं वित्‍तीय सेवा कंपनी, ब्राण्‍ड पेटीएम के स्‍वामी वन97 कम्‍युनिकेशंस लिमिटेड ने आज घोषणा की है कि उसके पूर्ण-स्‍वामित्‍व वाली अनुषंगी पेटीएम मनी, एलआईसी आईपीओ को रिटेल स्‍टोर्स में पहुँचाने के लिये तैयार है। कंपनी ने देशभर के किराना स्‍टोर्स पर क्‍यूआर कोड्स रखे हैं, ताकि आम आदमी मुफ्त डीमैट खातों से निवेश की ताकत का जीवनभर फायदा ले। इन क्‍यूआर कोड्स का उपयोग कर कोई भी व्‍यक्ति अपने मुफ्त डीमैट खाते बना सकता है, जोकि स्‍टॉक बाजार में व्‍यापार के लिये अनिवार्य होते हैं, और फिर वह व्‍यक्ति एलआईसी आईपीओ के लिये बिड कर सकता है।

पेटीएम मनी के माध्यम से एलआईसी आईपीओ के लिए आवेदन करने के तरिके 

◆ पेटीएम मनी के होम स्क्रीन पर आईपीओ सेक्शन में जाएँ

◆ वरीयता के अनुसार निवेशक का प्रकार सेलेक्ट करें। 5 लाख रुपये तक की राशि रखने के इच्छुक व्यक्ति एचएनआई कैटेगरी का विकल्प चुन कर ऐसा कर सकते हैं। एचएनआई निवेशक प्रकार में आवंटन आईपीओ के लिए इस कैटेगरी में सब्सक्रिप्शन की संख्या के आधार पर आनुपातिक रूप में किया जाएगा

◆ आप अगर पॉलिसीधारक है तो आईपीओ डिटेल्स पेज पर ‘इन्वेस्टर टाइप’ के नीचे पॉलिसीहोल्डर्स सेलेक्ट करें। इसके अलावा आपका पैन एलआइसी पॉलिसी से लिंक्ड होना चाहिए और यह वही पैन होना चाहिए जो पेटीएम मोनी के डीमैट अकाउंट से लिंक्ड है। अगर आप यह मानदंड पूरा करते है तो आप पॉलिसीधारक का विकल्प चुन सकते हैं

◆ एलआईसी आईपीओ विकल्प आईपीओ के भीतर ‘करंट ऐंड अपकमिंग’ टैब में उपलब्ध होगा

◆ विकल्प पर क्लिक कर देने के बाद आपको ‘अप्लाई नाउ’ बटन दिखाई देगा जिसे दबाने पर आपके सामने बिड पेज खुल जाएगा। इस पेज पर आप अपने आवेदन के लिए मूल्य और परिमाण (प्राइस और क्वांटिटी) अपडेट कर सकते हैं

◆‘ऐड यूपीआइ डिटेल्स’ सेक्शन में अपना यूपीआइ आईडी अपडेट करें और ‘अप्लाई’ पर क्लिक कर दें

◆ आवंटन हो जाने के बाद आपको आपके आवंटन स्थिति की सूचना मिलेगी

एलआईसी आईपीओ भारत के बाजार में सबसे बड़ा डेब्‍यू है और चूंकि यह ब्राण्‍ड पूरे देश में मौजूद है, पेटीएम के भागीदार व्‍यापारियों की दुकानों पर क्‍यूआर कोड रखे जा रहे हैं, ताकि इच्‍छुक निवेशक आसानी से आईपीओ के लिये आवेदन कर सकें। इस पहल से पूंजी बाजारों में रिटेल भागीदारी की वृद्धि में योगदान मिलेगा, क्‍योंकि लोगों को मुफ्त डीमैट खाते मिलेंगे।

पेटीएम मनी के प्रवक्‍ता ने कहा, “हमने पिछले कुछ वर्षों में पूंजी बाजारों में खुदरा निवेशक की बढ़ती भागीदारी देखी है और एलआईसी आईपीओ से इसमें और भी बढ़त होगी। यह देखते हुए कि अब कई नये उत्‍सुक निवेशक संपदा प्रबंधन की अपनी यात्रा शुरू करना चाहेंगे, हम देशभर में पेटीएम के व्‍यापारी भागीदारों के स्‍टोर्स पर अपने क्‍यूआर कोड रख रहे हैं, जिनसे मुफ्त डीमैट खाते मिलेंगे। इससे हजारों छोटे निवशकों को एक सुगम और अबाध तरीके से आईपीओ की यात्रा शुरू करने में मदद देकर उन्‍हें सशक्‍त करने के लिये पेटीएम मनी की सतत् प्रतिबद्धता का पता चलता है।

पेटीएम मनी देश का ऐसा पहला डिस्‍काउंट ब्रोकर बन चुकी है, जिसने हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल्‍स (एचएनआई) को यूपीआई के माध्‍यम से 5,00,000 रूपये तक के हायर बिड्स करने की अनुमति दी है, जिसके लिये उन्‍हें बैंक एएसबीए के प्रवाह में जाने की जरूरत नहीं है। इसके अलावा, ऐसे पॉलिसीधारकों के लिये एक अलग श्रेणी बनाई गई है, जो एलआईसी आईपीओ के लिये आवेदन करने के योग्‍य है। यह रिटेल निवेशक श्रेणी से अलग है। पेटीएम मनी ने प्री-ओपन आईपीओ आवेदन को भी सक्षम किया है, जिसकी सहायता से लोग सब्‍सक्रिप्‍शन के लिये उसके खुलने से पहले भी आवेदन कर सकेंगे। ऐसे आवेदनों को पेटीएम मनी के सिस्‍टम में रिकॉर्ड किया जाएगा और आईपीओ के लाइव होते ही एक्‍सचेंजों में भेजा जाएगा।

आईपीओ के अलावा, पेटीएम मनी संपदा प्रबंधन और व्‍यापार के एक समग्र प्‍लेटफॉर्म का काम करती है, जिसका उपयोग लोग स्‍टॉक्‍स, एफ एंड ओ, ओपन एपीआई ट्रेडिंग, ईटीएफ, डायरेक्‍ट म्‍युचुअल फंड्स, एनपीएस वेल्‍थ कम्‍युनिटी, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विसेस और वेल्‍थ एकेडमी में निवेश के लिये कर सकते हैं। यह प्‍लेटफॉर्म भारत में रिटेल निवेशकों और एडवांस्‍ड व्‍यापा‍रियों को सेवा देता है और एक साल में 100 मिलियन से ज्‍यादा ट्रांजेक्‍शंस को प्रोसेस करता है।

इस प्‍लेटफॉर्म ने संघटित रूप से 8.5 लाख से ज्‍यादा ट्रेडिंग अकाउंट्स और 9 मिलियन रजिस्‍टर्ड डायरेक्‍ट म्‍युचुअल फंड निवेशकों के साथ तेज वृद्धि दर हासिल की है। इस प्‍लेटफॉर्म पर 75% से ज्‍यादा यूजर्स 35 साल से कम उम्र के हैं। पेटीएम मनी का कुल 11000 करोड़ रूपये का एयूएम है और औसत दैनिक टर्नओवर 70,000 करोड़ रूपये का है। पिछले एक  साल में इस प्‍लेटफॉर्म ने 16.2 मिलियन से ज्‍यादा म्‍युचुअल फंड्स ट्रांजेक्‍शंस प्रोसेस किये हैं और 31 मिलियन से ज्‍यादा इक्विटी ऑर्डर्स प्रोसेस किये हैं। यह प्‍लेटफॉर्म 1 लाख से अधिक रजिस्‍टर्ड यूजर्स के साथ फिनटेक ऐप्‍स पर भारत में एनपीएस के टॉप 3 डिजिटल वितरकों में से एक भी है। पेटीएम वेल्‍थ कम्‍युनिटी के पास 1.3 लाख से ज्‍यादा यूनिक यूजर्स हैं और उसने 390 लाइव इवेंट्स को होस्‍ट किया है, जिनका 3000 से ज्‍यादा घंटे का कंटेन्‍ट देखा गया है। पिछले साल इस प्‍लेटफॉर्म पर सबसे लोकप्रिय आईपीओ थे ज़ोमैटो, ग्‍लेनमार्क लाइफसाइंसेस, पेटीएम, जबकि यूजर्स के टॉप स्‍टॉक्‍स थे टाटा मोटर्स, टाटा पावर, आईटीसी।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा