बीएलके-मैक्स ने स्पाइन सर्जरी के लिए आधुनिक इंटीग्रेटेड रोबोटिक सिस्टम का किया अनावरण

\शब्दवाणी समाचार, वीरवार 15 दिसम्बर  2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844,  नई दिल्ली। देश में आधुनिक तकनीकों से युक्त चिकित्सा प्रणाली लाते रहने के उद्देश्यों को जारी रखते हुए उत्तर भारत के अग्रणी चिकित्सा सेवा प्रदाता बीएलके- मैक्स सुपर स्पेशलटी हॉस्पिटल ने आज स्पाइन सर्जरी के लिए भारत के सबसे आधुनिक इंटीग्रेटेड रोबोटिक सिस्टम का अनावरण किया। यह तकनीक बेहद आधुनिक सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म है जिसे स्पाइन सर्जरी की सुरक्षा एवं सटीकता बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह तकनीक स्पाइन सर्जरी में बेहद मददगार है, जहां उत्कृष्ट परिणामों के लिए सटीकता बेहद ज़रूरी होती है। इस तकनीक में मुश्किल सर्जरी के दौरान स्पाइन की एनाटमी देखने के लिए आर्टीफिशियल इंटेलीजेन्स का उपयोग किया जाता है। रोबोटिक सर्जरी डेटा इंटीग्रेशन को सुनिश्चित करती है, जिसकी मदद से डॉक्टर मरीज़ की ज़रूरत के अनुसार सर्जरी का कस्टमाइज़ प्लान बना सकता है। इंटीग्रेटेड स्पाइनल रोबोट को इस तरह प्रोग्राम किया जाता है कि यह स्पाइनल सर्जरी को नेविगेट कर सके। इसके अलावा यह एकमात्र रोबोटिक सिस्टम है जो सर्जिकल नेविगेशन और रोबोटिक गाइडेन्स से लैस है। जिसके चलते यह स्पाइन सर्जन के लिए बेहद फायदेमंद होता है। यह सिस्टम सर्जरी में पूरी दक्षता और सटीकता को सुनिश्चित करता है। रोबोटिक सर्जरी, प्रक्रिया को योजना के मुताबिक सटीक तरीके से अंजाम देने में मदद करती है। 

आयोजित एक प्रेस सम्मेलन के दौरान डॉ पुनीत गिरधर, सीनियर डायरेक्टर एण्ड हैड, ऑर्थोपेडिक स्पाइन सर्जरी, बीएलके- मैक्स सुपर स्पेशलटी हॉस्पिटल एवं डॉ अनिल कंसल-सीनियर डायरेक्टर एवं हैड, न्यूरो सर्जरी एण्ड न्यूरो स्पाइन- बीएलके- मैक्स सेंटर फॉर न्यूरोसाइन्सेज़, बीएलके- मैक्स सुपर स्पेशलटी हॉस्पिटल, नई दिल्ली ने इंटीग्रेटेड रोबोटिक सिस्टम के बारे में बताया।  डॉ गिरधर ने हाल ही में रोबोटिक नेविगेशन सिस्टम की मदद से 10 जटिल स्पाइन सर्जरियां की हैं, जिनमें 100 फीसदी सफल परिणाम मिले हैं। ये सभी मरीज़ सर्जरी के बाद उसी दिन बिना दर्द के चलने लगे। हाल ही में उन्होंने 71 वर्षीय मरीज़, श्री भारत भूषण कामरा की सर्जरी की जो प्रशिक्षित क्लासिकल डांसर एवं रिटायर्ड गज़टेड ऑफिसर हैं। उनकी पीठ में तेज़ दर्द रहता था, उनकी स्पाइनल नर्व्स में गंभीर कम्प्रेशन हो चुका था, जिसकी वजह से उन्हें चलने-फिरने में परेशानी होती थी। वे सर्जरी कराने से डरते थे, हालांकि उनके मामले में बीमारी अडवान्स्ड स्टेज तक पहुंच चुकी थी, ऐसे में सर्जरी के अलावा कोई विकल्प नहीं था। आज के आधुनिक दौर में रोबोटिक स्पाइनल सर्जरी सबसे सुरक्षित तरीका है, जो पूरी सटीकता को सुनिश्चित करता है। इसमें न सिर्फ अच्छे परिणाम मिलते हैं, बल्कि सर्जरी में जटिलता की संभावना भी बहुत कम हो जाती है। श्री कामरा के मामले में, उन्हें काउन्सलिंग के द्वारा रोबोटिक सर्जरी के फायदे बताए गए, जिसके बाद उनकी सफल रोबोटिक स्पाइनल मिस्टाईल सर्जरी की गई। अगले ही दिन से उन्होंने बिना दर्द के चलना शुरू कर दिया। रोबोटिक तकनीक की मदद से स्पाइनल वर्टेबरा में सटीक तरीके से प्रक्रिया को अंजाम दिया गया। सर्जरी के दौरान खून का नुकसान बहुत कम हुआ। हमने मिनिमल इनवेसित तकनीक से सर्जरी पूरी की।’ डॉ पुनीत गिरधर ने बताया। 

डॉ अनिल कंसल ने कहा, ‘‘रोबोटिक असस्टेड सर्जरी में जटिल प्रक्रिया भी आसान हो जाती है, इसमें बहुत अच्छे परिणाम मिलते हैं। ज़्यादातर मामलों में स्पाइन सर्जरी में इस बात का डर रहता है कि स्क्रू ठीक से प्लेस किए जा सकेंगे या नहीं। किंतु रोबोटिक सर्जरी में यह समस्या पूरी तरह से हल हो जाती है और स्क्रू सटीक तरीके से प्लेस किए जा सकते हैं, जिससे जल्दी एवं अच्छे परिणाम मिलते हैं।’’ डॉ कंसल ने बताया। इस अवसर पर डॉ मृदुल कौशिक, सीनियर डायरेक्टर, ऑपरेशन्स एण्ड प्लानिंग और चीफ़ ऑपरेटिंग ऑफिसर, क्लस्टर-1, मैक्स हेल्थकेयर ने कहा मैक्स हैल्थकेयर आधुनिक तकनीकों के उपयोग के द्वारा मरीज़ों की सुरक्षा को बढ़ाने, उन्हें उपचार के सर्वश्रेष्ठ परिणाम उपलबध कराने और उन्हें उत्कृष्ट अनुभव प्रदान करने के लिए प्रयासरत रहा है। रोबोट असिस्टेड सर्जरी सर्जनों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, जिसका उपयोग तकरीबन सभी स्पेशलटीज़ में किया जा रहा है। हमें खुशी है कि हम बीएलके-मैक्स हॉस्पिटल में स्पाइन सर्जरी के लिए भारत के सबसे आधुनिक इंटीग्रेटेड स्पाइनल रोबोट नेविगेशन सिस्टम के लॉन्च के साथ अपने रोबोटिक सर्जरी प्रोग्राम का विस्तार करने जा रहे हैं। वर्तमान में मैक्स हेल्थकेयर देश के सबसे बड़े स्वास्थ्यसेवा प्रदाताओं में से एक है, जिसके नेटवर्क के अस्पतालों में 15 रोबोटिक सिस्टम हैं। हमारे नेटवर्क के अस्पतालों में अब तक 4000 से अधिक रोबोटिक सर्जरियां की जा चुकी हैं। 

Comments

Popular posts from this blog

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा

तुलसीदास जयंती पर जानें हनुमान चालीसा की रचना कैसी हुई : रविन्द्र दाधीच