50% से अधिक भारतीय छात्र दिवाली की छुट्टियों में कुछ नया सीखने की कोशिश करना पसंद करते 

शब्दवाणी समाचार वीरवार 31 अक्टूबर 2019 नई दिल्ली। जबकि देश भर के स्कूलों में सेशन परीक्षाएं खत्म होने वाली हैं और त्योहारी सीज़न आने के साथ, दुनिया के सबसे बड़े पीयर-टू-पीयर शिक्षण समुदाय, ब्रेनली ने अपने भारतीय यूज़र-बेस पर यह पता करने के लिए एक सर्वे किया है कि छात्र अपने उत्सव की छुट्टियां कैसे बिताने की योजना बनाते हैं। 1200 से अधिक छात्रों की भागीदारी के साथ, जिनमें से ज्यादा बड़े पैमाने पर देश के टियर-2 और टियर-3 शहरों से हैं, रिपोर्ट में जानकारी दर्ज की गई और इस बात पर प्रतिक्रिया ली गई कि आने वाली छुट्टियों के संदर्भ में ये युवा छात्र क्या सोचते हैं।



37.2% छात्रों ने जवाब दिया कि वे आगामी सेमेस्टर की तैयारी करने में अपनी दिवाली की छुट्टियों का सही उपयोग करेंगे, जबकि 25% से अधिक छात्रों ने बताया कि वे अपने परिवार के साथ जश्न मनाएंगे और 22.5% से अधिक छात्रों ने कहा कि वे उनके साथ यात्रा करेंगे। इसके अलावा, 53.9% से अधिक छात्रों ने कहा कि वे इस समय के दौरान ऐसी गतिविधियों के लिए उत्सुक हो सकते हैं, जिनमें उनके पाठ्यक्रम के विषयों के अलावा विभिन्न विषयों पर शोध करना शामिल हो। उनमें से 70.9% से अधिक ने कहा कि वे छुट्टी के शुरू होने से ठीक पहले शिक्षकों से उन्हें मिले होमवर्क असाइनमेंट को पूरा करेंगे।
दिलचस्प बात यह है कि, छात्र इन छुट्टियों के दौरान अपने कौशल और क्षमताओं को तराशने की भी उम्मीद कर रहे हैं। चाहे यह नई भाषा सीखना हो, खेल-संचालित कौशल में शामिल होना, और कला, शिल्प और खाना पकाने का अभ्यास करना। और इन सब के बीच, 55.7% से अधिक छात्रों मानते हैं कि आगामी सेमेस्टर की तैयारी में उनके माता-पिता उनकी मदद करेंगे, और उन्हें ज्यादा प्रभावी शिक्षण पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इन आंकड़ों से पता चलता है कि जबकि हर छात्र इस छोटी छुट्टी को लेकर अलग-अलग योजनाएं बनाता लगता है, फिर भी सीखने-संबंधी बातें और उपाय अभी भी उनमें से अधिकांश के लिए प्राथमिकता हैं।
इस सर्वे के पीछे की जानकारी साझा करते हुए, मिचेल बोर्कोवस्की, सीईओ, ब्रेनली ने टिप्पणी की, “भारत उन विभिन्न उत्सवों के लिए प्रसिद्ध है जो ऐतिहासिक रूप से इसकी विविध संस्कृति की याद दिलाते हैं। दिवाली जैसे त्योहारों के शुरू होने के साथ, हर कोई छुट्टियों के इन कुछ दिनों को बिताने की योजना के साथ तैयार है। यह युवा बच्चों के लिए भी सही है, क्योंकि वे न केवल मज़े करते हैं, बल्कि अपने कौशल और क्षमताओं को आकार देने, और अपने ज्ञान को बढ़ाने में भी अपना समय और ऊर्जा लगाते हैं। अपने शोध के माध्यम से, हम छात्रों की अपेक्षाओं और उनके द्वारा बनाई गई योजनाओं को समझने का प्रयास करते हैं। हमने कई महत्वपूर्ण समानताओं और पैटर्न की पहचान की। हमारा लक्ष्य हमेशा ही ब्रेनली के माध्यम से बेहतर महत्व देने के लिए इन जानकारियों का लाभ उठाना, और सीखने को सहयोगी, आकर्षक और मजेदार काम बनाने पर जोर देना रहता है।
अनिवार्य रूप से, सीखने की दिशा में अपने अनोखे सहकर्मी दृष्टिकोण के ज़रिये, ब्रेनली दुनिया भर में छात्रों के अकादमिक संदेहों को दूर करने और किसी विषय की गहन समझ देने के लिए उनके लिए एक अतिरिक्त कोच की भूमिका निभाता है। विद्यार्थियों के विशाल नेटवर्क को सीखने का फ्लेक्सिबल और सर्वव्यापी अनुभव देकर, ऑनलाइन शिक्षा का यह वैश्विक लीडर लगातार भारत भर के छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों और विशेषज्ञों के बीच वैकल्पिक अकादमिक शिक्षण के लिए सबसे पसंदीदा चैनल के रूप में बढ़ रहा है।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

जिला हमीरपुर के मौदहा में प्रधानमंत्री आवास योजना में चली गांधी की आंधी