किशोरीलाल फाउंडेशन ने अटल बिहारी वाजपेई के जन्मदिन पर किया समारोह

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 28 दिसम्बर  2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्लीकिशोरीलाल फाउंडेशन ने दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई जी के जन्मदिन के अवसर पर स्वर्णिम वर्ष में स्वर्णिमता की ओर बढ़ता भारत नामक विषय पर सेमिनार एवं अटल अवार्ड 2022 सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में श्री संत प्रकाश पूर्व राष्ट्रीय प्रशिक्षण प्रभारी भाजपा, डॉक्टर जितेंद्र मोहन भारद्वाज अतिरिक्त निदेशक सुरक्षा राज्य सभा, श्री मनोज वर्मा वरिष्ठ पत्रकार संसद टीवी जगदंबा सिंह दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा पूर्वांचल प्रकोष्ठ एवं एसएम आसिफ राष्ट्रीय अध्यक्ष राष्ट्रीय अल्पसंख्यक फ्रंट सहित कई जाने-माने हस्तियों ने अपने विचार व्यक्त किए कार्यक्रम में समाज सेवा एवं पत्रकारिता जगत के महान हस्तियों को अटल अवार्ड 2022 से सम्मानित किया गया

भाजपा नेता संत प्रकाश ने बताया कि अटल जी को किस प्रकार विपक्ष के नेता होते हुए भी यूएन और वियाना कांफ्रेंस में भारत की बात रखने केलिए भेज और वहा उन्होंने किस तरह हिंदी में भारत की बात रखी जिसकी  विश्व में सरहना की गई।अटल जी को आज भी कई पक्ष और विपक्ष के नेता अपना आदर्श मानते हैं। अटल जी एक राजनेता ही नही विचारक, पत्रकार,कवि समाज सेवी और राजनेता थे, उन्होंने अपनी  सरकार को बचाने के लिए कभी समझोता नही किया एक वोट से सरकार गिर गई।उन्होंने देश पहले,राजनीति बाद में का सभी  नेताओ को नसीहत भी दी। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार अटल जी के बताए रास्ते पर ही चलकर देश को विकास की दृष्टि से आगे लेकर चल रही है आज का जो विषय है स्वर्णिम वर्ष में स्वर्णिम ता की ओर बढ़ता भारत सही साबित हो रहा है देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी देश को कई ऊंचाइयों पर लेकर गए हैं और निरंतर प्रयासरत रहते हैं सबका साथ सबका विकास के कथन को साथ लेकर देश विकास की दिशा में आगे बढ़ता रहे

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉक्टर जितेंद्र मोहन भारद्वाज अतिरिक्त निदेशक सुरक्षा राज्यसभा ने कहा कि जन जन के नेता अटल बिहारी वाजपेई जी का जीवन देश हित और राजनीतिक सुचिता का जीता जागता उदाहरण है। वाजपाई जी के आदर्शो और दिखाए गए मार्ग पर चल कर ही आज भाजपा अपने इतिहास के स्वर्णिम काल में है। आजादी के अमृत महोत्सव काल में आज भारत का डंका पूरे विश्व में बज रहा है। आज देश प्रगति के जिस पथ पर अग्रसित है उसका स्वप्न अटल जी ने देखा था और उनके बताए रास्ते और सिद्धांतो पर चल कर भारत ने पूरे विश्व में अपनी धाक जमायीं है। अटल जी की विदेश नीति का लोहा उनके धुर विरोधी भी मानते थे और उनकी विदेश नीति के सिद्धांतो को अंगीकार करते हुए आज भारत जी20 की मेजबानी करने के लिए तैयार है। इंफ्रास्ट्रक्चर के अंतर्गत सड़को का जाल हो या नदियों को जोड़ना हो चाहे देश की रक्षा का प्रश्न हो पूरे विश्व के विरोध के बावजूद भी देश को परमाणु शक्ति संपन्न बनाना हो या कारगिल युद्ध में अपनी एक एक इंच जमीन को दुश्मनों से कैसे छिना जाता है उनके दृढ़ संकल्प का परिचायक था। आज उसी सिद्धांत पर चल कर देश चीन और पाकिस्तान के साथ साथ विश्व की अन्य महा शक्तियों की आंखों में आंखे डाल कर बात कर रहा है। अटल जी ने अपने जीवन काल में इंसानियत और जम्हूरियत का शिद्दत से पालन किया उनका यही सिद्धांत उनके कद को सभी राजनेताओं से कही उपर रखता है। कुशल वक्ता, लेखक, कवि, राजनेता और समाजसेवक सभी रूपों में उन्होंने अपनी अमिट छाप छोड़ी है। उनके भाषण उनके विचार आज भी उतने ही प्रासंगिक है जितने उस वक्त थे। ये उनके ऊंचे कद का ही परिणाम है जब उनकी अंतिम यात्रा में देश का प्रधानमंत्री अपनी कैबिनेट और कई राज्यों के मुख्यमंत्रीयों के साथ पैदल चला हो। अटल जी अपने कार्यों के कारण ही समस्त देश वासियों के ह्रदय सम्राट बने। उनके दिखाए मार्ग पर चल कर ही आज देश आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक और रक्षा क्षेत्र में चहुंमुखी विकास की और अग्रसित है। देश की विकास यात्रा में समस्त देशवासियों का सहयोग ही अटल जी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

संसद टीवी के वरिष्ठ पत्रकार मनोज वर्मा ने कहा कि स्वर्णिम वर्ष में स्वर्णिमता की ओर भारत बढ़ रहा है उसका कारण देश में पूर्ण बहुमत की मजबूत सरकार का होना है। मनोज वर्मा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न  अटल बिहारी वाजपेयी सहज सरल और संवेदनशील राजनीतिज्ञ, सहृदय व्यक्तित्व के धनी, भावपूर्ण कवि और प्रख्यात पत्रकार थे, जिनके मन में सदैव देश सर्वोपरि रहता था। सबको साथ लेकर चलना उनकी सबसे बड़ी खूबी था और इसीलिए अटल जी को उनके विरोधी भी सम्मान देते थे उनका आदर करते थे । अटल जी के प्रधानमंत्रित्व काल में जिन परियोजनाओं पर काम किया गया वही अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासनकाल में धरातल पर उतर रही हैं। अटल जी का एक  सपना अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के रूप में पूरा हो रहा  है तो दूसरी ओर जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त हो चुकी है।प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी के शासनकाल में आगे बढ़ते कार्यों में अटल जी के कार्यों और विचारों की छाप भी देखने को मिल रही है। बात चाहे विदेश नीति की हो देश की अर्थनीति की हो या गांव गरीब किसान की हो देश इन क्षेत्रों में विकास के साथ टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक नया स्वर्णिम इतिहास लिख रहा है ।

इस अवसर पर उपस्थित भाजपा दिल्ली प्रदेश, पूर्वांचल मोर्चा के उपाध्यक्ष एवं युग सरोकार पत्रिका के संपादक जगदंबा सिंह ने कहा कि भारत के स्वर्णिम भविष्य को को लेकर अटल जी का एक सपना थाl प्रधानमंत्री रहते हुए उन्होंने उस सपने को पूरा करने के लिए काफी हद तक प्रयास कियाl प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी की सरकार अटल जी के सपने को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है l अटल जी अकसर कहा करते थे कि गाड़ी का पहिया जितना तेज घूमेगा, विकास की रफ्तार उतनी ही तेज होगीl प्रधानमन्त्री ग्राम सड़क योजना एवं नेशनल हाईवे का विकास उनका बहुत ही महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट था l इस काम को वर्तमान सरकार और आगे बढ़ाने में लगी हुई है l परमाणु परीक्षण  कार्यक्रम के पीछे उनकी सोच यह थी कि जब ताकत बढ़ती है तो दुनिया सम्मान करने लगती है और हुआ भी ऐसा हीl अटल जी को यह भली भाँति पता था कि परमाणु परीक्षण के बाद अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध भी झेलने पड़ेंगे, इस बात को ध्यान में रखकर उन्होंने इससे निपटने की तैयारी पहले से ही कर रखी थी, इसीलिए प्रतिबंधों के बावजूद भारत को दुनिया के समक्ष झुकना नहीं पड़ा l इस कार्यक्रम मे समाज सेविका पूजा शर्मा जी को उनके उल्लेखनीय कार्यो के लिए अटल अवार्ड द्वारा सम्मानित किया गया पूजा शर्मा जी लोगों को संबोधित करते हुए अपने संघर्षों की दास्तान भी लोगों को बताई और फ्यूचर मे भी अपनी समाज सेवा से बेसहारा बुजुर्ग, मानसिक रोगी, शारीरिक रोगी , बेबस महिलाओ की सेवा करने का और सेवा को आगे बढ़ाने का विचार रखा पूजा शर्मा जी Bright the Soul Foundation नामक एक संस्था चलाती है उनका अनाथ आश्रम, वृद्ध आश्रम, नारी निकेतन, है!

इसके अलावा पूजा शर्मा जी लावारिश लाशों का दाह संस्कार करती है जो कि उनको पुलिस व सरकारी हॉस्पिटलो द्वारा सोपी जाती है! कार्यक्रम में संस्था के अध्यक्ष कुलदीप शर्मा ने सहयोगी कंपनियों ओएनजीसी, इंडियन ऑयल, भारत पैट्रोलियम, ऑयल इंडिया, हिंदुस्तान पैट्रोलियम, ईआईएल, गैल, पावर फाइनेंस कारपोरेशन, एवं एसजेवीएन का आभार व्यक्त करते हुए भविष्य में भी संस्था को इसी तरीके का सहयोग देने की अपेक्षा की है और उन्होंने कहा है कि जिस तरीके से देश के नवरत्नों में कंपनियों का नाम गिना जा रहा है कंपनियां भी तरक्की करते हुए देश के विकास में अपने महत्वपूर्ण भूमिका  निभा रही है कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में पत्रकार समाजसेवी एवं बुद्धिजीवी वर्ग के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। 

Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

बबीता फोगट WFI के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए गठित ओवरसाइट कमेटी पैनल में शामिल

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा