योग सर्वांग सुन्दर बनाने की कला है : प्रमिला सिंह

 

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 26 सितम्बर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, गाजियाबाद। टी.एम.एल.पी. एवं होलिस्टिक लाइफ केयर फाउंडेशन के तत्वावधान में 4 दिवसीय नेचरोपैथ/क्लीजिंग थेरेपी आवासीय कैंप का भव्य शुभारंभ कल्पतरु आश्रम,छोटी गंगा के किनारे,चितौड़ा पुल के पास,मुरादनगर, ग़ाज़ियाबाद में डॉ पीयूष सक्सेना पी.एच डी.(नेचुरोपैथी) अमेरिका,प्रणेता किलीजिंग थेरेपी,सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (रिलायंस इंडस्ट्रीज) के सानिध्य में एवं सूत्रधार डॉ. यशपाल गुप्ता विशेषज्ञ किलींजिंग थेरेपी व कोर्डिनेटर उ.भारत) के नेतृत्व में किया गया। डा. यशपाल गुप्ता जी ने बताया कि किलींजिंग थेरेपी एक ऐसी विधा है जिससे ह्रदय रोग,जोड़ों का दर्द,लिवर व किडनी सम्बंधित 90% स्वास्थ्य समस्याओं और गंभीर रोगों का 100% इलाज हो जाता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

श्री अमरेश कुमार शर्मा (संस्थापक:मिरेकल मॉर्निंग) ने बताया कि जीवन में यदि हम आंतरिक अंगों को क्लीन करते हैं तो 90% बीमारी से बचे रहते हैं।इससे एनर्जी लेवल बढ़ेगा,नींद अच्छी आएगी,आंखों के नीचे झाइयां चली जाएंगी, हिमोग्लोबिन का लेवल ठीक होगा,कमर दर्द, गुर्दे की पथरी गल कर निकल जाएगी,महिलाओं की  पीसीओएस आदि समस्याएं ठीक होंगी। योग मर्मज्ञ श्री देवेन्द्र हितकारी ने डा सक्सेना का परिचय देने के साथ कहा कि क्लींजिंग थेरेपी के जनक डॉ. पीयूष सक्सेना के सान्निध्य में नेचुरोपैथी के कैम्प लगाए जाते हैं जिसमें विभिन्न रोगों से बचाव तथा उपचार की प्रक्रिया में बिना दवाई के हम अपने शरीर को रोगमुक्त कर सकते हैं। इसमें 28 प्रकार के क्लींजिंग आदि की प्रक्रिया द्वारा उपचार किया जाता है।इस थैरेपी के नियमित अभ्यास से धीरे धीरे दवाइयों की निर्भरता कम होती जाती है और शरीर पूरी तरह रोगमुक्त हो जाता है।क्लींजिंग थेरेपी स्वस्थ राष्ट्र की दिशा में एक सार्थक कदम है।

योगी प्रवीण आर्य,अखिल भारतीय ध्यान योग संस्थान के उपाध्यक्ष राजेश शर्मा एवं संस्थान की महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्षा श्रीमती प्रमिला सिंह जी ने शिविरार्थियों की सूक्ष्म व्यायाम,सूर्य नमस्कार,कपालभांति,प्राणायाम, अनुलोम विलोम एवं ध्यान का अभ्यास व हास्यासन कराया और इसके लाभों की चर्चा करते हुए बताया कि योग सर्वांग सुन्दर बनाने की कला है। डा राजन जी ने दूर दूर योग शिक्षकों,साधकों का समय से पहुंचने पर आभार व्यक्त किया। कैंप में उड़ीसा,कलकत्ता, मुंबई, उत्तर प्रदेश,पंजाब, हरियाणा, दिल्ली आदि प्रदेशों से शिविरार्थियों ने स्वास्थ्य लाभ हेतु भाग लिया। शांतिपाठ से सत्र  को संपन्न किया।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा