आशा आयुर्वेदा को लगा 1.6 लाख का चूना, Practo Company ने की धोखाधड़ी

 

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 24 जून 2022, नई दिल्ली। मेडिकल टेक्नोलॉजी सेक्टर में देश में काफी प्रयोग हो रहे है , ये काफी जरुरी भी है। मान्नीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी भी काफी प्रोत्साहित कर रहे हैं, कि मेडिकल सेक्टर  से ज्यादा टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होना चाहिये। लेकिन डॉ को टेक्नोलॉजी फील्ड का कम ज्ञान होने की वजह से उनके साथ काफी ठगी के मामले सामने आ रहे है। ऐसा ही हुआ आशा आयुर्वेदा के साथ।  Practo नामक कंपनी ने 1.6 लाख रूपये ले के सर्विस नहीं दी, और देना बंद कर दिया। जब कंपनी से बात करने की कोशिश की गयी तो ये कह कर बात को दबा दिया की। यदि खाने का आर्डर किया है।  तो उसका बिल तो देना ही होगा और यह खाना वापस  वापस नहीं होगा जैसे उद्धहरण देकर डॉक्टर चुप करा दिया। ऐसी लूट चलती रही तो देश में मेडिकल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल एक सपना ही रह जायेगा। अब ऐसे केश में डॉक्टर कोर्ट के चक्कर लगाएगा या फिर  अपने मरीजों संभालेंगा , आप ही बताएं भला डॉक्टर क्या करेगा।  टेक्नोलॉजी के नाम  हो रही लूट को रोकने के लिए देश में सख्त कानून की आवश्यकता है।  वर्ना prato जैसी कंपनी देश को एक ऐसे अविश्वास में धकेल देंगी जिससे बहार निकलना नामुमकिन हो जायगा।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया