सप्त दिवसीय बाल योग एवं संस्कार शिविर का भव्य शुभारम्भ

◆ योग का अर्थ ईश्वर से जुड़ना  : के के अरोड़ा

◆ माता पिता को प्रतिदिन चरणस्पर्श करने से आयु, विद्या, यश और बल ये चारों नित्य बढ़ेंगे :  सीमा शर्मा

शब्दवाणी समाचार, रविवार 26 जून 2022, ग़ाज़ियाबाद। अखिल भारतीय ध्यान योग संस्थान रजि. के तत्वावधान में सिटी पार्क,स्वर्ण जयंती पुरम में आयोजित 7 दिवसीय बाल योग एवं संस्कार शिविर का भव्य शुभारम्भ योगी प्रवीण आर्य जी ने दीप प्रज्वलित कर एवं वरिष्ठ योग शिक्षिका वीना वोहरा ने ओ३म की ध्वनि एवं गायत्री मंत्र से किया।

शिविर संयोजिका एवं मंच संचालिका श्रीमती सीमा शर्मा जी ने सत्र से पूर्व शिविरार्थियों को शिविर के रूल्स व रेगुलेशन की जानकारी दी।उन्होंने बच्चों को माता पिता को प्रतिदिन प्रातः चरणस्पर्श व नमस्ते करने की प्रेरणा की ओर कहा कि इससे उनकी आयु,विद्या,यश और बल ये चारों नित्य बढ़ेंगे।

संस्थान के उपाध्यक्ष श्री मनमोहन वोहरा ने शिविरार्थीओ को पैरों,हाथों के सूक्ष्म अभ्यास व ताड़ासन, त्रिकोणासान,कदमताल, वार्मअप करने हेतु जंपिंग,वज्रासन, पदासन का अभ्यास कराया और इसके लाभों की चर्चा करते हुए बताया कि योग सर्वांग सुन्दर बनाने की कला है,इससे आपकी लम्बाई बढ़ेगी,स्मृति शक्ति बढ़ेगी और आपके सर्वांग सुन्दर बनेंगे साथ ही आप स्वस्थ रहेंगे।वज्रासन से पाचनतंत्र ठीक होकर अच्छे से काम करता है,इसे भोजन के तुरन्त बाद कर सकते हैं।शशांकासन से न्यूरॉन्स डेवलप होते हैं,रक्त मस्तिष्क में ज्यादा आता है जिससे शीतलता आती है,क्रोध शांत होता है।

योगी प्रवीण आर्य ने सुन्दर गीत "हिम्मत ना हारिए प्रभु ना विसारीय,हंसते मुस्कुराते हुए जिन्दगी गुजारिए" सुनाकर माहौल को खुशनुमा कर दिया पश्चात हास्यासन कराया।

संस्थान के महामंत्री श्री दयानन्द शर्मा जी ने प्राणायाम के बारे में बताते हुए मेरु दंड सीधा आंखे बंद कराकर दीर्घश्वसन,कपालभांति, अनुलोमविलोम,साइकिलिंग बालमचलनासन का अभ्यास कराया इसके लाभों की चर्चा करते हुए बताया कि इससे पेट और चेहरा प्रभावित होता है,ओर कहा कि योग करने से बुद्धि विकसित होती है।

संस्थान के अध्यक्ष श्री के के अरोड़ा जी ने अपने आशीर्वचन देते हुए भारत माता की जय, वन्दे मातरम् के नारे लगवाए और कहा कि योग शब्द का अर्थ जोड़ना है,क्रिया+मन+प्राण/स्वांस अर्थात मन लगाकर क्रिया को करने से हम डायरेक्ट ईश्वर से जुड़ जाते हैं,प्रकृति से जुड़ जाते हैं,ईश्वर से जुड़ जाने पर अच्छे संस्कार आएंगे।उन्होंने गाइड लाइन देते हुए कहा कि आप जब भी योग करने आएं फ्रेश होकर आएं।

शिविरार्थियों में उत्साह देखते ही बनता था,श्रीमती वीना वोहरा जी ने सूंदर डेमोस्ट्रेशन दिया जिसे देखकर बच्चों ने सुंदर तरीके से अभ्यास किया। इस अवसर पर मुख्य रूप से सर्वश्री सुन्दर सिंह,दीपक त्यागी, ओमवीर सिंह एवं डा ममता त्यागी आदि मौजूद रहे। संस्थान के कोषाध्यक्ष श्री सुभाष गर्ग जी ने शांति पाठ कराया व प्रसाद वितरण के साथ सत्र को सम्पन्न किया।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया