फिल्म समीक्षा : ब्रह्मास्त्र पार्ट वन शिवा (स्टार 5 में से 4 नंबर वाली फिल्म)


शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 9 सितम्बर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844फिल्म समीक्षक : (रेहाना परवीन) नई दिल्ली। 3D फिल्म ब्रह्मास्त्र पार्ट वन शिवा 9 सितंबर 2022 को प्रदर्शित होने वाली फेंटेसी एडवेंचर फिल्म है। जिसे अयान मुखर्जी द्वारा लिखित और निर्देशित किया गया है। यह फिल्म करण जौहर, अपूर्व मेहता, नमित मल्होत्रा, और अयान मुखर्जी द्वारा धर्मा प्रोडक्शंस, स्टारलाईट पिक्चर्स और प्राइम फोकस के बैनर तले स्टार स्टूडियोज के सहयोग से निर्मित है। और स्वतंत्र रूप से रणबीर कपूर और मारिजके देसूजा द्वारा सह-निर्मित है। फिल्म में ब्रम्हा (अमिताभ बच्चन), शिव (रणबीर कपूर), ईशा (आलिया भट्ट), नंदी अस्त्र (मौनी रॉय) आर्टिटेक इंजीनियर (अक्किनेनी नागार्जुन),रवीना (राशी मल), आईटी इंजीनियर (शाहरुख खान), डिंपल कपाड़िया, प्रतीक बब्बर, दिव्येंदु, सिद्धांत घेगडमल, विशाल करवाल, सौरव गुर्जर, इत्यादि बड़े कलाकार फिल्म में नजर आएंगे। फिल्म में हिन्दू संगठनों को लगता है की फिल्म ब्रह्मास्त्र पार्ट वन शिवा ने उनकी भावना को आहात पहुंचाई है इसलिए फिल्म का विरोध कर रहे हैं। यह विरोध तब शुरू होता है जब फिल्म के ट्रेलर में रणबीर कपूर के इंट्रोडक्शन सीन में उन्हें मंदिर में जूते पहने दिखाया गया है. यह चीज जब नोटिस की तब से फिल्म को लेकर बवाल मच गया। फिल्म की कहानी में ब्रह्मास्त्र ऐसा अस्त है जिसपर दुनिया चलती है उसकी शक्ति शिवा के पास आ जाती है और शक्ति को नंदी अस्त्र अपने देव गुरु के लिए प्राप्त करना चाहती है। उसी को लेकर पूरी फिल्म चलती है।  फिल्म मनोरंजक है, दर्शकों को बांधकर रखती है। पर यह फिल्म तब ज्यादा अच्छी लगेगी जब इस फिल्म को धर्म, आस्था, समय, इत्यादि ऐसे चश्में को छोड़कर केवल 3D चश्में से दर्शक फिल्म देखें तो लगभग 167 मिनट सिनेमा हॉल में गुजर जाएगा पता ही नहीं चलेगा। में तो इस फिल्म को धर्म, आस्था, समय, इत्यादि ऐसे चश्में को छोड़कर केवल 3D चश्में से देखा इसलिए इस फिल्म को स्टार पांच में से चार नंबर देती हूँ।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा