प्रोडिजी फाइनेंस ने $750 मिलियन की फंडिंग हासिल किया

●     इंडेक्स वेंचर्स, बाल्डरटन कैपिटल और आरएमआईएच जैसे इन्वेस्टर्स से समर्थित प्रोडिजी फाइनेंस भारतीय छात्रों के लिए इंटरनेशनल एजुकेशन को सुलभ बना रहा है

●     प्रोडिजी फाइनेंस इस आइडिया पर बना है कि इंटरनेशनल ग्रेजुएशन के लिए फंडिंग तक पहुंच बॉर्डरलेस होना चाहिए, और यह वर्तमान हालात के बजाय भविष्य की क्षमता पर आधारित होनी चाहिए

●     सबको समाहित करने के दृष्टिकोण ने प्रोडिजी फाइनेंस फंड को भारत सहित 100 से अधिक देशों के 20,000 से अधिक उच्च-क्षमता वाले छात्रों को $1 बिलियन से अधिक का लोन दिया है, जो फंड प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहे थे

●     अपने पूर्ण-स्वामित्व वाली सहायक कंपनी सीपीपीआईबी क्रेडिट इन्वेस्टमेंट्स इंक के जरिए सीपीपी इन्वेस्टमेंट्स के नेतृत्व में हुई फंडिंग डील प्रोडिजी फाइनेंस को भारत, चीन, दक्षिण कोरिया और सिंगापुर जैसे प्रमुख क्षेत्रों सहित अधिक से अधिक बाजारों में विस्तार करने में सक्षम बनाती है

●     यह डील न केवल पूरे भारत में हजारों और छात्रों की विदेश में पढ़ाई करने की इच्छा का समर्थन करने में मदद करेगी, बल्कि यह ग्लोबल हायर एजुकेशन सेक्टर को पुनर्जीवित करने में भी मदद करेगा, जिसमें कोविड संबंधित प्रतिबंधों के कारण बड़ी गिरावट आई है

●     प्रोडिजी फाइनेंस के लिए आवेदनों में साल-दर-साल 50% की वृद्धि हुई है और इसने पोर्टफोलियो के प्रदर्शन में काफी सुधार देखा है क्योंकि इसके लोन लेने वाले उच्च प्रतिभाशाली पोस्टग्रेजुएट्स को बिजनेस, टेक और प्रोफेशनल सेक्टरों में भर्ती में आई तेजी का लाभ मिला है

शब्दवाणी समाचार, बुधवार 16 सितम्बर  2021, नई दिल्ली। पोस्टग्रेजुएट इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को सीमा पार लोन देने वाली फिनटेक कंपनियों में पायोनियर प्रोडिजी फाइनेंस ने सीपीपी इन्वेस्टमेंट्स से एक बड़ी फंडिंग डील की है। इसके तहत वह अपने पूर्ण-स्वामित्व वाली सहायक कंपनी सीपीपीआईबी क्रेडिट इन्वेस्टमेंट्स इंक के माध्यम से योग्य स्टूडेंट्स को 500 मिलियन अमेरिकी डॉलर तक की फंडिंग करेगी। यह डील प्रोडिजी फाइनेंस को इंटरनेशनल स्टूडेंट लोन की बढ़ती मांग को पूरा करने में सक्षम बनाएगी, जो इस तथ्य में दिखती है कि कंपनी के पास आने वाले आवेदनों में साल-दर-साल 50% तक की बढ़ोतरी हुई है।

प्रोडिजी फाइनेंस ने पिछले साल अमेरिका के डेवलपमेंट बैंक, यूएस इंटरनेशनल डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन (DFC) से 250 मिलियन डॉलर हासिल किए थे। यह विकासशील दुिया के सामने आने वाली महत्वपूर्ण चुनौतियों का समाधान करने के लिए निजी क्षेत्र के साथ पार्टनरशिप करता है। इन डीएफसी फंड्स का उपयोग कम-आय और कम-मध्यम-आय वाले देशों (न्यूनतम 50%) और महिलाओं (न्यूनतम 30%) पर प्राथमिक फोकस देते हुए पोस्टग्रेजुएट छात्रों को लोन देने के लिए किया जाएगा।

फंडिंग कभी भी शिक्षा में बाधा नहीं बनना चाहिए, इस विश्वास को आधार बनाकर  प्रोडिजी फाइनेंस प्रत्येक योग्य छात्र को उनकी सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि की परवाह किए बिना यूनिवर्सिटी एजुकेशन को संभव बनाने के लिए समर्पित है। हर साल लाखों भारतीय उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाते हैं; उन्हें ट्यूशन और रहने के खर्च दोनों के लिए फंडिंग की आवश्यकता होती है। प्रोडिजी फाइनेंस मार्केटिंग और बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, इंजीनियरिंग, कानून, पब्लिक पॉलिसी और हेल्थ साइंस के क्षेत्र में दुनियाभर के 800 से अधिक स्कूलों में सिक्योरिटी, को-साइनर या गारंटर की आवश्यकता के बिना भारतीय स्टूडेंट्स को एजुकेशन लोन उपलब्ध  कर रहा है।

पारंपरिक कर्जदाताओं के विपरीत, जो आज तक जमा किए गए क्रेडिट के आधार पर निर्णय लेते हैं, प्रोडिजी फाइनेंस का यूनिक ग्लोबल क्रेडिट मॉडल फ्यूचरिस्टिक  है और कई वैरिएबल्स के आधार पर आवेदकों का मूल्यांकन करता है। लोन के लिए आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है। स्टूडेंट परिसर में पहुंचने के बाद अपने अंतिम  लोन एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करते हैं। इसकी इम्पैक्ट रिपोर्ट के अनुसार लोन लेने वालों में से 89% का कहना है कि उनके पास अपनी डिग्री की फंडिंग के लिए सीमित या कोई अन्य विकल्प नहीं था। 99.77% ने सफलतापूर्वक अपने कोर्स पूरे किए और 72% का कहना है कि उनकी पोस्टग्रेजुएट डिग्री ने उन्हें अपने सपनों के करियर को आगे बढ़ाने की अनुमति दी है। आज तक प्रोडिजी फाइनेंस ने 100 से अधिक देशों के 20,000 से अधिक योग्य छात्रों को ग्रेेजुएट एजुकेशन लोन में $1 बिलियन से अधिक की फंडिंग की है। कैपिटल मार्केट्स की प्रमुख नेहा सेठी ने कहा, "फंडिंग से जुड़ी इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को हासिल करना हर साल 25,000 से अधिक छात्रों की मदद करने के हमारे टारगेट को हासिल करने की दिशा में एक और कदम है

डेरेक जैक्सन, प्रबंध निदेशक, यूरोपीय क्रेडिट के प्रमुख, सीपीपी इन्वेस्टमेंट्स ने कहा, "प्रोडिजी फाइनेंस के लिए यह फाइनेंशियल कमिटमेंट जटिल बिजनेस  जरूरतों के लिए लचीले फंडिंग सॉल्युशन प्रदान करने की हमारी क्षमता का एक बड़ा उदाहरण है। यह सीपीपी इन्वेस्टमेंट की प्रमुख पार्टनर संगठनों के साथ हमारी धैर्यपूर्ण पूंजी के निवेश की क्रेडिट स्ट्रैटजी में अच्छी तरह से फिट बैठता है।

प्रोडिजी फाइनेंस इंडिया के कंट्री हेड मयंक शर्मा ने इस फंडिंग पर कहा, “हमें पर्याप्त निवेश के लिए फंड प्राप्त करने की खुशी है। हमें विश्वास है कि यह फंडिंग भारतीय-उपमहाद्वीप में कई योग्य छात्रों के भविष्य को बदलने में सहायक साबित होगी, जो इसके बिना कभी भी एक टॉप विदेशी यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के अपने सपनों को पूरा करने में सक्षम नहीं होते।

प्रोडिजी फाइनेंस ने हाल ही में संयुक्त राज्य अमेरिका में 12 नए कॉलेजों के साथ भागीदारी की है, जिससे इसके पाठ्यक्रम में 1000 पोस्टग्रेजुएट कोर्सेस कराने वाले कुल कॉलेजों और यूनिवर्सिटी की संख्या 800 तक पहुंच गई है। इसके साथ ही, ब्रांड ने अपने ओवरसब्सक्राइब्ड इनॉगरल एए-रेटेड सोशल बॉन्ड जारी करने के साथ ऐसा करने वाली पहली कंपनी बबने का गौरव भी हासिल किया। 2007 में अपनी स्थापना के बाद से कंपनी ने 1 बिलियन डॉलर के लोन दिए हैं और 135 देशों के 20,000 से अधिक छात्रों के लिए मार्केटिंग, फाइनेंस, ह्यूमन रिसोर्सेस, आदि के क्षेत्र में अपने शैक्षिक हितों को आगे बढ़ाने का रास्ता दिखाया है। कंपनी ने यूके, फ्रांस और चीन जैसे बाजारों में भी ऑपरेशंस फिर से शुरू कर दिए हैं।

 

Comments

Popular posts from this blog

सचखंड नानक धाम ने किसान समर्थन के लिए सिंघू बॉर्डर पर अनशन पर बैठे

अक्षय तृतीया पर रिलायंस ज्वेल्स अच्छे स्वास्थ्य, खुशी और समृद्धि की कामना करता

रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने प्रशिक्षण शिविर के लिए चयन समिति का गठन किया