सैमसंग इंडिया ने किया भारतीय इनोवेटर्स की नई पीढ़ी का अनावरण

◆ सॉल्व फॉर टुमॉरो प्रतियोगिता की टॉप-50 टीमों के साथ किया 

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 29 अगस्त 2022, गुरुग्राम। सैमसंग इंडिया ने आज अपनी जेन-ज़ी शिक्षा और इनोवेशन प्रतियोगिता 'सॉल्‍व फॉर टुमॉरो' की टॉप-50 टीमों की घोषणा की। भारत में पहली बार आयोजित की जा रही इस युवा प्रतियोगिता को देशभर से बहुत अच्‍छी प्रतिक्रिया मिली है और शिक्षा, पर्यावरण, स्‍वास्‍थ्‍य और कृषि जैसे क्षेत्रों में भारत के सामने मौजूद चुनौतियों से निपटने में मदद के लिए प्रतियोगियों ने अपने आइडिया प्रस्‍तुत किए हैं। प्रतियोगिता के अंत में, तीन राष्‍ट्रीय विजेताओं को आईआईटी दिल्‍ली के विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में अपनी आइडिया को अगले स्‍तर पर ले जाने के लिए एक करोड़ रुपए तक की वित्‍तीय सहायता और छह महीने तक मार्गदर्शन समर्थन प्राप्‍त करने का मौका मिलेगा।

प्रतियोगिता में आवेदन करने वाले प्रतिभागियों ने पिछले वर्ष की घटनाओं सहित समाज के सभी क्षेत्रों से अपने नवाचारों के लिए प्रेरणा ली है, जिसमें अपशिष्ट प्रबंधन, बिजली और पानी की बर्बादी, महासागरों में प्लास्टिक कचरा, स्पीच डिसऑर्डर, कृषि समस्‍याओं के साथ ही साथ महामारी की भविष्यवाणी और एक किफायती ईसीजी डिवाइस बनाना आदि शामिल है। टीमों द्वारा सुझाए गए कई समाधान रोबोटिक्स, कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI) और ऑग्‍मेंटेड रियल्‍टी (AR) जैसे नए जमाने की तकनीकों का उपयोग करेंगे। टॉप-50 टीमों में, 62 प्रतिशत स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल की समस्‍याओं को हल करना चाहते हैं, 22 प्रतिशत पर्यावरण के आसपास की चुनौतियों से निपटना चाहते हैं, 10 प्रतिशत कृषि क्षेत्र की समस्‍याओं पर केंद्रित हैं, जबकि 6 प्रतिशत शिक्षा के मुद्दों को हल करना चाहते हैं।

चुनी गई 50 टीमें, जिनमें युवाओं की उम्र 16 से 22 वर्ष के बीच है, अब 'सॉल्‍व फॉर टुमॉरो' के अगले चरण में हैं, जहां वे अपने आइडिया को और विकसित करेंगे। आईआईटी दिल्‍ली में सैमसंग के नॉलेज पार्टनर फाउंडेशन फॉर इन्‍नोवेशन एंड टेक्‍नोलॉजी ट्रांसफर (FITT) की मदद और विशेषज्ञता के साथ, 50 टीमों को अपने आइडिया को आगे बढ़ाने में मदद के लिए मार्गदर्शन दिया जाएगा। इस चरण में, उन्‍हें ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के साथ ही साथ आईआईटी दिल्‍ली में एक बूटकैंप के माध्‍यम से डिज़ाइन थ‍िंकिंग कॉन्‍सेप्‍ट पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। तीन दिवसीय बूटकैंप के दौरान 50 टीमों में से प्रत्‍येक को आईआईटी दिल्‍ली से एक कैंपस मित्र को नियुक्‍त किया जाएगा।

श्री पार्थ घोष, वाइस प्रेसिडेंट, कॉरपोरेट सिटीजनशिप, सैमसंग इंडिया, ने कहा, “सैमसंग में, हम अगली पीढ़ी को उनकी पूरी क्षमता और सामाजिक बदलाव में अग्रणी बनने के लिए सशक्‍त बनाते हैं और समर्थन करते हैं। सॉल्‍व फॉर टुमॉरो प्रोग्राम भविष्‍य के युवा नवोन्‍मेषकों को एक बेहतर कल के निर्माण के लिए मार्गदर्शन, समर्थन और विजन प्रदान कर उनकी यात्रा में मदद करता है। हमें प्राप्‍त हुए 18,000 से ज्‍यादा रजिस्‍ट्रेशन को देख हम काफी उत्‍साहित हैं। हमने जिन टॉप-50 टीमों का चयन किया है, वे प्रतियोगिता के अगले चरण में जाएंगी और हम ये देखने के लिए उत्‍सुक हैं कि आगे चलकर डिजिटल इंडिया को सशक्‍त बनाने में उनके आइडिया कैसे आकार लेते हैं। बूटकैंप के साथ, टॉप-50 टीमों को भागीदारी का प्रमाण पत्र और डिज़ाइन थिंकिंग, स्‍टेम, इनोवेशन, लीडरशिप आदि में ऑनलाइन पाठ्यक्रमों के लिए 100,000 रुपए मूल्‍य के वाउचर प्रदान किए जाएंगे। प्रोफेसर रंगन बनर्जी, डायरेक्‍टर, आईआईटी दिल्‍ली ने कहा, “सैमसंग की सॉल्‍व फॉर टुमॉरो पहल भारत के इनोवेशन ईकोसिस्‍टम को मजबूत बनाने में मदद करेगी। देश में इनोवेटर्स की संख्‍या बढ़ाने के लिए इस तरह के प्‍लेटफॉर्म बहुत महत्‍वपूर्ण हैं। यह देखना आश्‍चर्यजनक है कि युवा दिमाग देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में समस्‍याओं को हल करने वाले आइडिया के साथ आगे आए हैं। हमें उम्‍मीद है कि सॉल्‍व फॉर टुमॉरो भारतीय युवाओं को एक टिकाऊ भविष्‍य बनाने के लिए सशक्‍त बनाएगा।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा