जेके टायर ने वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के लिए अपने परिणामों की घोषणा किया

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 7 अगस्त 2021, नई दिल्ली। भारतीय टायर उद्योग की प्रमुख, जेके टायर एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड (जेके टायर) ने वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के लिए अपने अलेखापरीक्षित परिणामों की घोषणा की। राजस्व 2618 करोड़ रुपए 130% बढ़ा, EBIDTA रु.289 करोड़ रहा, जो कि वर्ष-दर-वर्ष आधार पर उल्लेखनीय वृद्धि है। पीबीटी और पीएटी क्रमश: 75 करोड़ रुपए और 44 करोड़ रुपए दर्ज किए गए। परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, डॉ रघुपति सिंघानिया, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) ने कहा, “इस वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही की शुरुआत महामारी और लॉकडाउन की दूसरी लहर के पुनरुत्थान के कारण हुई, जिसने मांग को प्रभावित किया। इन चुनौतीपूर्ण बाजार स्थितियों के बावजूद, हमने राजस्व और लाभप्रदता में उत्साहजनक वृद्धि हासिल की। लागत बढ़ने से परिचालन मार्जिन प्रभावित हुआ है। बहरहाल, हम सभी उत्पाद श्रेणियों में उचित मूल्य वृद्धि ले रहे हैं। कंपनी ने प्रतिस्थापन और निर्यात बिक्री पर ध्यान देना जारी रखा। साथ ही ओईएम के साथ संबंधों का विस्तार और सुदृढ़ीकरण किया जा रहा है।

हम उम्मीद करते हैं कि बाजार की स्थिति में सुधार होगा, उच्च टीकाकरण स्तर और आर्थिक गतिविधियों में तेज सुधार, जिससे प्रतिस्थापन और ओईएम दोनों क्षेत्रों में बिक्री में सुधार होने की संभावना है। आगे चलकर हम आशावादी हैं और उद्योग के स्वस्थ विकास की उम्मीद करते हैं। डॉ. सिंघानिया ने आगे कहा कि कंपनी अपने कर्मचारियों, व्यावसायिक भागीदारों और समाज की भलाई और सुरक्षा को अत्यधिक प्राथमिकता देना जारी रखे हुए है। इस दिशा में, हमने तीन मोर्चों - वित्तीय, शैक्षिक और स्वास्थ्य बीमा पर महामारी के दौरान अपनी जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिवार का समर्थन करने के लिए "जेके केयर्स" कार्यक्रम शुरू किया है।

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान