गुरुपूर्णिमा पर श्रीगुरु पूर्णिमा उत्सव मनाया

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 6 जुलाई 2022, नई दिल्ली। जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर अनन्त श्री विभूषित पूज्यपाद स्वामी अवधेशानन्द गिरि जी महाराज पूज्य आचार्यश्री जी के पावन सान्निध्य में गुरुपूर्णिमा पर विविध आयोजनों की श्रृंखला दिनांक 3.7.2022 को सिरीफोर्ट ऑडिटोरियम, नई दिल्ली में श्रीगुरु पूर्णिमा उत्सव मनाया गया।  इस अवसर पर अपने आशीर्वचन में "पूज्य आचार्यश्री जी" ने कहा कि आध्यात्मिक बल विषम परिस्थितियों के निवारण में सहायक है और वह गुरु से प्राप्त होता है। ज्ञानबल और आत्मबल के समक्ष हमारी समस्त सम्पदा, वर्चस्व और बाहुबल आदि निस्तेज हो जाते हैं। सफल से सफल और महान से महान व्यक्ति को भी यह अनुभूत होता है कि हमारी भौतिक समृद्धि ही सब कुछ नहीं है। जो हमारे अंतःकरण से अंधकार का क्षय करे, जो दुर्बोध को सुबोध बना दे वही गुरु है। आलोक का उत्सव है, प्रकाश का उत्सव है, हमारी अनन्तता को उजागर करने का उत्सव है। 

गुरु वह है जो हमारे यथार्थ से हमें परिचित करवा दे।  पूज्य गुरुदेव जी के अनुसार हमें मन कर्म और वाणी से सत्यनिष्ठ रहना चाहिए। हमेशा इष्ट के स्मरण में रहें क्योंकि ईष्ट हमारा अनिष्ट नही होने देता।  इस अवसर पर सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ. विन्देश्वर पाठक जी, महामण्डलेश्वर पूज्य स्वामी अपूर्वानन्द जी, महामण्डलेश्वर पूज्य स्वामी ललितानन्द जी, महामण्डलेश्वर पूज्य स्वामी गणेशानन्द जी, आदरणीय श्री किशोर काया जी, श्री सुभाष कपूर जी, श्रीमती बिन्दू दत्ता, लाडली फाउंडेशन के श्री देवेन्द्र गुप्ता जी समेत बड़ी संख्या में प्रशासनिक अधिकारी, लेखक - विचारक, सामाजिक कार्यकर्ता और श्रद्धालु भक्तगण उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा