केंद्रीय जल मंत्री ने वर्ष 2022 के लिए भूजल संसाधन आकलन की रिपोर्ट किया जारी

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 10 नवम्बर  2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री, श्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने आज वर्ष 2022 के लिए पूरे देश के लिए गतिशील भूजल संसाधन आकलन रिपोर्ट जारी की। यह आकलन केंद्रीय भूजल बोर्ड (सीजीडब्ल्यूबी) और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा संयुक्त रूप से किया गया था। विभिन्न हितधारकों द्वारा उपयुक्त हस्तक्षेप करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। 2022 की आकलन रिपोर्ट के अनुसार, पूरे देश में कुल वार्षिक भूजल पुनर्भरण 437.60 बिलियन क्यूबिक मीटर (बीसीएम) है और पूरे देश के लिए वार्षिक भूजल निकासी 239.16 बीसीएम है। इसके अलावा, देश में कुल 7089 मूल्यांकन इकाइयों में से, 1006 इकाइयों को 'अति-शोषित' के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

विश्लेषण 2017 के आकलन डेटा की तुलना में देश में 909 मूल्यांकन इकाइयों में भूजल की स्थिति में सुधार का संकेत देता है पूरे देश में कुल वार्षिक भूजल पुनर्भरण 437.60 बिलियन क्यूबिक मीटर (बीसीएम) है। पूरे देश के लिए वार्षिक भूजल निकासी 239.16 बीसीएम है कुल 7089 मूल्यांकन इकाइयों में से, 1006 इकाइयों को 'अति-शोषित' के रूप में वर्गीकृत किया गया है। सीजीडब्ल्यूबी और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के बीच इस तरह के संयुक्त अभ्यास पहले 1980, 1995, 2004, 2009, 2011, 2013, 2017 और 2020 में किए गए थे। मूल्यांकन से एकत्र की गई जानकारी का विस्तृत विश्लेषण भूजल पुनर्भरण में वृद्धि को इंगित करता है जिसका मुख्य कारण नहर के रिसाव से पुनर्भरण में वृद्धि, सिंचाई के पानी की वापसी प्रवाह और जल निकायों/टैंकों और जल संरक्षण संरचनाओं से पुनर्भरण के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। इसके अलावा, विश्लेषण 2017 के आकलन डेटा की तुलना में देश में 909 मूल्यांकन इकाइयों में भूजल की स्थिति में सुधार का संकेत देता है। इसके अलावा, अति-शोषित इकाइयों की संख्या में समग्र रूप से कमी और भूजल निष्कर्षण स्तर के स्तर में कमी भी देखी गई है। श्री पंकज कुमार, सचिव, जल संसाधन विभाग, नदी विकास और गंगा संरक्षण, जल शक्ति मंत्रालय; सुश्री देबाश्री मुखर्जी, विशेष सचिव, डीओडब्ल्यूआर, आरडी एंड जीआर; इस अवसर पर श्री सुबोध यादव, संयुक्त सचिव (ए, आईसी और जीडब्ल्यू) और श्री सुनील कुमार, अध्यक्ष, सीजीडब्ल्यूबी उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा