एएमओ इलेक्ट्रिक बाइक्‍स का जॉन्‍टी प्‍लस ई-स्‍कूटर पर छूट

शब्दवाणी समाचार, वीरवार 20 अक्टूबर 2022, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, नई दिल्ली। एएमओ इलेक्ट्रिक बाइक्‍स, कम और ज्‍यादा स्‍पीड के इलेक्ट्रिक स्‍कूटर्स बनाने वाली कंपनी, त्‍यौहारों के अवसर पर देशभर के ग्राहकों के लिए एक विशेष ऑफर लेकर आई है। रौशनी का यह त्‍यौहार साल का सबसे शुभ एवं पवित्र समय होता है जब अपने आस-पास प्‍यार एवं खुशियां बिखेरने और दूसरों के प्रति सहानुभूति दिखाने पर जोर दिया जाता है। हालांकि, दिवाली के दौरान हवा की क्‍वालिटी और प्रदूषण को लेकर भी चिंता बढ़ जाती है। इसी को देखते हुए, एएमओ ई-बाइक्‍स ने इस त्‍यौहारी सीजन में ‘स्‍मार्ट लोगों की स्‍मार्ट चॉइस’ पहल शुरू की है जिसके तहत सीमित अवधि के लिए 74,460 रुपये (एक्‍स-शोरूम कीमत) के विशेष ऑफर प्राइस पर एएमओ इलेक्ट्रिक बाइक्‍स खरीदी जा सकती हैं। यह ऑफर कंपनी के हाई-स्‍पीड ई-स्‍कूटर जॉन्‍टी प्‍लस पर उपलब्‍ध है। इस पहल के जरिए कंपनी ई-मोबिलिटी को बढ़ावा दे रही है और ग्राहकों को पेट्रोल की आसमान छूती कीमतों से बचते हुए प्रदूषण पर नियंत्रण रखने में सक्षम बना रही है।

एएमओ ई-बाइक्‍स द्वारा कम और ज्‍यादा स्‍पीड वाले इलेक्ट्रिक स्‍कूटरों की श्रृंखला का निर्माण किया जाता है। ये स्‍कूटर्स नवीनतम टेक्‍नोलॉजी से सुसज्जित होते हैं और उद्योग एवं सुरक्षा के वैश्विक मानकों का पालन करते हैं। ये ई-मोबिलिटी के लिए भरोसेमंद, स्‍थायी और किफायती समाधान प्रदान करते हैं। कंपनी के ई-स्‍कूटर्स उच्‍च गुणवत्‍ता मानकों, श्रेणी में बेहतरीन बिक्री-पश्‍चात सेवाओं जिसमें 48 घंटों के बाद जीरो डाउन टाइम शामिल है, रखरखाव की कम लागत और शानदार परफॉर्मेंस  के साथ आते हैं। कंपनी की इलेक्ट्रिक बाइक्‍स पावर,स्‍टाइल, परफॉर्मेंस और सुरक्षा के नए स्‍तर के साथ आती हैं। जॉन्‍टी प्‍लस बाइक 3 साल की वारंटी (नियम एवं शर्तें लागू) के साथ मिलती हैं और इनकी रेंज 108 किलोमीटर है। यही नहीं, ये फेम 2 सब्सिडी एवं राज्‍य सरकार की सब्सिडी (यदि राज्‍य में लागू हैं) के साथ आती हैं। ऑफर का लाभ उठाने के लिए स्‍थानीय एएमओ इलेक्ट्रिक बाइक्‍स डीलरशिप के पास जाएं।

Comments

Popular posts from this blog

सरकारी योजनाओं से संबंधित डाटा ढूंढना होगा अब आसान

शब्दवाणी समाचार पाठक संघ के सदस्यों का भव्य स्वागत हुआ और अब सबको मिलेगी एक समान शिक्षा का लांच

उप श्रम आयुक्त द्वारा लिखित में मांगों पर सहमति दिए जाने के बाद ट्रेड यूनियनों ने समाप्त किया धरन : गंगेश्वर दत्त शर्मा