भीड़ भरी डिजिटल दुनिया में सुरक्षित रहने के लिए बचाव के उपाय

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 27 सितम्बर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844,नई दिल्ली। डिजिटल दुनिया का हिस्सा बने रहना अब कोई विलासिता नहीं, बल्कि एक जरूरत बन गई है। चाहे मैसेजिंग ऐप्स द्वारा कनेक्टेड रहना हो, शॉप चलाने के लिए पेमेंट्स ऐप का इस्तेमाल करना हो या फिर अपने व्यक्तिगत अपडेट ऑनलाईन साझा करने हों, व्यवसायों से लेकर व्यक्तियों तक, हम सभी अपनी-अपनी व्यक्तिगत और व्यवसायिक क्षमता में डिजिटल फोरम द्वारा जुड़े हुए हैं। लेकिन असली दुनिया की तरह ही डिजिटल दुनिया में भी हम सभी को अपनी सुरक्षा का ध्यान रखना जरूरी होता है।

व्हाट्सऐप के सुरक्षा उपाय यूज़र्स को अपने प्रियजनों के साथ कनेक्ट रहते हुए या अपने पसंदीदा व्यवसाय से बात करते हुए अपनी सुरक्षा और गोपनीयता को अपने हाथों में रखने में समर्थ बनाते हैं। नीचे व्हाट्सऐप की कुछ मूलभूत बातें दी जा रही हैं, जिनका पालन यूज़र्स को डिजिटल दुनिया में खुद को सुरक्षित रखने के लिए करना चाहिए:

संदेश को फॉरवर्ड करने से पहले अच्छी तरह से विचार कर लें: व्हाट्सऐप ने सभी फॉरवर्डेड संदेशों के लिए एक लेबल बनाया है और शेयर करने से पहले यूज़र्स को उन पर विचार करने की प्रेरणा देने के लिए उन्हें फॉरवर्ड किए जाने की संख्या को सीमित कर दिया है। यूज़र्स को यह ज्ञात होना चाहिए कि यदि उन्हें यह नहीं मालूम कि संदेश में दी गई जानकारी सत्य है या नहीं, या फिर उन्हें संदेश के स्रोत का पता नहीं है, तो फिर उन्हें इस संदेश को फॉरवर्ड नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह झूठी अफवाह हो सकती है।

जानकारी को फैक्ट-चेक कर लें: भारत में व्हाट्सऐप पर 10 स्वतंत्र फैक्ट-चेकिंग संगठन हैं, जो यूज़र्स को अपने प्लेटफॉर्म पर गलत जानकारी की पहचान, समीक्षा, सत्यापन और फैलने से रोकथाम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा व्हाट्सऐप अपने यूज़र्स को द पॉयंटर्स इंस्टीट्यूट के आईएफसीएन व्हाट्सऐप चैटबॉट को टैक्स्ट भेजकर जानकारी का सत्यापन करने में समर्थ बनाता है, जिसका उत्तर उन्हें संदेश या जानकारी की पुष्टि द्वारा प्राप्त होता है। यूज़र्स को एक बटन टच करके खबर का आकलन करना चाहिए और ज्यादा जागरुक बन जाना चाहिए।

टू-स्टेप वैरिफिकेशन इनेबल करें: व्हाट्सऐप यूज़र्स को टू स्टेप वैरिफिकेशन फीचर द्वारा अपने खाते में सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत जोड़ने में समर्थ बनाता है। इसके लिए व्हाट्सऐप अकाउंट को रिसेट करने और सत्यापित करने के लिए एक छः डिजिट पिन की जरूरत होती है। यदि सिम कार्ड चोरी हो जाए या फिर फोन में कोई सेंध लगा ले, तो यह बहुत उपयोगी फीचर है।

अनैच्छिक संपर्कों को ब्लॉक करें व रिपोर्ट करें: पारंपरिक एसएमएस से अलग, व्हाट्सऐप यूज़र्स को अकाउंट ब्लॉक करने का एक सरल तरीका प्रदान करता है। यूज़र्स को यदि संदिग्ध संदेश प्राप्त होते हैं, तो वो आसानी से व्हाट्सऐप को इसकी सूचना दे सकते हैं। इसके अलावा, व्हाट्सऐप लोगों को रिपोर्टेड संदेश अपने फोन में रखने का विकल्प देता है, ताकि वो उन्हें फैक्ट-चेकर्स या कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ साझा कर सकें। 

अपनी बातचीत को निजी रखें: ‘डिसएपियरिंग मैसेजेस’ जैसे फीचर्स द्वारा व्यक्तिगत या समूह की चैट में भेजे गए संदेश एक अवधि के बाद गायब हो जाते हैं, जो यूज़र्स चुनते हैं, तथा ‘व्यू वंस’ द्वारा यूज़र्स अपने फोटो और वीडियो भेज सकते हैं, जो खोले जाने के बाद चैट से गायब हो जाते हैं। इन फीचर्स द्वारा व्हाट्सऐप का उद्देश्य यूज़र्स को अपनी गोपनीयता का ज्यादा नियंत्रण प्रदान करना है। इसके अलावा, व्हाट्सऐप ने गोपनीयता की एक और परत जोड़ने के लिए इन संदेशों के लिए स्क्रीनशॉट विकल्प को डिसएबल कर दिया है।

ऑनलाईन क्या साझा किया जाता है, इसे अपने नियंत्रण में रखेंः हम ऑनलाईन दुनिया में रोज विनिमय करते हैं, इसलिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त हमारी व्यक्तिगत जानकारी और गोपनीयता की सुरक्षा आवश्यक है। संवेदनशील जानकारी, जैसे पता, फोन नंबर, पासवर्ड, क्रेडिट/डेबिट कार्ड के नंबर, और बैंक खाते की जानकारी किसी के साथ साझा नहीं की जानी चाहिए। व्हाट्सऐप पर यूज़र्स अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे प्रोफाईल फोटो, लास्ट सीन, ऑनलाईन स्टेटस, अबाउट, स्टेटस और ‘हू सी इट - एवरीवन, कॉन्टैक्ट्स ओनली, सलेक्ट कॉन्टैक्ट या नो वन’ आदि कंट्रोल कर सकते हैं।

आप अपनी ऑनलाईन प्रेज़ेंस कंट्रोल कर सकते हैं, आप चुन सकते हैं कि आप अपनी ऑनलाईन प्रेज़ेंस को कब प्राईवेट रखना चाहते हैं। व्हाट्सऐप एक फीचर प्रस्तुत कर रहा है, जिसके द्वारा आप चुन सकते हैं कि आप ऑनलाईन हैं, यह कौन देख सकता है और कौन नहीं। यह सुरक्षा की अतिरिक्त परत प्रदान करते हुए व्यू वंस मैसेजेस के लिए स्क्रीनशॉट ब्लॉकिंग को भी संभव बना रहा है। इस फीचर का परीक्षण किया जा रहा है और जल्द ही यह यूज़र्स को प्रदान कर दिया जाएगा। 

क्लिक करने या विश्वास करने के मामले में सावधान रहें: चाहे नौकरी का नकली ऑफर हो, या फिर कैश पुरस्कार जीतने का आश्वासन, या किसी अज्ञात और जाली नंबर से फुली स्पॉन्सर्ड ट्रिप की पेशकश, इंटरनेट पर स्पैम संदेशों, साईबर थ्रेट्स, और फ्रॉड्स की भरमार है। इन संदेशों में वेबसाईट का लिंक या फिर छिपे हुए मैलवेयर के साथ व्यक्तिगत जानकारी प्राप्त करने की अनुमति देने का निवेदन होता है। नेटिजंस की हमें जानकारी हो सकती है, पर यूज़र्स के इस तरह के घोटालों का शिकार बनने की संभावना होती है। इसलिए यह जरूरी है कि किसी भी लिंक पर क्लिक करने से पहले हम अच्छी तरह विचार कर लें। यदि आपको ऐसा संदेश व्हाट्सऐप पर मिला है, तो इस संदेश को फ्लैग करके व्यक्ति व्हाट्सऐप को ऐसे अकाउंट की जानकारी दे सकता है। ऐसा करने के लिए आप संदेश को लंबा प्रेस करें और इसे ‘रिपोर्ट’ या ‘यूज़र को ब्लॉक’ कर दें।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा