प्रोडिजी फाइनेंस ने 6 इंटरनेशनल कॉलेजों से पार्टनरशिप किया

  

◆ फिनटेक प्लेटफॉर्म का लक्ष्य 20 हजार से अधिक योग्य भारतीय छात्रों को 1 बिलियन डॉलर से अधिक का लोन उपलब्ध कराना है

◆ प्रोडिजी फाइनेंस अब दुनियाभर के 800 से अधिक कॉलेजों और 1,000 पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेस को सपोर्ट करता है

शब्दवाणी समाचार, शुक्रवार 30 अप्रैल  2021, नई दिल्ली। भारतीय छात्रों के लिए अंतरराष्ट्रीय शिक्षा का दायरा बढ़ाने के लिए विदेशों में स्नातकोत्तर कार्यक्रमों के लिए ऋण देने वाले अग्रणी क्रॉस-बॉर्डर फ़िनटेक प्लेटफ़ॉर्म प्रोडिजी फाइनेंस ने अमेरिका और यूके में छह लोकप्रिय विश्वविद्यालयों के साथ भागीदारी कर ली है। इनमें यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्सास- कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, सैन डिएगो स्टेट यूनिवर्सिटी- कॉलेज ऑफ साइंसेज, लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बानी- कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंसेज, जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी- कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंसेज और ओकलोहोमा स्टेट यूनिवर्सिटी - स्पीयर्स स्कूल ऑफ बिजनेस शामिल हैं। इस भागीदारी के साथ छात्रों के पास अब चुनने के लिए विश्वविद्यालयों का एक व्यापक विकल्प है और वे अपने कल को उज्जवल बनाने के लिए सूचित निर्णय ले सकते हैं।

इस घटनाक्रम पर प्रोडिजी फाइनेंस के कंट्री हेड इंडिया, मयंक शर्मा ने कहा, “हर साल हम विदेशों में अध्ययन करने का सपना देखने वाले भारतीय छात्रों की संख्या में महत्वपूर्ण उछाल देख रहे हैं। अपने पोर्टफोलियो को अपडेट कर हम चाहते हैं कि छात्रों को ब्राउज़ करने के लिए अधिक विश्वविद्यालय विकल्प मिलें और वह यह चुन सकें कि उनके लिए सबसे उपयुक्त क्या है। फंडिंग की बात करें तो हम अगले तीन वर्षों में 20,000 से अधिक योग्य भारतीय छात्रों को $1 बिलियन से अधिक लोन देना चाहते हैं। हम दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ शैक्षिक संस्थानों और पाठ्यक्रमों के साथ छात्रों को जोड़ने का प्रयास करते रहेंगे। अपने पोर्टफोलियो में हाल ही में उल्लेखनीय संस्थाओं को जोड़कर प्रोडिजी फाइनेंस अब 800 से अधिक कॉलेजों और 1000 स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों को सपोर्ट करता है। इनमें से अधिकांश अब एसटीईएम (STEM) विषयों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, जिनकी मांग में पिछले कुछ वर्षों में तेजी आई है। यह बिजनेस प्रोग्राम में प्रोडिजी फाइनेंस की ऐतिहासिक ताकत को दर्शाती है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया