जम्मू-कश्मीर में कोई भेदभाव नहीं होगा : कैट

शब्दवाणी समाचार शनिवार 31 अगस्त 2019 नई दिल्ली। जम्मू और कश्मीर में धारा 370 के हटने के बाद इस हिस्से में यापार को कैसे बड़ाया जा सकता है जम्मू कश्मीर में व्यापारी किस प्रकार सरकार के साथ सहयोग कर सकतें है को लेकर कन्फ़ेडरेशनऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्ज़ (कैट) का एक प्रतिनिधिमंडल चेंबर ऑफ ट्रेडर्स फेडरेशन जम्मू के व्यापारी नेताओं के साथ केंद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री एवं पीएमओ में राज्य मंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह से नई दिल्ली में मिला और जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में इसे कैसे व्यापार एवं लघु उधयोग को व्यापार की बड़ी सम्भावनाएँ दी जा सकती है पर विस्तृत चर्चा की ।



कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीण खंडेलवाल ने दोनों मंत्रियों को बताया कि शेष भारत के व्यापारी अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में व्यापार के बड़े अवसर देखते हैं, लेकिन निश्चित रूप से सरकार को जम्मू-कश्मीर को देश के सबसे अच्छे व्यापारिक केंद्रों में से एक बनाने की सहायक नीतियों को बनाने की आवश्यकता है । अब  जम्मू-कश्मीर के व्यापारियों को भारत के बाकी हिस्सों में अपना कारोबार बढ़ाने का पर्याप्त अवसर मिलेगा 
प्रतिनिधिमंडल ने यह भी सुझाव दिया कि जम्मू-कश्मीर में जम्मू-कश्मीर व्यापार समन्वय कमेटीका गठन किया जाए जो यहाँ कारोबारी माहौल बनाने में काफ़ी मददगार साबित होगी क्योंकि  व्यापारियों को समाज के सभी वर्गों के विश्वास प्राप्त है  और व्यापारी एक सकारात्मक भूमिका निभा सकते हैं उन्होंने जोर देकर कहा कि कश्मीर में सेब का मौसम  है और जम्मू के व्यापारियों ने बड़ी मात्रा में कश्मीर में सेव के लिए निवेश किया हुआ है और यह सेव कश्मीर से जम्मू पहुँचे इसके लिए सरकार को सुविधा प्रदान करनी चाहिए । बाजारों में खराब होने वाले फलों को लाना सबसे महत्वपूर्ण है। जम्मू हब, कोल्ड स्टोरेज और अच्छी तरह से संरेखित परिवहन प्रणाली होने के कारण, भारत भर के सभी महत्वपूर्ण बाजारों में सेव आदि को भेजा जा सकता है, जिससे करोड़ों रुपए की वस्तुओं को बर्बाद होने से बचाया जा सकता है।
प्रतिनिधिमंसाल से बात करते हुए श्री पीयूष गोयल ने जम्मू-कश्मीर में व्यापार के बारे में कैट  द्वारा उठाए गए मुद्दों की सराहना की और कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर में व्यापार और वाणिज्य की वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है और जम्मू कश्मीर को बाकी देश के लिए  एक आकर्षक व्यापारिक केंद्र  बनाने के लिए सभी उपाय करेगी। देश में उद्योग और बेहतर व्यापार के अवसरों के लिए जम्मू और कश्मीर की ओर ध्यान केंद्रित करना सरकार की प्राथमिकता में है उन्होंने सरकार के सभी समर्थन के प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया।
 डॉ जितेंद्र सिंह ने प्रतिनिधिमंडल से बात करते हुए स्पष्ट रूप से कहा कि अब जम्मू-कश्मीर या लद्दाख के किसी भी क्षेत्र में कोई भेदभाव नहीं होगा और सरकारी योजनाओं के समान अवसर और लाभ सभी को मिलेंगे । उन्होंने यह भी कहा कि सरकार जम्मू-कश्मीर की धरती का स्वर्ग  फिर से बहाल करने के लिए प्रतिबद्ध है और यह सुनिश्चित करेगी कि व्यापार और वाणिज्य को बढ़ावा मिले, जो जम्मू-कश्मीर की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देगा। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार की योजना है कि जम्मू कश्मीर  में विभिन्न क्षेत्रों की अत्याधुनिक सुविधाओं की स्थापना की जाए। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए व्यापारियों को एक प्रमुख भूमिका निभानी होगी और इसके लिए उन्होंने  व्यापारिक समुदाय से सहयोग मांगा।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया