दिल्‍ली बैंक नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की 57वीं छमाही बैठक

◆ कार्यक्रम में पुरस्कार वितरण समारोह का भी आयोजन  

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 28 दिसम्बर  2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। दिल्‍ली बैंक नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की 57वीं छमाही बैठक सुश्री अंशुली आर्या(आईएएस), सचिव, राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार के मुख्य आतिथ्य में सफलतापूर्वक सम्पन्न हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री समीर बाजपेयी, अध्‍यक्ष-दिल्‍ली बैंक नराकास तथा मुख्य महाप्रबन्धक एवं अंचल प्रमुख (दिल्‍ली), पंजाब नैशनल बैंक ने की। इस अवसर पर विशिष्‍ट अतिथि श्री नरेन्द्र मेहरा, सहायक निदेशक(कार्यान्वयन), गृह मंत्रालय, भारत सरकार, श्री नरेन्द्र बजाज, प्रधानाचार्य, कार्मिक प्रशिक्षण केंद्र, दिल्ली, पंजाब नैशनल बैंक, श्रीमती मनीषा शर्मा, सदस्‍य-सचिव, दिल्‍ली बैंक नराकास एवं सहायक महाप्रबंधक (राजभाषा), पंजाब नैशनल बैंक दिल्ली बैंक नराकास के सभी  सदस्‍य बैंकों/बीमा कंपनियों/वित्तीय संस्‍थानों के स्‍थानीय कार्यालय प्रमुख व राजभाषा प्रभारी भी उपस्थित रहे।

बैठक में श्रीमती मनीषा शर्मा, सदस्‍य-सचिव, दिल्‍ली बैंक नराकास एवं सहायक महाप्रबंधक (राजभाषा), पंजाब नैशनल बैंक ने दिल्ली बैंक नराकास की गतिविधियों एवं नवोन्मेषी कार्यों से सभी को अवगत करवाया एवं राजभाषा के उत्थान के लिए सभी से निरंतर प्रयास करने हेतु अनुरोध किया। बैठक के दौरान दिल्ली बैंक नराकास की गृह पत्रिका “बैंक भारती” के 28वें अंक तथा पीएनबी अंचल कार्यालय, नई दिल्ली की पत्रिका “दीपस्तंभ” एवं यूनियन बैंक, दिल्ली की पत्रिका “यूनियन महक” का विमोचन भी किया गया। इस अवसर पर दिल्‍ली बैंक नराकास राजभाषा शील्ड एवं अन्य प्रतियोगिताओं के विजेता कार्यालयों एवं प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। द्वितीय सत्र में, दिल्ली बैंक नराकास के स्टाफ सदस्यों ने काव्य पाठ द्वारा सभी को मंत्रमुग्ध किया। प्रतिभागियों को उनके उत्क़ृष्ट प्रदर्शन हेतु पुरस्कृत भी किया गया।इस अवसर पर सुश्री अंशुली आर्या, सचिव(आईएएस), राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार ने दिल्ली बैंक नराकास को “राजभाषा कीर्ति प्रथम पुरस्कार” प्राप्त होने के लिए बधाई दी तथा भविष्य में इस उपलब्धि को भविष्य में बनाए रखने के लिए भी निर्देश दिए| उन्होंने दिल्ली बैंक नराकास के राजभाषा हिंदी के उत्थान के लिए किए जा रहे कार्यों की भी सराहना की। उन्होंने आगे कहा कि राजभाषा हिंदी के प्रचार प्रसार में बैंकों, बीमा कम्पनियों एवं वित्तीय संस्थाओं का महत्वपूर्ण योगदान होता है। राजभाषा हिंदी के प्रगामी प्रयोग के लिए हमें नवोन्मेष युक्तिओं को अपनाना होगा। उन्होने स्टाफ सदस्यों को प्रशिक्षित करने हेतु पारंगत पाठ्यक्रम एवं कंठस्थ ई-टूल्स को अधिक से अधिक प्रयोग में लाने के निदेश दिए। श्री नरेन्द्र मेहरा, सहायक निदेशक(कार्यान्वयन), गृह मंत्रालय, भारत सरकार, ने कहा कि हमें मूल रूप से हिंदी में कार्य को बढ़ावा देना चाहिए।  

श्री समीर बाजपेयी, अध्‍यक्ष-दिल्‍ली बैंक नराकास एवं अंचल प्रबंधक (दिल्‍ली) ने दिल्ली बैंक नराकास को “राजभाषा कीर्ति प्रथम पुरस्कार” प्राप्त होने पर सभी सदस्य कार्यालयों को आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह आप सभी के संयुक्त प्रयासों से ही संभव हो पाया है| उन्होंने सचिव महोदया को आश्वस्त क्या कि दिल्‍ली बैंक नराकास भविष्य में भी राजभाषा हिंदी की प्रगति के लिए हर संभव प्रयास करेगा| सभी सदस्य कार्यालयों से अनुरोध किया कि वे राजभाषा हिंदी के अधिकाधिक विकास के लिए हरसंभव प्रयास करें ताकि दिल्‍ली बैंक नराकास, सर्वश्रेष्‍ठ नराकासों में अपने स्‍थान को उच्च से उच्चतम की ओर ले जा सकें। इस कार्यक्रम का कुशल मंच संचालन श्री बलदेव कुमार मल्होत्रा, मुख्य प्रबंधक, पंजाब नैशनल बैंक द्वारा किया गया। अंत में श्री नरेन्द्र बजाज, प्रधानाचार्य, कार्मिक प्रशिक्षण केंद्र, दिल्ली, पंजाब नैशनल बैंक द्वारा दिए गए धन्‍यवाद ज्ञापन के साथ ही बैठक सम्पन्न हुई।


Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

बबीता फोगट WFI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए गठित ओवरसाइट कमेटी पैनल में शामिल

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा