ग्रेटर नोएडा में पंचायत के फरमान पर पहले पीटा, फिर जहर देकर मार डाला

शब्दवाणी समाचारवार 08 दिसम्बर 2019 नई दिल्ली। गांव नगला हुकुम सिंह में एक युवक को पंचायत के फरमान पर पीटने और इसके बाद जहर देकर मारने का मामला सामने आया है। जहरीले पदार्थ के सेवन से दम तोड़ने वाले युवक के मरने से पहले दिए गए बयान का वीडियो सामने आने के बाद एसएसपी के आदेश पर पुलिस ने दो महिला और पूर्व प्रधान समेत के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की है। नगला हुकुम सिंह निवासी किशन सिंह ने दर्ज कराई गई रिपोर्ट में कहा है कि उनका बेटा सतीश (22) 19 अक्तूबर को किसी काम से घर से बाहर निकला था। इसी दौरान पड़ोसी राजीव, उसकी पत्नी ललिता, पुत्र राहुल, राजू और मनीष ने सुनील को राजीव के घर में बंद कर पीटा।



इसके बाद सुनील को पुलिस बुलाकर थाने में बंद करा दिया। अगले दिन 20 अक्तूबर को सुनील को थाने से छोड़ दिया गया। इसी दिन दोपहर 2 बजे राजीव, उसकी पत्नी ललिता और पूर्व प्रधान सतपाल सिंह ने पंचायत बुलाई।
पंचायत में मुख्य पंच सतपाल सिंह, बच्चू सिंह, ज्योति और हरिकिशन ने फरमान सुनाया कि सुनील को राजीव और उसकी पत्नी द्वारा पीटा जाए। इसके बाद राजीव और ललिता ने बांधकर सुनील को पीटा। ललिता ने सुनील की चप्पलों से पिटाई की। इसके बाद राजीव ने धमकी दी कि अभी उसका मकसद पूरा नहीं हुआ है।
आरोप है कि इसके बाद 24 अक्तूबर को राजीव ने अपने घर में खींचकर सुनील को जहर पिला दिया। हालत बिगड़ने पर सुनील को जेवर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां सुनील ने अपने बयान दिए, जिसे मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया गया।
इस मामले में थाना पुलिस के कार्रवाई नहीं करने पर परिजन ने एसएसपी से शिकायत की। अब, एसएसपी के आदेश पर सतपाल, बच्चू सिंह, ज्योति, हरिकिशन, राजीव, ललिता के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।



Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

मीडिया प्रेस क्लब का वार्षिक कलैंडर हुआ विमोचन