इमेजिनएक्सपी ने वर्चुअल एजुकेशन काउंसिलिंग मेला 2021 लॉन्च किया

● विश्वविद्यालय में पढ़ने के आकांक्षी और उनके माता-पिता भविष्य के कौशल में करियर और उच्च शिक्षा के अवसरों को समझ सकें

● महामारी की दूसरी लहर के साथ डिग्री प्रोग्राम के आकांक्षी प्रगति मैदान में आम तौर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की तरह नियमित शिक्षा मेलों में जा नहीं सकते। इस कमी को दूर करने के लिए व छात्रों और उनके माता-पिता को भविष्य के कौशल में करियर के लिए सही डिग्री चुनने में मदद करने के लिए इमेजिनएक्सपी ने वर्चुअल ईसीएम (ECM) लॉन्च किया है

● 30 जून 2021 तक प्रत्येक बुधवार, शनिवार, रविवार को शाम 5:00 बजे से छात्रों और अभिभावकों को 80+ कॉर्पोरेट और 100+ इंडस्ट्री एक्सपर्ट, रिक्रूटर्स, स्टार्टअप संस्थापकों, नीति निर्माताओं से मिलने का मौका मिलेगा जिससे वे समझ सकेंगे कि इंडस्ट्री में भविष्य में किस तरह के स्किल-सेट की आवश्यकता होगी और किस क्षेत्र में करियर में आगे बढ़ने के प्रचुर अवसर प्राप्त होंगे

● विश्वविद्यालयों द्वारा प्रदान किए जाने वाले भविष्य के कौशल में डिग्री, फेकल्टी, प्लेसमेंट और इंफ्रास्ट्रक्चर के बारे में जानने के लिए 30+ विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों से मिलें

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 30 अप्रैल  2021, नई दिल्ली। भारत के यूनिवर्सिटी एम्बेडेड और भविष्य के कौशल डिग्री प्रोग्राम्स के अग्रणी प्रदाताओं में से एक इमेजिनएक्सपी (ImaginXP) ने भारत का पहला वर्चुअल ईसीएम (एजुकेशन काउंसलिंग मेला) 2021 शुरू किया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के लाखों अंडर-ग्रेजुएट और पोस्ट-ग्रेजुएट छात्रों को मार्गदर्शन और परामर्श देना है। इसके जरिए छात्रों को भविष्य के कौशल में आकर्षक करियर के अवसरों की खोज और इन कौशल में उपलब्ध डिग्री कार्यक्रमों का पता लगाने में मदद की जा रही है। पहले तो प्रत्यक्ष शिक्षा मेले, कॉनक्लेव और यूनिवर्सिटी के दौरों का आयोजन होता था, पर कोरोना की दूसरी भयावह लहर की वजह से यह सब नहीं हो पा रहा है। ऐसे में छात्रों को उचित करियर और शिक्षा के उपलब्ध विकल्पों के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए इमेजिनएक्सपी की इस वर्चुअल इवेंट से काफी उम्मीदें हैं।

देश भर के 80 से अधिक कॉरपोरेट्स, 100+ इंडस्ट्री एक्सपर्ट, नियोक्ता, स्टार्टअप संस्थापक, नीति निर्माता और 30+ विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों ने इस वर्चुअल इवेंट में भाग लिया। इस दौरान छात्रों को करियर, भर्ती से जुड़ी अपेक्षाओं, डिग्री और कौशल पर अपने प्रश्नों के उत्तर पाने का अनूठा अवसर मिला है जो इंडस्ट्री में बने रहने और जॉब मार्केट पर महामारी के प्रभाव को लेकर उनकी समझ को बढ़ाता है। द इंडिया स्किल्स रिपोर्ट 2019 में कहा गया है कि उच्च शिक्षा पूरी करने के बाद केवल 46.2% छात्र ही नौकरी के योग्य या नौकरी पाने के लिए तैयार थे।

2019 में 53% भारतीय कारोबार भविष्य के कौशल की कमी के कारण उम्मीदवारों को नियुक्त करने में असमर्थ थे। इमेजिनएक्सपी वर्चुअल ईसीएम छात्रों को यूएक्स डिज़ाइन, प्रोडक्ट मैनेजमेंट, हेल्थटेक, फिनटेक, आरपीए, डेटा साइंस, आईओटी, साइबर सेफ्टी, जो आधुनिक डिजिटल अर्थव्यवस्था में आवश्यक हैं, ऐसे स्ट्रीम्स में भविष्य के कौशल डिग्री कार्यक्रमों का पता लगाने में मदद करेगा। छात्रों को स्मिता सूर्यप्रकाश - अध्यक्ष और सीडीओ मून राफ्ट, यदुवेंद्र माथुर - पूर्व-आईएएस अधिकारी और सीएमडी राजस्थान वित्त निगम, अंकुश तिवारी - सीटीओ क्वेस्ट डिजिटल और आईआईटी कानपुर इनक्युबेशन, आनंद झा - सीडीओ मिको, पतंजलि सोमजयी - सीटीओ कैपिटल फ्लोट, विधिका रोहतगी - संस्थापक एफसीयूएक्स डिजाइन और सीडीओ ईवाई इंडिया, विवेक सिंह - एक्सएपीएक्स / यूएक्स डायरेक्टर कारदेखो और गिरनारसॉफ्ट और कई और विशेषज्ञों से बातचीत का मौका मिलेगा।

इमेजिनएक्सपी के महानिदेशक प्रो (कर्नल) शिशिर कुमार ने इस पर टिप्पणी करते हुए कहा, “हम भारत को $5 बिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के पीएम के सपने का समर्थन करना चाहते हैं। इसके लिए हमारे युवाओं को डिजिटल अर्थव्यवस्था के लिए आवश्यक भावी कौशलों के साथ तैयार रहना होगा। यह इवेंट युवा उम्मीदवारों और उनके माता-पिता के लिए उपलब्ध अद्भुत अवसरों की खोज करने और शिक्षा और डिग्री चुनने की दिशा में प्रयास करने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है जो उन्हें स्थायी करियर बनाने में सक्षम बनाएगा। हमारा मिशन इन छात्रों को विशेषज्ञों, नियोक्ताओं, विश्वविद्यालयों, फेकल्टी सदस्यों और छात्रों के माध्यम से यह निर्णय लेने के लिए आवश्यक सलाह, मार्गदर्शन और परामर्श प्रदान करना है।

इसके अतिरिक्त मई में इमेजिनएक्सपी ईसीएम का समर्थन करने के लिए एक ऑगमेंटेड रियलिटी (एआर) काउंसिलिंग अनुभव भी शुरू करेगा, जहां छात्र साझेदार विश्वविद्यालयों के वर्चुअल टूर कर सकते हैं, उनके द्वारा प्रदान किए गए डिग्री कार्यक्रमों और कोर्सेस का पता लगा सकते हैं और संदेह को दूर करने के लिए चुनिंदा परामर्शदाताओं और मेंटर्स के साथ व्यक्तिगत सत्र कर सकते हैं और किसी भी प्रश्न का उत्तर चाह सकते हैं। चितकारा यूनिवर्सिटी के वाइस प्रेसिडेंट मोहित चितकारा ने वर्चुअल एजुकेशन काउंसिलिंग मेले पर टिप्पणी करते हुए कहा, “यह छात्रों के लिए इंडस्ट्री एक्सपर्ट, नियोक्ताओं और शिक्षाविदों से बातचीत करने और उन्हें सुनने का एक अनूठा अवसर है और कैरियर और डिग्री चुनने के लिए बहुत आवश्यक परामर्श प्राप्त कर सकते हैं। यह सराहनीय है कि इमेजिनएक्सपी ने एक ऐसे काउंसलिंग प्लेटफॉर्म की स्थापना की है जो छात्रों और उनके अभिभावकों को विश्वविद्यालय, इंडस्ट्री और उनके साथियों से मार्गदर्शन लेने के लिए जोड़ता है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता