अब जूस, दूध एवं अन्य पेय पदार्थों के यूज़्ड कार्टन अपने घर बैठे रिसाइकल

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 30 जून  2021भोपाल। भोपाल के नागरिक जूस, दूध एवं अन्य पेय पदार्थों के यूज़्ड कार्टन अपने घर बैठे रिसाइकल कर सकते हैं। यह संभव हो सका है टेट्रा पैक एवं कबाड़ीवाला के सहयोग से। दुनिया की अग्रणी फूड प्रोसेसिंग एवं पैकेजिंग समाधान कंपनी, टेट्रापैक ने द कबाड़ीवाला से सहयोग किया है। यह एक मशहूर स्थानीय कचरा प्रबंधन वेंचर है, जो भोपाल में पेय पदार्थों के यूज़्ड कार्टन का संग्रहण बढ़ाता है। जो उपभोक्ता अपने यूज़्ड कार्टन बेचना चाहते हैं, वो कबाड़ीवाला ऐप या www.thekabadiwala.com पर जाकर पिक-अप बुक कर सकते हैं और उनके बदले में कुछ पैसे भी पा सकते हैं। यह टीम शहर में सार्वजनिक स्थानों पर 70 डिपोजि़ट प्वाईंट भी स्थापित करेगी, जहां पर उपभोक्ता अपने यूज़्ड कार्टन रिसाईक्लिंग के लिए दे सकेंगे। इसके अलावा, कबाड़ीवाला भोपाल के नगर निगम के साथ मिलकर काम करेगा ताकि जूस/दूध के यूज़्ड पैक निगम के छंटनी केंद्रों से भी एकत्रित किए जा सकें। फिर एकत्रित किए गए कार्टंस को रिसाइक्लिंग के लिए उत्तराखंड में नज़दीकी रिसाइक्लर, खातिमा फाईबर्स के पास भेज दिया जाएगा।

इस नई साझेदारी के साथ मध्यप्रदेश 23वां राज्य/केंद्र शासित प्रांत बन गया है, जहां पर टेट्रा पैक का विस्तृत एकत्रीकरण नेटवर्क है। यह नेटवर्क 39 शहरों में और भारतीय सेना के 14 कॉन्टिंजैंट्स में फैला है और इसका सहयोग 23 राज्यों एवं केंद्रशासित प्रांतों के 27 से ज्यादा एकत्रीकरण व जागरुकता साझेदार करते हैं। इस अभियान का लॉन्च, श्री के.वी.एस. चौधरी- मुनिसिपल कॉर्पोरेशन कमिश्नर, भोपाल ने किया। पहले ड्रॉप-ऑफ बॉक्स का उद्घाटन करते हुए, श्री चौधरी ने कहा, ‘‘यूज़्ड कार्टन पैकेजेस की रिसाइक्लिंग को बढ़ावा देने का यह अभियान अद्वितीय है। शहर में स्थापित हो रहे 70 ड्रॉप-ऑफ प्वाईंट्स की मदद से नागरिक अपने यूज़्ड पैक रिसाइक्लिंग के लिए आसानी से जमा करा सकेंगे। इससे आमतौर पर एकत्रित होने वाले कचरे को कम करने में मदद मिलेगी और स्वच्छ भारत अभियान में सहयोग होगा। मैं इस अभियान की सराहना करता हूँ और भोपाल के नागरिकों से निवेदन करता हूँ कि वो ज्यादा से ज्यादा कार्टन रिसाइकल करने में अपना सहयोग दें।

इस साझेदारी के बारे में, जयदीप गोखले, सस्टेनेबिलिटी डायरेक्टर, टेट्रा पैक साउथ एशिया ने कहा, ‘‘हमने देश में 17 सालों से एक एकत्रीकरण के परिवेश की स्थापना की है, जिसमें यह साझेदारी एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। कचरा प्रबंधन के मामले में मध्य प्रदेश बहुत प्रगतिशील राज्य है। हम रिसाइक्लिंग के लिए प्रभावशाली तरीके से यूज़्ड कार्टन पैक रिकवर करने में मदद करने के लिए एक मजबूत साझेदार तलाश रहे हैं। कबाड़ीवाला की टीम अपने विस्तृत नेटवर्क एवं अद्वितीय मॉडल के साथ हमारे लिए एक उत्तम साझेदार है, जो उपभोक्ताओं को रिसाइक्लिंग में हिस्सा लेना सुविधाजनक बनाता है तथा अन्य स्रोतों से कार्टन एकत्रित करने के लिए कचरा बीनने वालों के साथ भी मिलकर काम करता है। टेट्रा पैक कार्टन पेपर पर आधारित और रिसाइक्लेबल होते हैं। उन्हें एकत्रित किए जाने के बाद विभिन्न सामग्री, जैसे पेपर, वाटर-प्रूफ मटेरियल या पैनल बोडर््स में रिसाइकल किया जा सकता है, जिससे उपयोगी सामान, जैसे वंचित स्कूलों के लिए क्लासरूम फर्नीचर,रूफिंग शीट्स, नोटबुक्स, कमर्शियल वाहनों की सीटें एवं बैकरेस्ट आदि बनाए जा सकते हैं।

श्री अनुराग असाटी, को-फाउंडर, द कबाड़ीवाला ने कहा हमें टेक्नॉलॉजी संचालित कंपनी होने पर गर्व है, जो स्मार्ट कचरा प्रबंधन व्यवस्था के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है। इस अभियान को सफल बनाने की हमारी कार्ययोजना द्विआयामी है- पहला हम कचरा एकत्रित करने वालों के बीच जागरुकता बढ़ाना चाहते हैं, ताकि वो ज्यादा से ज्यादा कार्टन पैक एकत्रित करें, जिससे उन्हें अतिरिक्त आय मिले और दूसरा नागरिकों के बीच रिसाइक्लिंग के फायदों की जागरुकता बढ़ाना चाहते हैं और द कबाड़ीवाला ऐप डाउनलोड करके, www.thekabadiwala.com पर पिक-अप बुक करके या शहर में 70 ड्रॉप ऑफ प्वाईंट्स में से किसी भी प्वाईंट पर जाकर कार्टन रिसाईकल करना आसान बनाना चाहते हैं। 

हम भोपाल नगर निगम के आभारी हैं क्योंकि उन्होंने हमें अपना संपूर्ण सहयोग दिया और इस मिशन के लिए हमें साझेदार बनाने के लिए टेट्रापैक को धन्यवाद देते हैं कबाड़ीवाला प्लेटफॉर्म उन संपत्तियों को तलाशने व मैप करने में मदद करता है, जो उपभोक्ताओं द्वारा उत्पन्न कचरे का निष्पादन, प्रभावशाली व किफायती पिक-अप निर्धारित और सही रिसाइक्लर नेटवर्क के साथ संपर्क स्थापित करती हैं। घरेलू कचरा सामग्री तलाशने व शहर में उसका प्रोडक्टिव इस्तेमाल करने के तरीके को पहचानकर, यह प्लेटफॉर्म नागरिकों को द कबाड़ीवाला को अपना कचरा दिए जाने के बाद उसका ट्रैक रखने में भी समर्थ बनाता है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

बिल्कुल देसी वीडियो कंटेंट प्लेटफार्म ट्रेलर ने 20 मिलियन नए यूज़र दर्ज किए

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता