थापर बिल्डर्स ने गाजियाबाद दिल्ली एनसीआर में अर्थाह में निवासियों के लिए द्वार खोले

शब्दवाणी समाचार वीरवार 08 अगस्त 2019 नई दिल्ली। थापर बिल्डर्स की रेजीडेंषियल काॅम्पलेक्स परियोजना लोगों के लिए उपलब्ध है। इस आवासीय परिसर को इस महीने के षुरू में गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) से समापन प्रमाण पत्र मिला। निवासियों के लिए 3300 वर्ग मीटर के ओपन एरिया के साथ यह राश्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सबसे बड़ी रियल एस्टेट परियोजनाओं में से एक है और इसका मकसद उत्कृश्टता एवं आरामदायक सुविधाओं के संदर्भ में नया मानक स्थापित करना है।
वैषाली इलाका दिल्ली के प्रमुख परिवहन और काॅमर्स हब से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। नियोजित इन्फ्रास्ट्रक्चर 103 मीटर लंबी इमारत पर तैयार किया गया है, जो गाजियाबाद में सबसे ऊंचा टावर है। अर्थाह परियोजना में 26 फ्लोर वाले 132 लक्जरी अपार्टमेंट हैं, जहां ग्राहक सभी सुविधाओं के साथ 1बीएचके, 2बीएचके, स्टूडियो और 3बीएचके सेमी-फर्निष्ड स्पेस से चयन कर सकते हैं। इनमें आधुनिक डिजाइन वाले 84 लक्जरी होम्स और 48 स्टूडियो अपार्टमेंट हैं। ये अपार्टमेंट थ्री-साइड ओपन प्लाॅट पर निर्मित हैं, जिससे उन्हें रोड-फेसिंग व्यू के साथ साथ गार्डन व्यू मिल रहा है। सभी फ्लैट वास्तु के अनुसार श्रेश्ठ विषेशताओं से संपन्न हैं और उन्हें निवासियों के लिए स्वच्छ एवं नए परिवेष की पेषकष के लिए सजाया गया है।
अर्थाह इसका बेमिसाल उदाहरण है कि भारत में आगामी रेजीडेंषियल प्लानिंग किस तरह से बनाई जानी चाहिए। प्रख्यात रियल एस्टेट कंपनी द्वारा विकसित और देष की प्रमुख आर्कीटेक्चर फर्म द्वारा डिजाइन वाला यह अंतर्राश्ट्रीय मानक वाला परिसर उसके निवासियों को महज एक घर देने के साथ साथ एक खास अनुभव भी प्रदान करता है। 
परियोजना को शानदार तरीके से डिजाइन किया गया है क्योंकि यह एक समय में 300 वाहनों तक के लिए स्पिलिट लेवल पार्किंग स्पेस, निवासियों की सुविधा के लिए  3 हाई-स्पीड एलीवेटरों, बच्चों के लिए खेल का मैदान, इंडोर गेम्स, लिए कम्युनिटी हाॅल, टेनिस और बैडमिंटन कोर्ट, जिम के साथ क्लबहाउस, और स्वीमिंग पूल की पेषकष करती है। सभी सुरक्षा मानकों में सामान्य सेवा, अग्नि सुरक्षा, और निगरानी का भी खयाल रखा गया है।
थापर बिल्डर्स के निदेषक गौतम थापर ने कहा, 'हम यह बताने के लिए बेहद उत्साहित हैं कि यहां 10 परिवारों ने रहना षुरू किया है और हम उम्मीद कर रहे हैं कि इस दिवाली तक लगभग 100 परिवार यहां रहने लगेंगे। अर्थाह हमारे इतिहास का अभिन्न हिस्सा बन गया है, क्योंकि हम इसके अर्थ को समझते हैं और उम्मीद है कि यह निवासियों को षहरी जिंदगी की श्रेश्ठ गुणवत्ता मुहैया कराने वाली एक संपूर्ण आवासीय परियोजना साबित होगी।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता