क्लींजिंग थेरेपी द्वारा बिना दवाई के शरीर को रोगमुक्त कर सकते हैं : देवेन्द्र हितकारी

 

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 29 सितम्बर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, गाजियाबाद। टी.एम.एल.पी. एवं होलिस्टिक लाइफ केयर फाउंडेशन के तत्वावधान में 4 दिवसीय नेचरोपैथ/क्लीजिंग थेरेपी एवं योग का आवासीय कैंप,कल्पतरु आश्रम,मुरादनगर,ग़ाज़ियाबाद में सोल्लास सम्पन्न हुआ। समारोह का शुभारंभ श्री प्रवीण आर्य,एवं सरदार सरबजीत सिंह के द्वारा गाए भजनों की प्रस्तुति से हुआ। डा पीयूष सक्सेना पी.एच डी.(नेचुरोपैथी) अमेरिका,प्रणेता किलीजिंग थेरेपी,सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (रिलायंस इंडस्ट्रीज) ने बताया कि क्लींजिंग थेरेपी की प्रासंगिक विधियों,नुस्खों को स्वयं पर,अपने माता पिता,पत्नी और पुत्र-पुत्री पर आजमाया है और उनके फायदों को जांचा परखा है। उन्होंने आगे कहा कि वे कोई फीस,डोनेशन आदि नहीं लेते और ना ही किसी कंपनी के उत्पादों का प्रचार प्रसार करते हैं।क्लींजिंग थेरेपी के प्रचार प्रसार से जनहित व आत्मसंतुष्टि ही उनका मुख्य ध्येय है।उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह हम टू व्हीलर,फॉर व्हीलर की सर्विस कराते हैं और सर्विस के बाद व्हीकल नए की तरह चलता है उसी सिद्धांथ पर हम शरीर पर कार्य कर रहे हैं।जीवन में यदि हम आंतरिक अंगों को क्लीन करते हैं तो 90% बीमारी से बचे रहते हैं।इससे एनर्जी लेवल बढ़ेगा,नींद अच्छी आएगी,आंखों के नीचे झाइयां चली जाएंगी,हिमोग्लोबिन का लेवल ठीक होगा,कमर दर्द, गुर्दे की पथरी गल कर निकल जाएगी,महिलाओं की  पीसीओएस आदि समस्याएं ठीक होंगी।

डॉ.यशपाल गुप्ता विशेषज्ञ किलींजिंग थेरेपी व कोर्डिनेटर उ.भारत) ने कहा कि क्लींजिंग से शरीर की खुद की मरम्मत करने की क्षमता अप्रत्याशित रूप से बढ़ जाती है और वह अंदर से मजबूत हो जाता है क्लींजिंग थेरेपी शरीर को स्वस्थ रखने के लिए एक आदर्श स्थिति उपलब्ध कराने का महत्वपूर्ण कार्य करती है क्लींजिंग थेरेपी के महत्वपूर्ण क्लींजर्स खासकर लीवर में किडनी क्लीन को आप सप्ताह भर के भीतर ही सफलता पूर्वक अमल में ला सकते हैं आपको इसके चमत्कारिक परिणाम दिखेंगे एक हफ्ते में ही आपको अपना पेट साफ ना होने की समस्या में सुधार दिखाई देगा आपको अच्छी नींद आएगी और शरीर दर्द से भी राहत मिलेगी साथ ही रक्त में हीमोग्लोबिन स्तर में बढ़त,लीवर की कार्य क्षमता में सुधार तथा पेट की विभिन्न समस्याओं का समाधान वगैरह भी देखने को मिलेगा।आप पेशियों में अस्थियों से जुड़ी समस्या में राहत महसूस करेंगे और पहले की अपेक्षा रोजाना कम से कम 3 घंटे ज्यादा काम कर सकेंगे।आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाएगा। अपने भीतर शरीर में ज्यादा शक्ति ऊर्जा का प्रत्यक्ष अनुभव होगा।

योग मर्मज्ञ श्री देवेन्द्र हितकारी ने कहा कि क्लींजिंग थेरेपी के जनक डॉ. पीयूष सक्सेना के सान्निध्य में जो नेचुरोपैथी के कैम्प लगाए जाते हैं उसमें विभिन्न रोगों से बचाव तथा उपचार की प्रक्रिया में बिना दवाई के हम अपने शरीर को रोगमुक्त कर सकते हैं। इसमें 28 प्रकार के क्लींजिंग आदि की प्रक्रिया द्वारा उपचार किया जाता है।इस थैरेपी के नियमित अभ्यास से धीरे धीरे दवाइयों की निर्भरता कम होती जाती है और शरीर पूरी तरह रोगमुक्त हो जाता है। श्री महेन्द्र सिंह भारद्वाज दिल्ली (क्लींजिंग थेरेपिस्ट) ने बताया कि सभी रोगों के  निवारण के लिए करेडा मशीन द्वारा जांच करके उसकी पूरी बॉडी स्कैन होने पर बॉडी वर्सल फैट,बीएमआर, बीएमआई,बॉडी एज से रोग का पता लगाकर क्लींजिंग थेरेपी द्वारा ठीक किया जा सकता है। श्री विनोद त्रिपाठी (विशेषज्ञ अवचेतन मन )ने कहा कि हम शरीर से कम और मन से अधिक बीमार रहते है,हमें अपने अवचेतन मन को कमांड देने की जरूरत है।हमें सौच लेना है कि अब हम स्वस्थ हो रहे हैं,नतीजतन हम स्वस्थ हो जाएंगे। इस अवसर पर श्रीमती प्रमिला सिंह,सर्वश्रीअमरेश शर्मा एवं डा राज आदर्श आदि ने भी अपने विचार रखे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा