विप्रो कंज्‍यूमर केयर ने फूड सेगमेंट में रखा कदम

◆ प्रतिष्ठित पैकेज्‍ड फूड एवं स्‍पाइसेस ब्रांड निरापारा को खरीदा 

◆ अधिग्रहण के साथ, विप्रो कंज्‍यूमर केयर पैकेज्‍ड फूड्स एवं स्‍पाइसेस (मसालों) की श्रेणी में एक महत्‍वपूर्ण कंपनी बनने की इच्‍छुक है।

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 21 दिसम्बर  2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। विप्रो कंज्‍यूमर केयर एंड लाइटिंग ने निरापारा के साथ एक निर्णायक अनुबंध की घोषणा की है। निरापारा केरल में सबसे अधिक बिकने वाले पारंपरिक फूड ब्रांड में से एक है। यह अधिग्रहण विप्रो द्वारा भारत में खाद्य व्‍यावसाय के क्षेत्र में कदम रखने की घोषणा करने के बाद उठाया गया कदम है। विप्रो स्‍नैक फूड, मसालों एवं रेडी-टु-कुक बाजार में एक महत्‍वपूर्ण कंपनी बनना चाहती है। भारत में एफएमसीजी क्षेत्र में एक व्‍यापक पोर्टफोलियो बनाने के लिए, विप्रो कंज्‍यूमर ने निरापारा के साथ साझेदारी की है ताकि खाद्य उत्‍पादों की विस्‍तृत श्रृंखला का उत्‍पादन किया जा सके। इसकी शुरुआत मसालों और रेडी-टु-कुक उत्‍पादों से की जाएगी जोकि दुनिया भर में ग्राहकों के लिए शानदार गुणवत्‍ता के फूड के समानार्थी हैं। निरापारा को 1976 में लॉन्‍च किया गया था और यह अपने मिश्रित मसालों, खासतौर से सांभर पाउडर एवं चिकन मसाला के लिए मशहूर है। इसे केरल के हर घर में अवश्‍य मौजूद रेडी-टु-कुक पुट्टु पोडी के लिए भी जाना जाता है।

श्री विनीत अग्रवाल, सीईओ, विप्रो कंज्‍यूमर केयर एंड लाइटिंग एवं एक्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर, विप्रो एंटरप्राइजेज, ने इस अधिग्रहण पर कहा, “निरापारा हमारा 13वां अधिग्रहण है और इससे हमें मसालों एवं रेडी टु कुक सेगमेंट में स्‍पष्‍ट उपस्थिति मिलती है। हम एक बड़े सेगमेंट में प्रवेश करते हुए उत्‍साहित हैं जिसमें तेजी से विकास करने की संभावना है। हमारा 63 प्रतिशत बिजनेस केरल से और 8 प्रतिशत शेष भारत तथा 29 प्रतिशत विदेशी बाजारों, खासकर जीसीसी देशों से आता है।

श्री अनिल चुग, प्रेसिडेंट, फूड बिजनेस, विप्रो कंज्‍यूमर केयर एंड लाइटिंग ने इस अधिग्रहण पर अपनी बात रखते हुए कहा, “हमें पता है कि भारत में खाना बनाने में मसालों का बहुत महत्‍व है और मसालों के मिश्रण हर क्षेत्र में वहां की पसंद के अनुसार अलग-अलग होते हैं। इस सेगमेंट में काफी बड़ा अवसर है जोकि ग्राहकों को असंगठित बाजर से संगठित बाजर में ला सकता है। इसके लिए ग्राहकों को असली, शुद्ध और भरोसेमंद मसालों के मिश्रण की पेशकश करनी होगी। इसलिए हम इन गतिशील जरूरतों को पूरा करना चाहते हैं और ग्राहकों को बेहद स्‍वच्‍छ तरीके से पैक किया गया एक प्रमाणिक सेलेक्‍शन प्रदान करना चाहते हैं जोकि भारतीय स्‍वाद के बिल्‍कुल अनुकूल हो। उन्‍होंने यह भी कहा, “रेडी टु कुक (आरटीसी) श्रेणी एक आकर्षक स्‍पेस है और यह भारतीय ग्राहकों को उनके क्षेत्रीय स्‍वाद से जुड़ी प्राथमिकताओं के मुताबिक ढेरों बेहतरीन उत्‍पाद प्रदान कर सकती है। ग्राहकों एवं बाजार को लेकर हमारी मजबूत समझ के साथ ही हमारा सुदृढ़ वितरण नेटवर्क इस सेगमेंट को कई गुणा बढ़ाने में मदद करेगा। निरापारा के अधिकांश पोर्टफोलियो में ऐसे उत्‍पाद शामिल हैं जिन्‍हें केरल के ग्राहकों द्वारा रोजाना खाया जाता है और वे इन्‍हें बहुत पसंद भी करते हैं। ब्रांड तरह-तरह के मसालों के मिश्रण और चावल के पाउडर बनाने में अग्रणी है। इन उत्‍पादों का उपयोग अप्‍पम, इडियाप्‍पम, पुट्टु, डोसा, इडली आदि बनाने में किया जाता है।

Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा

तुलसीदास जयंती पर जानें हनुमान चालीसा की रचना कैसी हुई : रविन्द्र दाधीच