मथुरा-वृंदावन नगर निगम ने चलाया सफाई अभियान

  

• यह अभियान वर्ष के प्रारंभ में मथुरा में रेसिटी के साथ मिलकर शुरू की गई पूर्ण नामक पहल का हिस्‍सा है 

• वृंदावन में वृंदावन रेलवे स्टेशन के पास सफाई अभियान चलाया गया जिसमें, वृंदावन में स्‍थानीय निवासियों, कॉलेज छात्रों, बाजार संगठनों के सदस्यों, धार्मिक संस्थानों और स्कूलों- हेरीटेज पब्लिक स्‍कूल और सांदिपनी मुनी स्‍कूल के स्‍वयंसेवक शामिल हुए।

• 2022 के आखिरी तक मथुरा के 3 वार्ड में 100 विशिष्‍ट वेस्‍ट प्रोफेशनल तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 4 अगस्त 2022मथुरा। पेप्सिको की जनकल्‍याणकारी शाखा पेप्सिको फाउंडेशन द्वारा ठोस कचरे के निपटान हेतु हाल ही में शुरू की गई पूर्ण नामक पहल के भाग के रूप में, सबसे ज्‍यादा भीड़-भाड़ वाले वृंदावन रेलवे स्टेशन के पास एक ओपन डंप यार्ड में सफाई अभियान का आयोजन किया गया। इस अभियान में मथुरा वृंदावन नगर निगम (एमवीएनएन) ने सहयोग दिया, और इसमें शहर के निवासियों, कॉलेज के छात्रों, मार्केट एसोसिएशन और धार्मिक संस्थानों के सदस्यों सहित वालंटीयरों ने भाग लिया। सफाई अभियान में तकरीबन 100 वालंटीयरों ने भाग लिया, जो अपने शहर को साफ-सुथरा, हरा-भरा और कुशल ठोस कचरा प्रबंधन का एक उत्‍कृष्‍ट मॉडल बनाने के लिए मिलकर काम करने के लिए लोगों को एकजुट करना चाहते थे। यह सफाई अभियान जिम्मेदारीपूर्ण कचरा निपटान व्यवहार और शहर में कचरा फैलाने के ईकोलॉजीकल खतरों के बारे में जागरूकता लाने के लिए मथुरा वृंदावन में ठोस कचरा प्रबंधन की सबसे महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक को शुरू करने का एक प्रयास था। पेप्सिको फाउंडेशन इस पहल के जरिये अपने वेस्‍ट वर्कफोर्स को वेस्‍ट प्रोफेशनलों में बदलने के साथ-साथ प्लास्टिक कचरा प्रबंधन का एक सर्कुलर, उचित एवं समावेशी मॉडल विकसित करके मथुरा-वृंदावन को भारत के सबसे स्वच्छ शहरों में से एक बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

श्री अनुनया झा, आईएएस नगर आयुक्त मथुरा-वृंदावन ने इस सफाई अभियान की शुरुआत करते हुए कहा, “हम पूर्ण कर टीम को उनकी दूसरी पहलों के बीच इस अनूठी पहल के लिए बधाई देते हैं, जिसने सुरक्षित कचरा निपटान तकनीकों और कचरे को अलग-अलग करने के महत्व पर जागरूकता का मार्ग प्रशस्त किया है।  शहर में अगस्त-सितंबर में सबसे अधिक पर्यटक आते हैं, जिससे शहर के मौजूदा कचरा प्रबंधन संसाधनों पर दबाव काफी बढ़ जाता है। ऐसे समय में, यह जरूरी हो जाता है कि बतौर नागरिक, हम अपने शहर को साफ रखने की जिम्मेदारी संभालने के लिए अपनी कमर कस लें। इस सफाई अभियान का उद्देश्‍य लोगों को उनकी जिम्मेदारी से अवगत कराना, हमारे वेस्‍ट वर्करों को कुशल बनाना और हमारे शहरों में उनके रोज के काम का आकलन करना।

सुश्री जूही गुप्ता, हेड सस्टेनेबिलिटी, पेप्सिको इंडिया ने अभियान पर कहा, “पेप्सिको में, हम एक ऐसी दुनिया बनाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं, जहां प्लास्टिक को कभी वेस्‍ट नहीं बनने दिया जाता। पूर्ण अभियान के भाग के रूप में, हमारा प्रयास मथुरा-वृंदावन को प्लास्टिक की सर्कुलेरिटी हासिल करने, हमारे वेस्‍ट वर्करों को प्रोफेशनल बनाने और लोगों के बीच प्रचलित लैंगिक असमानता और आर्थिक विषमता के मुद्दों का समाधान करने में मदद करना है। इस प्रोजेक्‍ट के लिए मथुरा-वृंदावन नगर निगम और रेसिटी नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड के साथ हमारी साझेदारी में 100 विशिष्‍ट वेस्‍ट प्रोफेशनल तैयार करना शामिल है जो 2022 के अंत तक मथुरा में समान सर्कुलर कचरा प्रबंधन प्रणाली बनाकर शहर का कायाकल्‍प कर सकते हैं। यह सफाई अभियान लोगों को एकजुट करने और उस बदलाव की दिशा में आगे बढ़ने का प्रयास है, जिसके हम अगुवा हैं। 

श्री विवेक दवे, प्रोजेक्ट लीड, पूर्ण ने इस अवसर पर कहा, “पूर्ण नामक पहल जुड़वा शहरों के वेस्‍ट ईकोसिस्‍टम  से जुड़े विभिन्‍न हितधारकों को एक साथ लाने और प्लास्टिक एवं ठोस कचरा प्रबंधन के सर्कुलर के उचित तथा समावेशी मॉडल का विजन हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस स्वच्छता अभियान में शहर के प्रशासन, पेप्सिको फाउंडेशन और जनता के समर्थन को देखकर हम गदगद हैं। हम आगामी महीनों में इस जर्नी को आगे बढ़ाने को लेकर काफी उत्साहित हैं जिसमें विभिन्न ऑन-ग्राउंड कार्यक्रम, हितधारक संपर्क बैठकें और फोरम आयोजित किए जाएंगे, और बड़े पैमाने पर फैलाने के लिए आईईसी चलाया जाएगा।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा