जावा ने 1971 के युद्ध में मिली जीत को सम्‍मान देने के लिए खाकी और मिडनाइट ग्रे रंग पेश किए

• खाकी और मिडनाइट ग्रे भारतीय सेना की वीरता, सेवा और साहस की भावना को सलाम करते हैं

• दोनों मोटरसाइकिलें पूरे गर्व क साथ सेना के प्रतीक चिन्ह को प्रदर्शित करती हैं। भारत में यह इस तरह की पहली मोटर साइकिल है। 

शब्दवाणी समाचार, मंगलवार 13 जुलाई 2021, पुणे। 1971 यह कैलेंडर पर दिखने वाली महज कोई संख्या या एक वर्ष नहीं है। 1971 एक गौरवशाली मील का पत्थर है, जो हमारे सशस्त्र बलों की बहादुरी और वीरता से सुसज्जित है, जिसकी बदौलत एक राष्ट्र के रूप में भारत को इतिहास की सबसे उल्लेखनीय जीत मिली। इस साल 1971 की युद्ध जीत की 50वीं वर्षगांठ है और जावा मोटरसाइकिलें हमारे फॉरएवर हीरोज की वीरता को सम्‍मान देने के लिए सामने आई हैं। अपनी #ForeverHeroes पहल को जारी रखते हुए, ब्रांड ने 1971 के युद्ध में मिली जीत की 50वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में अपने आधुनिक क्लासिक जावा के दो नए रंग पेश किए हैं। वर्ष भर चलने वाले  'स्वर्णिम विजय वर्ष' समारोह को और बेहतर बनाने  के लिए, जावा मोटरसाइकिल्‍स, जावा खाकी और मिडनाइट ग्रे के साथ भारतीय सेना के साथ विभिन्न ऐतिहासिक उत्सवों जैसे, कारगिल विजय दिवस, टुरटुक की लड़ाई और लोंगेवाला की लड़ाई की सवारी का हिस्सा होगी।

जो चीज इन मोटरसाइकिलों को खास बनाती है, वह है स्मारक प्रतीक, जो 1971 की जीत के प्रतीक 'लॉरेल माल्यार्पण' के साथ प्रतिष्ठित भारतीय सेना के प्रतीक चिन्ह को गर्व से दर्शाता है। जावा मोटरसाइकिल्‍स, मोटरसाइकिल पर ऐसा करने की अनुमति पाने वाली पहली निर्माता होने के लिए सम्मानित महसूस करती है।श्रद्धांजलिस्वरूप जन्में और बहादुरी के जज्बे से लबरेज, ये दो नए रंग भारतीय सेना की बहादुरी, सेवा और बलिदान की भावना का सम्मान करते हैं, और जांबाजी और साहस की भावना का प्रतीक हैं। जावा खाकी, वर्दीधारियों द्वारा की जा रही राष्ट्र की निस्वार्थ सेवा की भावना का प्रतीक है। दूसरी ओर, जावा मिडनाइट ग्रे, लोंगेवाला की लड़ाई से प्रेरित है, जो राजस्थान की सीमा के साथ पश्चिमी सीमा पर लड़ी गई थी। इस लड़ाई ने 71 के युद्ध में भारत की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जहां भारतीय सेना और बीएसएफ के बहादुर सैनिकों ने दुश्मन के हमले को नाकाम कर दिया और रात भर बहादुरी से लड़ते हुए हमारी मातृभूमि की रक्षा की। जावा मिडनाइट ग्रे इन सैनिकों की बहादुरी और उस रात हमने जो जीत हासिल की है, उसका प्रतीक है।

क्लासिक लेजेंड्स के सह-संस्थापक अनुपम थरेजा ने इस श्रद्धांजलि के लिए संदर्भ निर्धारित करते हुए कहा, “एक कंपनी के रूप में हमारी सफलता इस बात से निर्धारित नहीं होती कि हम कितनी मोटरसाइकिल बेचते हैं। यह इस बात से है कि हम ग्राहकों को कितना दे पाते हैं। 1971 की जीत के प्रति सम्‍मान के रूप में जावा के दो नए रंगों को पेश करते हुए, क्लासिक लेजेंड्स के सीईओ आशीष सिंह जोशी ने कहा, “हमारे दिल में अपने देश की रक्षा करने वाले पुरुषों और महिलाओं के लिए एक खास स्थान है। हम उन्हें फॉरएवर हीरोज कहते हैं और यह जावा के अस्तित्व की बुनियाद है। 1971 की युद्ध जीत की 50वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में जावा खाकी और जावा मिडनाइट ग्रे को समर्पित करते हुए हमें बहुत गर्व हो रहा है। एक कंपनी के रूप में हम भारतीय सेना के प्रतीक चिन्ह को अपनी मोटरसाइकिलों पर ले जाने के लिए सम्मानित महसूस कर रहे हैं, जो हमारे सैनिकों द्वारा अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए दिखाई गई बहादुरी और बलिदान की हमेशा याद दिलाएगा। जावा खाकी और मिडनाइट ग्रे सभी जावा डीलरशिप पर उपलब्ध होगी और इसकी कीमत 1,93,357 रुपये एक्स-शोरूम, दिल्ली होगी।

स्टाईलिंग और फीचर्स :

नई जावा खाकी और मिडनाइट ग्रे जावा की बेहतरीन स्टाइल में कुछ नया अनुभव जोड़ते हैं, और जावा के कैरेक्‍टर में एक अलग अहसास लाते हैं।  दोनों शेड्स मैट फिनिश वाले हैं और ऑल-ब्लैक थीम के साथ आते हैं जो मोटरसाइकिल के यांत्रिक भागों में हैं। इंजन में ब्रश्‍ड फिन्‍स हैं जो हर बारीकी पर ध्‍यान दिलाते हैं। 1971 का युद्ध विजय स्मारक प्रतीक चिन्ह तिरंगे की धारियों से घिरे ईंधन टैंक पर पूरे गर्व के साथ दिखते हैं। पहिए और टायर का आकार पहले जैसा है लेकिन ये मोटरसाइकिलें ब्लैक आउट स्पोक रिम्स पर चलती हैं जो कि समग्र ब्लैक थीम के साथ जाती हैं।जावा मोटरसाइकिल रेंज में पेश किए गए सभी प्रोडक्‍ट एन्‍हैंसमेंट, जिसकी शुरुआत इस साल दो स्‍पोर्ट्स स्‍ट्राइप की पेशकश के साथ हुई थी, को इन दोनों मोटरसाइकिलों में भी जगह मिली है। 

• बढ़ी हुई सीट; जो इसके पुन: डिज़ाइन किए गए सीट पैन और कुशनिंग के साथ आराम को बढ़ाती है। 

• फिर से समायोजित किए गए निलंबन और फ्रेम सेट-अप; इसके परिणामस्वरूप बेहतर ग्राउंड क्लीयरेंस मिलता है। यह जावा की पहले से ही शानदार सवारी और हैंडलिंग विशेषताओं के अतिरिक्त् है।

• सिग्नेचर ट्विन एग्जॉस्ट से निकलने वाला रिट्यून एग्जॉस्ट नोट; अधिक आकर्षक राइडिंग अनुभव के लिए डीप बीट और ट्यून की गई आवाज।

• राइडर की सुविधा के लिए ट्रिप मीटर

नए रंग केवल ड्यूल एबीएस संस्करण में उपलब्ध होंगे, जिसका अर्थ है कि ब्रेकिंग अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ क्षमताओं को बरकरार रखती है और कॉन्टिनेंटल द्वारा विकसित एबीएस मॉड्यूल बेहतर आत्मविश्वास को जोड़ते हुए मोटरसाइकिल की हैंडलिंग कौशल को प्रेरित करता है।

पावरट्रेन के विषय में :

जावा की पूरी रेंज में ऐसे बदलाव शामिल हैं, जो अंदर से शुरू होते हैं:

• 293cc लिक्विड कूल्ड और फ्यूल इंजेक्टेड इंजन में 27.33 PS की पावर और 27.02 Nm का टॉर्क देने के लिए और अधिक एन्‍हैंसमेंट किए गए हैं। इंजन को छह-स्पीड ट्रांसमिशन के साथ जोड़ा गया है।

• यह क्रॉस पोर्ट तकनीक का उपयोग करने वाला पहला सिंगल सिलेंडर इंजन है जो इंजन की वॉल्यूमेट्रिक दक्षता को बढ़ाता है, चार्ज और निकास गैसों के बेहतर प्रवाह को सक्षम बनाता है और बेहतर पावर और टॉर्क आउटपुट देता है।

• इंजन में अब एक नया लैम्ब्डा सेंसर है जो सड़क चाहें जैसी भी हो, एक सुसंगत प्रदर्शन और साफ-सुथरा उत्सर्जन देने के लिए आंतरिक और बाहरी चीजों पर बेहतर कुशलता से नजर रखता है।

• थ्रॉटल रिस्पॉन्स को बेहतर फ्यूलिंग के माध्यम से सटीकता के साथ मामूली इनपुट पर भी प्रतिक्रिया देने के लिए क्रिस्प बनाया गया है। पूरी रेव रेंज में समग्र प्रदर्शन मध्य रेंज में जबर्दस्त पंच के साथ शानदार है, जिस कारण सशक्त एक्‍सीलरेशन मिलता है।

#ForeverHeroes  पहल के विषय में : 

#ForeverHeroes पहल की कल्पना क्लासिक लेजेंड्स ने सशस्त्र बलों के प्रति कृतज्ञता दर्शाने के लिए की थी। अपने शुरुआती चरण से ही, कंपनी उनके प्रयासों और बलिदान की सराहना करने के लिए मूल्यों की संस्कृति विकसित कर रही है जो देश को सुरक्षित, शांतिपूर्ण और समृद्ध रखने में मदद करती है। 2019 में, कंपनी ने औपचारिक रूप से सशस्त्र बलों के कर्मियों और उनके परिजनों के कल्याण के लिए योगदान देने के लिए इस पहल की घोषणा की। इस पहल के तहत प्रमुख घटनाक्रम इस प्रकार हैं -

क्लासिक लेजेंड्स ने अपने मोटर साइकिल उत्पादन के पहले बैच से 13 मोटरसाइकिलों की नीलामी करके 1.49 करोड़ रुपये की राशि जुटाई, जिसे आर्म्‍ड फोर्सेस फ्‍लैग डे फंड में योगदान दिया गया। इसे प्रतिष्ठित सशस्त्र बलों के दिग्गजों, युद्ध नायकों और अधिकारियों की मौजूदगी में एक संयुक्त समारोह में केंद्रीय सैनिक बोर्ड, रक्षा मंत्रालय (भारत सरकार) को क्लासिक लेजेंड्स द्वारा सौंप दिया गया था।

लेह की वॉर हीरो कॉलोनी में एक सामुदायिक हॉल के निर्माण में योगदान, जहां वीर नारियां (युद्ध नायकों की विधवाएं) अपने बच्चों के साथ रहती हैं। लद्दाख स्काउट्स रेजिमेंट के युद्ध नायक जो कारगिल युद्ध में लड़े थे

पूर्वोत्तर भारत में अपनी 'सेवन सिस्टर्स राइड' के लिए मोटरसाइकिलों, सेवाओं के समर्थन और गियर के साथ भारतीय नौसेना का समर्थन करना। इस क्षेत्र में युवाओं के बीच एक शानदार कॅरियर विकल्प के रूप में नौसेना को उजागर करने के इरादे से यह पहल की गई।

मोटरसाइकिलों के बेड़े के साथ भारतीय वायु सेना का समर्थन करना और दक्षिण भारत में ठिकानों पर उनकी सवारी के लिए सेवा समर्थन

• बीएसएफ कर्मियों को श्रद्धांजलि के रूप में वाघा सीमा पर 'बॉर्डर मैन' की प्रतिमा का निर्माण, उनकी बहादुरी, समर्पण और बलिदान की भावना को दर्शाता है।

• इस वर्ष स्वर्णिम विजय वर्ष समारोह के एक भाग के रूप में, जावा मोटरसाइकिलें सेना के जवानों के कल्याण के लिए आर्म्‍ड फोर्सेस फ्‍लैग डे फंड में भी योगदान कर रही हैं।

अपने दिन-प्रतिदिन के कामकाज में, कंपनी अपने नेटवर्क के माध्यम से अपने कर्मचारियों और ग्राहकों के साथ बातचीत को सुगम बनाने और सशस्त्र बलों के कर्मियों के साथ देश में उनके योगदान को सम्मानित करने व उनकी मदद करने के लिए अन्य उपयुक्त अवसरों की सुविधा के साथ तत्पर है। इसके एक भाग के रूप में, कंपनी ने अपने ग्राहकों को बुर्जुगों, पूर्व सैनिकों और सेवारत अधिकारियों के हाथों पहली कुछ मोटरसाइकिलें दीं।

क्लासिक लेजेंड्स प्राइवेट लिमिटेड के विषय में

क्लासिक लेजेंड्स प्रा. लिमिटेड एक भारतीय कंपनी है जिसे बाजार में प्रतिष्ठित मोटरसाइकिल ब्रांडों को फिर से पेश करने के लिए स्थापित किया गया है। क्लासिक लेजेंड्स का लक्ष्य भारत की पहली सही मायनों वाली लाइफस्टाइल कंपनी बनना है और उपभोक्ताओं को मोटरसाइकिलिंग इकोसिस्टम के साथ रोमांचक उत्पाद और सेवा प्रदान कर क्लासिक ब्रांडों की विरासत का लुत्फ फिर से लेने की सुविधा देना है।

जावा चेक गणराज्य, पूर्व चेकोस्लोवाकिया का एक मोटरसाइकिल ब्रांड है, जिसकी 90 साल की विरासत है। इसने अपने सुनहरे दिनों में 120 से अधिक देशों में  बेहतर ढंग से निर्मित और जुझारू क्लासिक मोटरसाइकिलों का निर्यात किया था। इसने 1960 के दशक की शुरुआत में भारतीय बाजारों में प्रवेश किया। जावा मोटरसाइकिलों के दोहरे पहलू,  इसकी सुंदर डिजाइन और मजबूत प्रदर्शन  ने इसे न केवल ग्राहकों का दिल जीतने में मदद की, बल्कि इसकी बदौलत कई वैश्विक खिताब भी जीते। अपने शानदार ब्रांड पोर्टफोलियो की बदौलत क्लासिक लेजेंड्स वर्तमान में जावा को न केवल एक ब्रांड के रूप में बल्कि जिंदगी जीने के एक तरीके के रूप में जीवंत कर रहा है। क्लासिक लेजेंड्स ने मूल जावा के डीएनए और लोकाचार वाले उत्पादों को लॉन्च करने के लिए वैश्विक विशेषज्ञता के साथ-साथ डिजाइन और इंजीनियरिंग में सर्वश्रेष्ठ  क्षमताओं वाली साझेदारियों का लाभ उठाया है।


Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

उप प्रधानाचार्य प्रशासनिक अनियमितताएं और भ्र्ष्टाचार में लिप्त, मुख्य अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान