शब्दवाणी समाचार पाठक संघ ने लगाया निशुल्क आखों का शिविर

◆ 600 से अधिक क्षेत्र के लोगों ने अपने आखों का जांच

◆ 250 से अधिक लोगों को आँखों का चस्मां निशुल्क दिया 

◆ 300 से अधिक लोगों को निशुल्क आखों की दवाइयां वितरण किया

◆ 30 से अधिक मोतियाबिंद के मरीज मिले 

◆14 मरीजों को ऑपरेशन के लिए तारा संस्थान के लोनी हॉस्पिटल में ले जाकर भर्ती कराया 

◆ शिविर का दौरा करने के लिए क्षेत्र के वार्ड 90 के पूर्व निगम पार्षद हाजी श्री आदिल मलिक, वार्ड 34 के पार्षद हाजी श्री मोहम्मद कल्लन के साथ गुलाबी आंदोलन की अध्यक्षा रेहाना परवीन ने किया

शब्दवाणी समाचार, सोमवार 26 सितम्बर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, ग़ाज़ियाबाद। शब्दवाणी समाचार (हिंदी दैनिक) के स्थाई पाठकों की समाजिक संस्था शब्दवाणी समाचार पाठक संघ दवारा संचालित भारतीय मतदाताओं का अपना जनसभा संसद के खंड 34, 82 और 90 के सदस्यों और तारा संस्थान ने क्षेत्र के जरूरतमंदों के लिए विशाल निशुल्क आखों का शिविर लगाया। जिसमें 600 से अधिक क्षेत्र के लोगों ने अपने आखों की जांच करवाया जिसमें 250 से अधिक लोगों को आँखों का चस्मां निशुल्क दिया गया। लगभग 300 से अधिक लोगों को निशुल्क आखों की दवाइयां वितरण किया। इस विशाल निशुल्क कैंप के माध्यम से 30 से अधिक मोतियाबिंद के मरीज मिले जिसमें से 14 मरीजों को ऑपरेशन के लिए तारा संस्थान के लोनी हॉस्पिटल में ले जाकर भर्ती कराया गया। खबर लिखे जाने तक सभी मरीजों के ऑपरेशन की तैयारी चल रही थी शाम तक सभी मरीजों का ऑपरेशन करके आज उनके घर भेज दिया जाएगा। विशाल निशुल्क आखों का शिविर का दौरा करने के लिए क्षेत्र के वार्ड 90 के पूर्व निगम पार्षद हाजी श्री आदिल मलिक, वार्ड 34 के पार्षद हाजी श्री मोहम्मद कल्लन के साथ गुलाबी आंदोलन की अध्यक्षा रेहाना परवीन ने किया। सभी ने जनसभा संसद के सदस्यों सहित तारा संस्थान के डॉक्टरों को धन्यवाद किया। 

इस अवसर पर जनसभा संसद सदस्य और आखों का शिविर कार्यक्रम अध्यक्ष से  किसी पत्रकार ने पूछा आप यह समाज सेवा का कार्य कर रहे हैं इस पर पत्रकार की बात माफी के साथ रोकते हुए कहा हम यह समाज सेवा नहीं समाज का कार्य कर रहे हैं। गरीब होना प्रकिति का नियम है कभी भी सभी लोग अमीर नहीं हो सकते इसलिए जो लोग यह कहते हैं यह लोग गरीब है इनके उप्पर फ्री के नाम पर कोई अहसन कर दें। तो वो लोग अब कान खोलकर सुन लें यह गरीब लोग अब समझ गए हैं वो लोग हम पर अहसान नहीं बल्कि हम उनको VVIP बनाकर उन पर अहसान करते हैं। जिस दिन यह गरीब लोग उनकी तरह संगठित होकर निर्णय लेने लगेगा तो उस दिन यह गरीब लोग अपने आप को VVIP मानने वाले को ही अपनी समाज सेवा करवानी पड़ेगी। कियोंकि हर VVIP मानने वाले को किसी भी रूप में धन और सम्मान इनके दवारा ही दिया जाता है। इसलिए अब कोई भी किसी को समाज सेवा नहीं समाज कार्य करना होगा। विशाल निशुल्क आखों का शिविर का संचालन जनसभा संसद के सदस्य श्री अब्दुल अज़ीज़, श्री शहिद हुसैन, श्री आशु मलिक, श्री फिरोज खान, श्री रियाजुद्दीन, श्री अब्दुल खलील, श्री मोहम्मद शकील, श्री अखलाख, श्री मोहम्मद ज़ीशान सैफी, श्री मोहम्मद अयाज़, श्री मोहम्मद शौकीन, श्री जावेद नियाजी, श्री मोहमाद सलमान, श्री कासिफ, श्री आसिफ मलिक, श्री परवेज़ आलम, श्री कफील, इत्यादि ने किया। 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा