एक ही नाम, इंडिया नही भारत हो : बिजय कुमार जैन

◆ इंडिया शब्द गुलामी का प्रतीक

शब्दवाणी समाचार, शनिवार 6 अगस्त 2022, नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के अणुव्रत भवन आई टी औ पर स्थित अणुव्रत भवन में भारत मां की आजादी के 75वें वर्ष की पूर्णता पर पूरा देश मना रहा अमृत महोत्सव जिसके उपलक्ष्य पर मैं भारत हूँ फाउंडेशन द्वारा भारतीय प्रतिबिम्ब कल-आज और कल की ओर कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली के अम्बेडकर इंटरनेशनल सेन्टर में सात अगस्त को आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य भारत का संवैधानिक रूप से एक ही नाम होना चाहिए  जिसके लिए मैं भारत हूँ फाउंडेशन मांग उठा रहा है।

मैं भारत हूँ फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिजय कुमार जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि आज पुरा देश भारत मां की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष पर अमृत महोत्सव पर तिरंगा मोहत्सव का आयोजन धूमधाम से कर रहा है। इसी कड़ी को आगे बढाते हुए “मैं भारत हूँ” फाउंडेशन के पदाधिकारी जो कि भारत व विदेशों में भी निवासित है। कार्यक्रम का आयोजन के तहत प्राचीनतम इतिहास, वर्तमान भारत, भविष्य के भारत पर चर्चा व मंथन करेंगे। आपको बता दें कि मैं भारत हूँ फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम की सफलता के लिए राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी राष्ट्रीय महामंत्री शोभा सादानी कोलकाता, कोषाध्यक्ष निशा लड्ढा कोलकाता, सह कोषाध्यक्ष अनुपमा शर्मा दाधीच मुंबई, उपाध्यक्ष गोविंद माहेश्वरी कोटा, उपाध्यक्ष किरण लड्ढा दिल्ली, सदस्य कुसुम लुनिया दिल्ली सहित फाउंडेशन के विदेश संयोजक अरुण मुंदडा होस्टन, किशोर जैन लंदन, आशीष जैन व विपुल जैन इत्यादि जुटे हुए है। 

कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में भारत के केंद्रीय मंत्री, राज्य मंत्री, वरिष्ठ लोकप्रिय पत्रकार, समाजसेवी, उद्योगपति की उपस्थिति के साथ ‘भारत को केवल भारत ही बोला जाए’ की संगीतमय प्रस्तुति एक विशेष गीत के माध्यम से की जाएगी । कार्यक्रम की सफलता के लिए विशेष रूप से भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू ने अभूतपूर्व सहयोग दिया है। मैं भारत हूँ फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने कार्यक्रम की सफलता के लिए सभी भारतीयों को धन्यवाद दिया है। 

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा