ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने टीसीआई-आईआईएमबी सप्लाई चेन सस्टेनेबिलिटी लैब के लिए इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट से किया साझेदारी

शब्दवाणी समाचार सोमवार 1 मई 2023, सम्पादकीय व्हाट्सप्प 8803818844, बेंगलुरू। भारत की प्रमुख एकीकृत मल्टी मोडल लॉजिस्टिक्स और सप्लाई चेन समाधान प्रदान करने वाली कंपनी ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (टीसीआइ ग्रुप) ने देश के प्रमुख मैनेजमेंट संस्‍थान इंडियन इंस्टियूट ऑफ मैनेजमेंट बैंगलोर के साथ साझेदारी में आईआईएमबी कैंपस में नई सस्टेनेबिलिटी लैब खोलने की घोषणा की। इसका लक्ष्‍य आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन पर केन्द्रित होगा। यह अपनी तरह का अनोखा गुणवत्‍ता केंद्र होगा, जिसे स्‍थायी आपूर्ति श्रृंखला के तरीकों का प्रचार-प्रसार करने और उन्हें बढ़ावा देने के क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल होगी। इस लैब का उद्घाटन मशहूर भारतीय शल्य चिकित्सक, नारायणा हेल्थ के ईडी और आईआईएम बैंगलोर में बोर्ड ऑफ गर्वनर्स के चेयरपर्सन डॉ. देवी शेट्टी ने टीसीआई ग्रुप के चेयरमैन श्री डीपी अग्रवाल के साथ किया।

इस कार्यक्रम की शुरुआत आईआईएम बैंगलोर में सप्लाई चेन मैनेजमेंट सेंटर के चेयरपर्सन प्रोफेसर जीतमित्र देसाई के स्वागत भाषण से हुई। इसके बाद, प्रोफेसर ऋषिकेश टी. कृष्णन ने अपने संबोधन में इस लैब की स्थापना के उद्देश्यों के बारे में बताया। कंपनी की विचारधारा को जमीनी रूप से अमल में लाते हुए टीसीआई ग्रुप के प्रबंध निदेशक श्री विनीत अग्रवाल ने जीएचजी मापन यंत्र का बीटा वर्जन लॉन्च किया। टीईएमटी नाम के इस टूल का इंटरफेस अलग-अलग भाषाओं में है, जो इसे भारत के लॉजिस्टिक और सप्लाई चेन इकोसिस्टम में जमीनी तौर पर लागू करने में सक्षम बनाता है। इससे सड़क, रेल मार्ग, विमान और समुद्र जैसे यातायात के सभी साधनों का जीएचजी उत्‍सर्जन मापा जा सकता है।

टीसीआई के एमडी श्री विनीत अग्रवाल ने लॉन्‍च के अवसर पर अपनी बात रखते हुए कहा, “हमें अपनी तरह की अनूठी सप्लाई चेन सस्टेनेबिलिटी लैब की स्थापना के लिए इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट बैंगलोर से साझेदारी की घोषणा करते हुए काफी प्रसन्नता है। अपने ज्ञान को साझा करने और उद्योग जगत का विकास करने में विश्वास रखने वाले समूह के तौर पर यह हमारी एक और पहल है, जो साझा विकास और विचारशील नेतृत्व की संस्कृति को बढ़ावा देती है। सर्वोत्कृष्टता के प्रति लगातार प्रतिबद्धता रखते हुए हमारा विश्वास है कि यह लैब अनुसंधान के साथ उद्योगों की विशेषज्ञता के संयोजन से समाधानशोधकों का एक समुदाय तैयार करेगी।

आईआईएम बैंगलोर के निदेशक प्रोफेसर ऋषिकेश टी. कृष्णन ने इस साझेदारी के बारे में बताते हुए कहा, “सभी सेक्टर्स में विकास हुआ है। टीसीआई लैब की स्थापना के पीछे हमारा उद्देश्य संगठनों के लिए स्‍थायी समाधानों की खोज करना है, जिसे लोग बड़े पैमाने पर से अपनाकर उनसे लाभ प्राप्‍त कर सके। स्‍थायी आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन (सप्‍लाई चेन मैनेजमेंट) के ज्ञान का प्रचार-प्रसार करना और इसे अमल में लाने के लिए अच्छे तरीकों की पहचान के लिए शोध करना हमारा लक्ष्य है। इसके अलावा हम देश-विदेश में समान उद्देश्यों और लक्ष्यों के लिए काम कर रहे अन्य संगठनों से भी सहयोग और तालमेल का माहौल बनाना चाहते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद जी द्वारा हार्ट एवं कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास होगा

22 वें ऑल इंडिया होम्योपैथिक कांग्रेस का हुआ आयोजन

सेंट पीटर्स कॉन्वेंट विद्यालय ने अपना वार्षिकोत्सव मनाया